भारती एयरटेल को तीसरी तिमाही में 1035 करोड़ रुपए का घाटा, टैरिफ बढ़ने के संकेत

  • कंपनी की आय 8.5 फीसदी बढ़कर 21,947 करोड़ रुपए रही
  • कंपनी राजस्व एक साल पहले के मुकाबले सात फीसदी बढ़ा

नई दिल्ली। टेलीकॉम कंपनी भारती एयरटेल को चालू वित्तवर्ष की तीसरी तिमाही (अक्टूबर से दिसंबर) में 1,035 करोड़ रुपए का एकीकृत शुद्ध घाटा हुआ है। हालांकि, इससे पूर्व वित्त वर्ष 2018-19 की इसी तिमाही में कंपनी को 86 करोड़ रुपए का लाभ हुआ था। कंपनी ने टैरिफ प्लान में और बढ़ोतरी करने का संकेत दिया है, क्योंकि कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी गोपाल विट्टल ने उद्योग को उभरती प्रौद्योगिकियों में निवेश करने में सक्षम बनाने के लिए टैरिफ को और बढ़ाना देने की बात कही है।

यह भी पढ़ेंः- 88 साल के बाद 'महाराजा' की हो सकेगी अपने पुराने घर वापसी

आय में इजाफा
इस दौरान हालांकि कंपनी की आय में वृद्धि हुई है। दिसंबर 2019 को खत्म तिमाही में कंपनी की आय 8.5 फीसदी बढ़कर 21,947 करोड़ रुपए रही, जो एक साल पहले इसी तिमाही में 20,231 करोड़ रुपए थी। भारती एयरटेल के शेयर बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) पर 8.80 रुपए या 1.72 फीसदी की बढ़त के साथ 519.1 रुपए पर बंद हुए।

यह भी पढ़ेंः- बड़ी कंपनियों के तिमाही नतीजों ने कराई बाजार की वापसी, सेंसेक्स में साढ़े तीन महीने की सबसे बड़ी तेजी

राजस्व में भी इजाफा
समीक्षाधीन अवधि में भारती एयरटेल इंडिया का राजस्व एक साल पहले की तीसरी तिमाही के मुकाबले सात फीसदी बढ़कर 15,797 करोड़ रुपए हो गया। इससे पहले वर्ष की दूसरी तिमाही में कंपनी ने अब तक का सबसे बड़ा 23,045 करोड़ रुपये का घाटा दर्ज किया था। कंपनी की ओर से 28,450 करोड़ रुपए सुप्रीम कोर्ट के फैसले के तहत सांविधिक बकाया के लिए रखे जाने से यह घाटा हुआ।

Bharti Airtel Bharti Airtel income Bharti Airtel revenue
Show More
Saurabh Sharma Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned