बैंक कैशियर को लगी ऑनलाइन जुए की ऐसी लत, ग्राहकों के करोड़ों रुपए उड़ाए, यूं आया पकड़ में

Online Gambling: जुए की लत इंसान से कुछ भी करवा सकती है ऐसा हम सभी ने कभी ना कभी सुना है (PNB Bank Cashier Lost Customers Crores Rupees In Krishna District Andhra Pradesh) (Andhra Pradesh News) (Bank Cashier Job)...

 

By: Prateek

Published: 04 Jun 2020, 05:14 PM IST

हैदराबाद: जुए की लत इंसान से कुछ भी करवा सकती है ऐसा हम सभी ने कभी ना कभी सुना है। कईं ऐसे लोग हमने देखे भी होंगे जिन्होंने जुए के चक्कर में अपना सबकुछ बर्बाद कर दिया। लेकिन आंध्र प्रदेश से एक ऐसा मामला सामने आया है जिसने सबको चौंका दिया है। हैरान करने वाले इस मामले में बैंक में काम करने वाले एक कैशियर ने बैंक की बड़ी राशि को ही जुए में लुटा दिया।

यह भी पढ़ें: TIK TOK को लेकर कोर्ट ने कहा- 'अश्लील कल्चर बढ रहा, ऐप पर लगे लगाम', जानिए क्या है पूरा मामला

मिली जानकारी के अनुसार कृष्णा जिले में एक राष्ट्रीयकृत बैंक में कार्यरत कैशियर को पुलिस ने धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार किया है। गुंद्रा रवि तेजा नामक आरोपी 2017 से कृष्णा जिले में पंजाब नेशनल बैंक की नुज्विद नगर शाखा में बतौर कैशियर काम कर रहा है। इस दौरान वह किसी तरह ऑनलाइन जुए का आदी हो गया। वह भारी मात्रा में पैसे खोने लगा। जब कर्ज बढ़ने लगा, तो उसने कथित तौर पर अपनी जुए की लत को पूरा करने के लिए अपने ही खाते में बैंक फंड ट्रांसफर करना शुरू कर दिया।


यह भी पढ़ें: देवभूमि के किसान का कमाल, उगाया दुनिया का सबसे लंबा धनिये का पौधा, गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में नाम दर्ज

बैंक के विजयवाड़ा सर्कल के मुख्य प्रबंधक ने बुधवार को शाखा की ऑडिट के दौरान पाया कि नकदी कम है। आगे जांच की सुई तेजा की ओर घूम गई। बाद में पता चला कि तेजा द्वारा कुल राशि 1,56,56,897 रुपए ऑनलाइन जुए की वेबसाइट पर ट्रांसफर की गई है। पुलिस ने मुख्य बैंक प्रबंधक की शिकायत के आधार पर गुंद्रा रवि तेजा को गिरफ्तार कर लिया। आगे की जांच जारी है।

यह भी पढ़ें: गर्भवती हथिनी के हत्यारों की सूचना देने वालों को मिलेगा 1 लाख रुपए, WhatsApp नंबर हुआ जारी

आंध्र प्रदेश की ताजा ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

Show More
Prateek Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned