scriptCopper-brass, bronze and steel utensils are healthy for the body | धनतेरस: शरीर के लिए सेहतमंद हैं तांबा-पीतल, कांसे और स्टील के बर्तन, लीवर को करते हैं दुरस्त | Patrika News

धनतेरस: शरीर के लिए सेहतमंद हैं तांबा-पीतल, कांसे और स्टील के बर्तन, लीवर को करते हैं दुरस्त

तांबा, पीतल और कांसा वैज्ञानिक तौर पर स्वास्थ्यवर्द्धक होते हैं

इंदौर

Published: November 02, 2021 01:28:57 pm

इंदौर। धनतेरस पर बर्तन खरीदने की परंपरा में भी स्वास्थ्य का ध्यान रखा जा रहा है। बर्तन बाजार सज गया है, लेकिन ऐसे बर्तनों की मांग है, जो स्वास्थ्य के लिए हितकर हो। क्राकरी और नान स्टिक बर्तनों के बजाय तांबा, पीतल, कांसे और स्टील की नई वैराटियां आकर्षण का केंद्र हैं। डायनिंग टेबल पर क्राकरी की जगह तांबा, पीतल, कांसे के बर्तन ले रहे हैं। कोरोना के बाद 125 साल पुराने बर्तन बाजार में त्योहारी रौनक है इंदौर बर्तन निर्माता-विक्रेता संघ के अध्यक्ष सुरेन्द्र मेहता ने बताया कि तांबा, पीतल और कांसा वैज्ञानिक तौर पर स्वास्थ्यवर्द्धक होते हैं इनकी अपनी खूबियां हैं। बदल दौर में नान स्टीक और क्राकरी जगह बनाई, लेकिन इनका चलन कम होने लगा है।

gettyimages-496400802-594x594.jpg
Utensil

पीतल-तांबा और कांसे के डिनर सेट

डायनिंग टेबल के लिए 58 बर्तनों वाला पीतल का डायनिंग सेट मिल रहा है। इसमें चम्मच से लेकर थाली, कटोरी और धामे तक हैं। इनकी कीमत 25 से 30 हजार रुपए है। कांसे का थाली सेट 5 हजार से शुरू हो रहा है। तांबे का डायनिंग सेट 18 से 25 हजार का है। तीनों धातुओं के डायनिंग सेट के साथ बर्तन भी लोग पसंद कर रहे हैं।

स्टील के तीन लेयर वाले ट्रीप लाय नॉन स्टिक बर्तन

नॉन स्टिक बर्तनों में कोटिंग निकलने का डर होता है। ऐसे में स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव हो सकता है। इस बार स्टील के नॉन स्टिक बर्तन बाजार में आए हैं। इन्हें ट्रीप लाय कहा जाता है। स्टील की तीन चादरे से बर्तन बनते हैं। इसमे खाना बनाते वक्त चिपकता नहीं है।

120 साल पुराना बाजार, तीन मंजिला बर्तनों की सजावट

शहर के 120 साल पुराने बर्तन बाजार को मॉल और ऑनलाइन शॉपिंग भी मात नहीं दे पा रहे हैं, क्योंकि बर्तनों की हजारों वैरायटी आती है जिसकी गिनती करना भी मुश्किल है। शहर में अकेले बर्तन बाजार में ही सभी वैराटियां मिलती है। बाजार में 125 और पूरे शहर मे 300 दुकानें हैं। आज भी बर्तनों की 70 प्रतिशत खरीदी इन्हीं दुकानों से होती है। दीपपर्व पर 4 करोड़ का व्यापार होने का अनुमान है।

पीतल, तांबा और कांसे के बर्तनों का फायदा

शासकीय आष्टांग आयुर्वेदिक कॉलेज के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. अखिलेश भार्गव ने बताया, आयुर्वेद में धातुओं बहुत महत्व है। तांबा, पीतल, कांसे के बर्तन उपयोगी होने के साथ स्वास्थ्यवर्धक हैं। ब्लड सेल्स को बढ़ाने, लीवर स्वस्थ्य रखने और नुकसानदायक तत्वों को नष्ट करने के गुण होते हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Video Weather News: कल से प्रदेश में पूरी तरह से सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, होगी बारिशVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!पाकिस्तान से राजस्थान में हो रहा गंदा धंधाइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजहार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां

बड़ी खबरें

पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी ने जारी की पहली लिस्ट, 34 उम्मीदवारों को दिया टिकटराष्ट्रीय युद्ध स्मारक में विलय की गई अमर जवान ज्योति की लौ; देखें VIDEO'हिजाब' पर कर्नाटक के शिक्षा मंत्री के बयान पर बवाल! जानिए क्या है पूरा मामलादिल्ली उपराज्यपाल ने आप सरकार के प्रस्ताव को किया खारिज, वीकेंड कर्फ्यू हाटने और प्रतिबंधों में ढील से इनकारMizoram Earthquake: मिजोरम में महसूस किए गए भूकंप के झटके, रिक्टर पैमाने पर रही 5.6 तीव्रताBJP की दूसरी लिस्ट जारी: 85 प्रत्याशियों में 15 महिलाएं, अदिति सिंह रायबरेली, रामवीर उपाध्याय को सादाबाद से टिकट, IPS असीम को मिला कन्नौजकोरोना की रफ्तार से ऑफलाइन हो सकती है 12वीं-10वीं की बोर्ड परीक्षा! CGBSE ने की ये तैयारीBHU के रजत जयंती से जुड़ी गांधी की स्मृतियों को NSUI ने किया याद
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.