scriptसामाजिक, धार्मिक सेवा कार्य में अग्रणी, पांच साल से लगातार हो रहे चातुर्मास, दो दशक से चल रहा पुस्तकालय | Patrika News
हुबली

सामाजिक, धार्मिक सेवा कार्य में अग्रणी, पांच साल से लगातार हो रहे चातुर्मास, दो दशक से चल रहा पुस्तकालय

श्री वर्धमान स्थानकवासी जैन श्रावक संघ गदग धार्मिक, सामाजिक सेवा कार्य में अग्रणी है। वैसे तो संघ की मेजबानी में समय-समय पर चातुर्मास होते रहते हैं लेकिन पिछले पांच वर्ष से नियमित रूप से चातुर्मास का आयोजन किया जा रहा है। चातुर्मास के अलावा अन्य अवसरों पर भी साधु-साध्वियों का प्रवास रहता है। 2015 एवं 2020 में उप प्रवर्तक नरेश मुनि का चातुर्मास गदग में हो चुका है। भगवान महावीर स्वामी जन्म कल्याणक महोत्सव यहां सामूहिक रूप से मनाया जाता है। हर साल पुष्कर जयंती भी मनाई जाती है। इस मौके पर जरूरतमन्द लोगों को भोजन करवाया जाता है। कपड़े वितरित किए जाते हैं। गौशाला में सेवा कार्य भी नियमित रूप से किए जा रहे हैं।

हुबलीJun 23, 2024 / 02:45 pm

ASHOK SINGH RAJPUROHIT

श्री वर्धमान स्थानकवासी जैन श्रावक संघ गदग

श्री वर्धमान स्थानकवासी जैन श्रावक संघ गदग

पुस्तकालय में दो हजार से अधिक पुस्तकें
स्थानक भवन परिसर में ही पुस्तकालय बना हुआ है। पुस्तकालय करीब बीस साल पहले बनाया गया था। वर्तमान में पुस्तकालय में करीब दो हजार से अधिक पुस्तकें हैं। चंदनमल बागमार के नाम पर पुस्तकालय का नाम रखा गया है। अधिकांश पुस्तकें धार्मिक है। हर साल कुछ नई पुस्तकों की खरीद भी की जाती है। कई बार लोग पुस्तकें दान भी कर देते हैं। कोई भी पुस्तकालय से पुस्तक ले जा सकते हैं और पढऩे के बाद वापस जमा करा सकते है। यहां कई बड़े-बड़े ग्रन्थ भी रखे है। साधु-साध्वियों के लिए भी यह पुस्तकें व ग्रन्थ उपयोगी साबित हो रहे है। मौजूदा दौर में पठन-पाठन के प्रति लोगों की रूचि कम होती जा रही है। ऐसे में इस तरह के पुस्तकालय जरूर लोगों में पुस्तक पढऩे के प्रति रूचि जागृत करने में मददगार बन सकते हैं। आने वाले समय में पुस्तकालय को और अधिक उपयोगी बनाने के लिए काम किया जाएगा।
आपस में साथ मनाते हैं पर्व-त्यौहार
श्री वर्धमान स्थानकवासी जैन श्रावक संघ गदग के अध्यक्ष रूपचन्द पालरेचा समदड़ी ने बताया कि गदग में वर्तमान में स्थानकवासी समाज के 28 परिवार निवास कर रहे हैं। इसमें सर्वाधिक 12 परिवार समदड़ी, लूणसरा के छह परिवार, कनाना के पांच परिवार के साथ ही मोकलसर, बाड़मेर आदि स्थानों से है। तीन मंजिला स्थानक भवन बना हुआ है। इसमें छह कमरे, रसोई एवं हॉल निर्मित है। समाज के लोग हिल-मिलकर रह रहे हैं। पर्व-त्योहार आपस में साथ मनाते हैं।
समय-समय पर सेवा के कार्य
श्री वर्धमान स्थानकवासी जैन श्रावक संघ गदग के कार्याध्यक्ष विजयराज बागमार लूणसरा ने बताया कि धार्मिक कार्य में संघ सदैव आगे रहता है। संघ के सदस्यों में सेवा भावना अधिक है। समय-समय पर सेवा कार्य संघ की ओर से किए जा रहे हैं। ऐसे सेवा कार्य में सभी अधिक रूचि से भाग लेते हैं।
संघ के पदाधिकारी
श्री वर्धमान स्थानकवासी जैन श्रावक संघ गदग के अध्यक्ष रूपचन्द पालरेचा समदड़ी एवं कार्याध्यक्ष विजयराज बागमार लूणसरा है। इसके साथ ही अन्य पदाधिकारियों में दीपचन्द तातेड़ कनाना एवं किशनलाल बागमार लूणसरा व दिनेशकुमार पालरेचा समदड़ी उपाध्यक्ष, पृथ्वीराज भंडारी पाली कोषाध्यक्ष, महावीर कुमार लूंकड़ मोकलसर सह कोषाध्यक्ष, नरेश कुमार पालरेचा समदड़ी मंत्री, श्रवण कुमार बागमार लूणसरा सह मंत्री के पद पर कार्यरत है। इसके अलावा भवन प्रबंधक समिति में सुरेश कुमार तातेड़ कनाना संयोजक तथा नलीन कुमार बागमार लूणसरा, विकास कुमार पालरेचा समदड़ी एवं वर्धमान कुमार पालरेचा सह संयोजक के पद पर सेवाएं दे रहे हैं। सूचना प्रचार समिति में मूलचन्द संकलेचा कनाना संयोजक तथा लाभचन्द लूंकड़ समदड़ी, राजेन्द्र कुमार पालरेचा समदड़ी, अजय कुमार व बाबूलाल बाफना मोकलसर सह संयोजक है।

Hindi News/ Hubli / सामाजिक, धार्मिक सेवा कार्य में अग्रणी, पांच साल से लगातार हो रहे चातुर्मास, दो दशक से चल रहा पुस्तकालय

ट्रेंडिंग वीडियो