scriptMP Election 2023: निगरानी की नहीं मिली अनुमति, नाराज कांग्रेस प्रत्याशी शुक्ला की शिकायत के बाद नप गए रिटर्निंग ऑफिसर | surveillance outside the strong room in indore after voting mp election 2023 | Patrika News

MP Election 2023: निगरानी की नहीं मिली अनुमति, नाराज कांग्रेस प्रत्याशी शुक्ला की शिकायत के बाद नप गए रिटर्निंग ऑफिसर

locationइंदौरPublished: Nov 22, 2023 07:08:12 am

Submitted by:

Sanjana Kumar

शिकायत मिलते ही कलेक्टर सख्त, रिटर्निंग ऑफिसर ने तबाड़तोड़ जारी की अनुमति

surveillance_outside_the_strong_room_after_election_in_indore_mp.jpg

कांग्रेस प्रत्याशी संजय शुक्ला ने स्ट्रांग रूम के बाहर निगरानी के लिए प्रतिनिधियों की नियुक्ति का आवेदन किया था, लेकिन तीन दिन बाद भी अनुमति नहीं मिली। उस पर नाराजगी जाहिर करते हुए शुक्ला ने शिकायत दर्ज कराई, जिस पर कलेक्टर ने रिटर्निंग ऑफिसर पर सख्ती दिखाई। असर ये हुआ कि कुछ ही देर में अनुमति जारी हो गई।

इंदौर एक के चुनाव पर प्रदेश तो ठीक राष्ट्रीय स्तर के नेताओं की निगाह है। कांग्रेस प्रत्याशी संजय शुक्ला काे आशंका है कि भाजपा प्रत्याशी कैलाश विजयवर्गीय के प्रभाव में कोई गड़बड़ी ना हो जाए। इसलिए वे स्ट्रांग रूम के बाहर अपने प्रतिनिधियों को निगरानी के लिए नियुक्ति करना चाहते हैं। 18 नवंबर को उनके विधि सलाहकार और अभिभाषक सौरभ मिश्रा ने शुक्ला के हवाले से अनुमति मांगी। मंगलवार को दोपहर तक अनुमति नहीं मिली तो उन्होंने इंदौर 1 के रिटर्निंग अधिकारी ओम नारायण बड़कुल से बात की, जिसके बाद उन्होंने शुक्ला को घटनाक्रम की जानकारी दी।
इस पर शुक्ला ने ट्वीट कर कहा कि मेरे विरुद्ध प्रशासन का यह तानाशाही और असहयोगात्मक रवैये की मैं निंदा करता हूं। उन्होंने कलेक्टर व जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ. इलैयाराजा टी को फोन लगाकर शिकायत दर्ज कराई। शुक्ला का कहना था कि सारी दस्तावेजी खानापूर्ति करने के बाद आवेदन किया, उसे अनुमति क्यों नहीं दी जा रही है? कलेक्टर का कहना था कि हम तो सभी को अनुमति दे रहे हैं, किसी की रोकी नहीं जा रही है। मैं अभी दिखवाता हूं। वे तुरंत एसडीएम बड़कुल के यहां पहुंचे और उन्हें तुरंत अनुमति जारी करने के निर्देश दिए। कुछ ही देर में बड़कुल ने अनुमति जारी कर शुक्ला को सूचना दे दी।
सबसे ज्यादा हुए विवाद

इंदौर एक में सबसे ज्यादा शिकायत और विवाद हुए। उसकी शुरुआत गिफ्ट बांटने से हुई थी, जिसमें दोनों ने एक-दूसरे पर आरोप लगाए। उसके बाद लगातार कार्यकर्ताओं के बीच में झड़पें होती रहीं। मतदान के दिन तो शुक्ला ने देपालपुर के नेता चिंटू वर्मा को साथ में लेकर घूमने पर आपत्ति दर्ज कराई। इस पर कैलाश ने कहा, जाओ अपना काम करो।
कोट

तीन दिन पहले हमने अनुमति मांगी थी, लेकिन मंगलवार शाम तक जारी नहीं की गई। इस पर मैंने आपत्ति ली और कलेक्टर से लेकर चुनाव आयोग तक शिकायत की। बाद में अनुमति जारी की गई।
– संजय शुक्ला, विधायक व कांग्रेस प्रत्याशी

आवेदन आया था। विधिवत जांच की गई, जिसके बाद अनुमति जारी की गई।

– ओम नारायण बड़कूल, रिटर्निंग ऑफिसर इंदौर एक

loksabha entry point

ट्रेंडिंग वीडियो