scriptराजस्थान-मध्यप्रदेश की पुलिस को छकाने वाली छात्रा पकड़ाई, पिता से मांगी थी 30 लाख की फिरौती | kota neet girl kidnapping case finally indore crime branch arrest Shivpuri student and his friend | Patrika News

राजस्थान-मध्यप्रदेश की पुलिस को छकाने वाली छात्रा पकड़ाई, पिता से मांगी थी 30 लाख की फिरौती

locationइंदौरPublished: Apr 02, 2024 10:09:56 pm

Submitted by:

Shailendra Sharma

कोटा में NEET की तैयारी करने के नाम पर माता-पिता की आंखों में धूल झोंक रही थी छात्रा, विदेश में पढ़ाई करने के लिए रची थी खुद के झूठे अपहरण की सनसनीखेज कहानी..

kidnapping_case.jpg
,,

NEET girl kidnapping case KOTA : राजस्थान और मध्यप्रदेश की पुलिस को छकाने वाली शिवपुरी की छात्रा आखिरकार पकड़ी गई है। इंदौर क्राइम ब्रांच की टीम ने मंगलवार को युवती को पकड़ा है। बता दें कि पकड़ी गई छात्रा ने अपने दोस्त के साथ मिलकर खुद के अपहरण की सनसनीखेज झूठी कहानी रची थी और खुद ही अपने हाथ पैर बंधवाकर पापा को फोटो भेजकर 30 लाख रुपए की फिरौती मांग की थी।

खुद रची थी अपहरण की झूठी साजिश


18 मार्च को शिवपुरी में रहने वाले निजी स्कूल संचालक के फोन पर कुछ फोटोज अंजान नंबर से भेजे गए थे। इन फोटोज में उनकी बेटी जो कि राजस्थान के कोटा में NEET की तैयारी कर रही थी वो हाथ पैर बंधे हुए दिख रही थी । इतना ही नहीं फोटो भेजने वाले ने बेटी के बदले 30 लाख रूपए की फिरौती मांगी थी। इस मामले से सनसनी फैल गई थी। पिता ने शिवपुरी पुलिस के साथ ही राजस्थान के कोटा पहुंचकर शिकायत दर्ज कराई थी। जिसके बाद से पुलिस लगातार मामले की जांच में जुटी हुई थी।
scindia.jpg

 

सिंधिया ने की थी सीएम भजनलाल से बात


छात्रा की किडनैपिंग का मामला सामने आते ही केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी इस पर संज्ञान लिया था। तब सिंधिया ने खुद फोन कर राजस्थान के सीएम भजनलाल शर्मा से बात कर छात्रा को सुरक्षित घऱ वापस लाने की बात कही थी। इतना ही नहीं सिंधिया ने छात्रा के पिता से भी फोन पर बात कर उन्हें भरोसा दिलाया था। इसके बाद राजस्थान पुलिस ने ईनाम भी घोषित किया था।
kota_kidnapping_case.jpg

 

20 मार्च को झूठी निकली किडनैपिंग की कहानी


राजस्थान की कोटा पुलिस ने 20 मार्च को छात्रा की किडनैपिंग की मामले में खुलासा करते हुए सभी को चौंका दिया था। पुलिस ने खुलासा किया था कि किडनैपिंग की कहानी झूठी है और छात्रा ने खुद ही अपने दोस्त के साथ मिलकर इसे रचा है। कोटा पुलिस ने बताया था कि छात्रा के अपहरण का जो वीडियो और फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हुए थे, वे भी उसके दोस्त के इंदौर स्थित घर के हैं। छात्रा कोटा में किसी भी कोचिंग में अध्ययनरत नहीं थी। कोटा बल्कि कोटा में NEET की तैयारी करने का कहकर माता-पिता की आंखों में धूल झोंक रही थी। अपहरण की झूठी साजिश रचने के पीछे की वजह विदेश में पढ़ाई करने के लिए पैसों की जरूरत सामने आया था।

छात्रा इंदौर में थी दोस्त के साथ


20 मार्च को मामले का खुलासा करने के बाद से ही मध्यप्रदेश व राजस्थान पुलिस छात्रा की तलाश में जुटी हुई थी। उसकी झूठी कहानी का पर्दाफाश हो चुका था लेकिन छात्रा व उसका दोस्त पुलिस के हाथ नहीं आ रहे थे। इंदौर में दोस्त के साथ छात्रा के होने का इनपुट मिलने के बाद से इंदौर में लगातार उनकी तलाश की जा रही थी जो अब जाकर खत्म हुई है और इंदौर क्राइम ब्रांच की टीम ने छात्रा को पकड़ा है। छात्रा के साथ उसका दोस्त भी पुलिस के हत्थे चढ़ा है।

ट्रेंडिंग वीडियो