Online Driving Licence: घर बैठे ऐसे बनवाए ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस, यह है पूरी प्रक्रिया

सड़क पर गाड़ी चलाने के लिए सरकार द्वारा जारी किए गए नियमों को पालन करना पड़ता है। बाईक हो या कार या फिर ट्रक इन सभी को चलाने के लिए ड्राइविंग लाइसेंस की जरूरत पड़ती है। ड्राइविंग लाइसेंस बनावाने के लिए आरटीओ आफिस जाना पड़ता है और आवेदन करना पड़ता है।

By: Shaitan Prajapat

Published: 06 Dec 2020, 04:19 PM IST

नई दिल्ली। सड़क पर गाड़ी चलाने के लिए सरकार द्वारा जारी किए गए नियमों को पालन करना पड़ता है। बाईक हो या कार या फिर ट्रक इन सभी को चलाने के लिए ड्राइविंग लाइसेंस की जरूरत पड़ती है। ड्राइविंग लाइसेंस बनावाने के लिए आरटीओ आफिस जाना पड़ता है और आवेदन करना पड़ता है। लेकिन जमाना बदल रहा है और अब आरटीओ आफिस के चक्कर लगाने की जरूरत नहीं पड़ती है। अब आप घर बैठे ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस बनवा सकते है। आज आपको बताने जा रहे है कि अब घर बैठे कैसे ड्राइविंग लाइसेंस बनवा सकते है और इसके लिए आपके क्या क्या दस्तावेज की जरूरत पड़ती है। शुरुआत में लर्निंग लाइसेंस बनाया जाता है लेकिन, 6 महीने बाद लाइसेंस को पक्का कराया जा सकता है।

जरूरी दस्तावेज
ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आवेदन करने पर आपको कई प्रकार के दस्तावेजों की जरूरत पड़ेगी। स्थाई पता के लिए आपके पास आधार कार्ड, वोटर कार्ड, बिजली बिल, टेलीफोन बिल, राशन कार्ड, सरकारी कर्मचारियों द्वारा जारी कोई आईडी कार्ड, निवास प्रमाण पत्र इत्यादि की जरूरत होगी। इसके बाद आपके आयु प्रमाण के लिए आपके पास 10वीं कक्षा का मार्कशीट, बर्थ सर्टिफिकेट, पैन कार्ड या फिर मिजिस्ट्रेट द्वारा जारी एफिडेविट की जरूरत होगी। सबसे खास बात आवेदन करने वाली उम्र सीमा कम से कम 18 साल होनी चाहिए।

ऐसे करें ऑनलाइन अप्लाई
लर्निंग लाइसेंस बनवाने के लिए राजमार्ग मंत्रालय की वेबसाइट पर जाकर आप अप्लाई कर सकते हैं। https://parivahan.gov.in/ पर जाएं, यहां राज्यों की सूची दी गई है। पहले अपना राज्य चुनें और फिर लर्नर के लिए ऑप्शन पर क्लिक करें। फॉर्म भरने के बाद एक नंबर जेनरेट होगा, जिसे सेव कर लें। इसके बाद आपको उम्र प्रमाण पत्र, एड्रेस प्रूफ, आईडी प्रूफ अटैच करना होता है। फॉर्म भरने और आईडी प्रूफ देने के बाद अपना फोटो और डिजिटल सिग्नेचर अपलोड करना होगा। फिर ड्राइविंग टेस्ट के लिए स्लॉट बुक कराना होगा। इसके बार फीस भरनी होती है।

ऑनलाइन होता है टेस्ट
फीस जमा करने के बाद स्लॉट के हिसाब से RTO ऑफिस जाकर टेस्ट देना होगा। यह टेस्ट ऑनलाइन होता है और इसमें यातायात के नियमों तथा यातायात चिह्नों के बारे में पूछा जाता है। एक प्रश्न के 4 उत्तर होते हैं। जैसे-जैसे आप सवालों के जवाब देते जाएंगे, उनके सही या गलत उत्तर के बारे में भी सूचना मिलती रहेगी और टेस्ट पूरा करते ही आपके सामने आपका रिजल्ट आ जाएगा कि आप पास हैं या फेल।

Shaitan Prajapat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned