रोग नहीं, बीमारियों का लक्षण है सिरदर्द, ऐसे पहचानें बीमारी

बार-बार होने वाला सिरदर्द कई बीमारियों का पूर्व संकेत हो सकता है।

By: सुनील शर्मा

Published: 17 Nov 2020, 06:15 PM IST

लोगों में सिरदर्द की समस्या तेजी से बढ़ रही है। विशेषज्ञों का मानना है कि हमारे देश में लोग अभी भी सिरदर्द के प्रति सावधानी नहीं बरतते और ना ही लाइफस्टाइल में कोई बदलाव करते हैं। जबकि बार-बार होने वाला सिरदर्द कई बीमारियों का पूर्व संकेत हो सकता है।

वर्क फ्रॉम होम में दें आंखों को आराम नहीं तो हो सकती हैं ये बीमारियां

आयुर्वेदिक एंटीऑक्सीडेंट दवा रोकेगी कोरोना और डायबिटीज दोनों को, रिसर्च में हुआ खुलासा

वजह
ज्यादातर लोग टेंशन हेडेक से पीड़ित होते हैं। यह मानसिक दबाव और उत्तेजना से होता है। दबाव से शरीर की मांसपेशियां सिकुड़ती हैं और एड्रेनलिन हार्मोन (ब्लड प्रेशर सामान्य रखता है) कम होने लगता है। सिकुडन से गर्दन और सिर की मांसपेशियां कड़ी होकर दर्द का कारण बनती हैं जबकि हार्मोन की कमी से शरीर में ब्लड सर्कुलेशन, ब्लड प्रेशर और हार्टबीट बढ़ जाती है। जिससे दर्द का अनुभव होने लगता है।

सर्दियों में गुड़ खाने से होते हैं ये फायदे, कई बीमारियों से भी बचाता है

जांच कराना जरूरी
कारण: साइनोसाइटिस, दांतदर्द, कमजोर नजर और सिवियर हाइपरटेंशन आदि से भी सिरदर्द हो सकता है।

सावधानी: विशेषज्ञों के मुताबिक बार-बार सिरदर्द होने पर उसकी पूरी जांच पड़ताल और इलाज करवाना चाहिए। लापरवाही बरतने पर अवसाद, हाई ब्लड प्रेशर, दिल की धडक़न बढऩे जैसी समस्याएं हो सकती हैं। जो लोग दर्द होते ही दवा खा लेते हैं, उनमें क्रॉनिक हेडेक (लंबे समय तक) की समस्या ज्यादा होती है।

सुनील शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned