लोग जिसे समझ रहे थे बारात उसकी हकीकत कुछ और ही निकली और फिर...

  • गाजे-बाजे के साथ बारात लेकर पहुंचा प्रत्याशी
  • नामांकन की प्रक्रिया पूरी करने जा रहा था
  • लोग समझ रहे थे दूल्हा

By: Vineet Singh

Published: 10 Apr 2019, 11:22 AM IST

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव 2019 से पूर्व प्रत्याशी अपना नामांकन भरने में व्यस्त हैं और ज्यादातर प्रत्याशी बड़ी ही सादगी के साथ नामांकन भरने जाते हैं और वापस आ जाते हैं। लेकिन कुछ प्रत्याशी ऐसे भी हैं जो पूरे गाजे-बाजे के साथ नामांकन भरने जाते हैं और रास्ते में आतिशबाज़ी करते हैं और गाने भी बजाते हैं। बीते दिनों एक ऐसा ही चौंकाने वाला मामला देखने को मिला है जिसके बारे में जानकर आप भी हैरान रह जाएंगे।

दरअसल यह मामला उत्तरप्रदेश ( Uttar Pradesh ) के शाहजहांपुर ( Shahjahanpur ) का है जहां पर संयुक्त विकास रैली के प्रत्याशी वैधराज किशन दूल्हे के कपड़े पहनकर घोड़ी पर सवार होकर नामांकन भरने पहुंचे थे। इस दौरान किशन के साथ बैंड-बाजे वाले भी चल रहे थे और आलम ये था कि जो लोग किशन को नहीं जानते थे उन्हें लग रहा था कि बारात निकल रही है लेकिन इस बारात की हकीकत कुछ और ही थी।

चोरी के इरादे से दुकान में घुसा चोर, उसके बाद जो हुआ वो है बेहद हैरान करने वाला, देखें वीडियो

आपको बता दें कि ज्यादा शोर-शराबे की वजह से पुलिसवालों ने कलेक्ट्रेट से पहले ही किशन को घोड़ी से उतार दिया और बैंड-बाजे वालों को भी रोक दिया फिर वो पैदल चलकर ही नामांकन भरने आए। जब किशन से सवाल किया गया कि वो बारात लेकर नामांकन भरने क्यों आए हैं तो उन्होंने जवाब दिया कि, 'वो राजनीति के दामाद हैं और आज उनकी शादी की सालगिरह इसलिए वह दुल्हा बनकर नामांकन भरने आए हैं।

आपको बता दें कि किशन पेशे से आयुर्वेदिक डॉक्टर ( ayurvedik doctor ) हैं। जब इनकी राजनीति वाली बरात सड़क से गुज़र रही थी तब लोगों को बेहद ही हैरानी हो रही थी क्योंकि वो किसी दूल्हे की तरह से ही तैयार हुए थे और उनके समर्थक नाचते-गाते हुए चल रहे थे।

इस देश में टला बड़ा विमान हादसा पायलट की सूझबूझ से बची सभी यात्रियों की जान, वीडियो में देखें क्या था पूरा मामला

Vineet Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned