vardhman blast : भारत-बांग्लादेश में ‘दहशत’ फैलाने के लिए ट्रेनिंग देता था जमात-उल-मुजाहिदीन का आतंकी, गिरफ्तार

vardhman blast : भारत-बांग्लादेश में ‘दहशत’ फैलाने के लिए ट्रेनिंग देता था जमात-उल-मुजाहिदीन का आतंकी, गिरफ्तार

Hussain Ali | Updated: 14 Aug 2019, 12:42:27 PM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

-प. बंगाल के वर्धमान में 4 साल पहले बम बनाते समय हुआ था विस्फोट
-भारत-बांग्लादेश में आतंक फैलाने के लिए युवाओं को कर रहा था तैयार

इंदौर. बांग्लादेश के प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन जमात-उल-मुजाहिदीन के लीडर जहिरुल शेख निवासी नादिया पश्चिम बंगाल को एनआईए की टीम ने कोहिनूर कॉलोनी, आजाद नगर से गिरफ्तार किया। वह चार साल पहले बंगाल के वर्धमान में हुए विस्फोट में आरोपी था। बम बनाते समय विस्फोट में 2-3 लोग मर गए थे। जहिरुल भी घायल होने के बावजूद फरार हो गया था। वह भारत-बांग्लादेश में आतंक फैलाने के लिए युवाओं को ट्रेनिंग देता था।

must read : बंगाल की खाड़ी से आगे बढ़ा नया सिस्टम, पिछली बार इसने मचाई थी तबाही, तेज बारिश शुरू

अक्टूबर 2014 को पश्चिम बंगाल के वर्धमान के एक भवन में जोरदार विस्फोट में 2-3 लोगों की मौत हुई थी और कुछ घायल हुए थे। पुलिस व अन्य जांच एजेंसियों को पड़ताल में पता चला, कुछ लोग बम बना रहे थे, तभी विस्फोट हुआ। बम बनाने के पीछे जमात-उल-मुजाहिदीन के लोगों का नाम सामने आया था। कुछ समय पहले भारत सरकार ने बांग्लादेश के इस संगठन को प्रतिबंधित आतंकी संगठन माना है, जो युवाओं को आतंक के रास्ते ले जाने के लिए धार्मिक स्थलों का भी इस्तेमाल करता था। इस मामले में एनआईए (नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी) ने जांच शुरू की तो पता चला, घटनास्थल जमात-उल-मुजाहिदीन के लोगों का अड्डा था, जहां युवाओं को आतंक की ट्रेनिंग दी जाती थी।

must read : कॉमनवेल्थ गेम्स के लिए खिलाड़ी ने पत्नी के गहने गिरवी रख जुटाए दो लाख, चोरों ने खाक कर दी GOLD की उम्मीदें

भारत-बांग्लादेश में आतंकी गतिविधियों के संचालन के लिए बम बनाने का काम चल रहा था। एनआईए ने 33 लोगों पर केस दर्ज कर कुछ को गिरफ्तार किया था। नादिया का जहिरुल शेख भी इसमें नामजद था। सूचना मिली थी कि विस्फोट में वह घायल हुआ, लेकिन फरार हो गया। जहिरुल को संगठन का लीडर बताया गया है। 2015 में एनआईए ने चार्जशीट कोर्ट में दाखिल की, जिस पर वारंट जारी हुआ था।

indore

11 अगस्त की रात में आई एनआईए की टीम

एनआईए को हाल ही में जहिरुल के इंदौर में होने की सूचना मिली। 11 अगस्त की रात कोलकाता से एनआईए की टीम इंदौर आई और एसएसपी रुचिवर्धन मिश्र से मिलकर आरोपी की जानकारी दी। एसएसपी के निर्देश पर क्राइम ब्रांच की टीम ने एनआईए की मदद की और रात में कोहिनूर कॉलोनी के एक मकान से जहिरुल को पकड़ लिया। यहां थाने में रखने के बाद 12 अगस्त को एनआईए ने उसे स्थानीय न्यायालय में पेश कर ट्रांजिट रिमांड प्राप्त कर ले गई।

युवाओं को दे रहे थे विस्फोट की ट्रेनिंग

एनआईए ने आरोपी की गिरफ्तारी की पुष्टि करते हुए बताया, जहिरुल शेख जमात-उल-मुजाहिदीन बांग्लादेश के नादिया मॉड्यूल का सीनियर लीडर है। यह ग्रुप भारत-बांग्लादेश में आतंकी हमले, गृहयुद्ध की स्थिति निर्मित करने के लिए युवाओं को ट्रेनिंग दे रहा था। छानबीन में एलईडी, हथगोले व अन्य विस्फोटक बरामद हुआ था। बताया जा रहा है, जहिरुल ग्रुप के कई आतंकी ट्रेनिंग कैंप में शामिल रहा। एसएसपी ने आरोपी की गिरफ्तारी की पुष्टि की है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned