विडम्बना: बेटे की चाहत में तीसरी संतान पैदा कर रहे दंपती

सोनोग्राफी केंद्रो की निगरानी से हुआ खुलासा

By: Hitendra Sharma

Published: 11 Sep 2021, 08:31 AM IST

इंदौर. बेटे की चाहत में तीसरी संतान को जन्म देने में आज भी दंपती पीछे नहीं हैं। यह खुलासा हुआ है प्रशासन द्वारा पीसीपीएनडीटी एक्ट के तहत शहर के सोनोग्राफी सेंटर्स पर गर्भवतियों से भरवाए जा रहे एफ-फॉर्म जनवरी से लेकर अब तंक 8 महीने में की गई सोनोग्राफी में 13 हजार 700 दंपती ऐसे मिले, जिनके परिवार में दो या ज्यादा बेटियां हैं।

इसके बाद भी तीसरी संतान के लिए गर्भ धारण किया। इसी तरह 4 हजार दंपती ऐसे हैं, जिनके परिवार में 2 या ज्यादा बेटे हैं। यह संख्या शहर में गर्भधारण करने और बच्चे को जन्म देने वाले दंपतियों की संख्या का लगभग 12-15% है। विशेषज्ञों का कहना है, इस विश्लेषण से शहर में भ्रूण परीक्षण के मामलों पर भी निगरानी हो रही है। सरकार ने लिंगानुपात को बढ़ाने के लिए भूण परीक्षण पर निगरानी के लिए कानून बनाया है। इसके तहत शहर के सोनोग्राफी सेंटर्स की ऑनलाइन ट्रैकिंग की जा रही है।

Must See: जूडा हड़ताल का तीसरा दिन: अस्पतालों में बिगड़े हालात

एक्ट के तहत गठित समिति में अब तक के आंकड़ों का विश्लेषण बहुत ही चौंकाने वाला है। समिति के सदस्य डॉ. मुकेश सिन्हा का कहना है कि शहर में गर्भवती महिलाओं की सोनोग्राफी के लिए एफ फॉर्म अनिवार्य है। इसमें एक कॉलम में संतान की संख्या की जानकारी भी ली जा रही है। देखने में आया है, दो संतानों के बाद भी महिलाएं गर्भधारण कर रही हैं।

Must See: प्रदेश में पहली बार सरकारी अस्पताल में पहला किडनी ट्रांसप्लांट

समिति इन पर और इनके सोनोग्राफी सेंटर्स पर पूरी नजर रख रही है, क्योंकि इनमें ऐसी ज्यादा हैं, जिनकी दो बेटियां हैं। तीसरा गर्भधारण पुत्र की चाहत में किया जाता है, इसलिए इन मामलों पर विशेष निगरानी रखी जाती है, क्योंकि इन्ही में भ्रूण परीक्षण की आशंका भी ज्यादा रहती है। इस साल अब तक 1.89 लाख फॉर्म मिले, समिति की एक सदस्य के अनुसार शहर में हर साल एफ-फॉर्म की जानकारी के अनुसार 80-90 हजार महिलाएं गर्भवती होती हैं।

Must See: मंत्रालय के अफसरों को कब्ज का इलाज और मानसिक काउंसलिंग की जरूर

इस साल अब तंक 1.89 लाख फॉर्म मिले हैं। बीते दो-तीन साल से देखने में आ रहा है कि दो बेटियां होने के बाद भी महिलाएं गर्भधारण करती हैं, इसे निरंतर रखती हैं। 30 साल से ऊपर की संख्या भी बढ़ी है 8 महीने में 189 लाख फॉर्म आए हैं। इनमें 30-35 वर्ष वालों की संख्या 34 हजार के आसपास है।

एफ फार्म के अनुसार

पहला बच्चा 103245
दूसरा बच्चा 29732
सिर्फ एक बेटी 32913
दो या ज्यादा बेटी 13700
2 या ज्यादा बेटे 4000
Hitendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned