Boycott Chinese Products: CAIT का बड़ा ऐलान, भारत से बाहर होंगे 3000 Chinese Goods!

  • Pm Narendra Modi के अभियान को प्रोत्साहित करेगा Cait का फैसला
  • Chinese Goods के भारत द्वारा आयात में 1.5 लाख करोड़ रुपए कम करने का उद्देश्य

By: Saurabh Sharma

Updated: 08 Jun 2020, 01:42 PM IST

नई दिल्ली। चीन के सामान ( Chinese Goods ) का बहिष्कार करने को लेकर कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स ( Confederation of All India Traders ) की आवाज हमेशा से बुलंद होती रही है, अब वो इस मामले में पूरी तरह से सामने आ गई है। कैट ( Cait ) इसके लिए बुधवार यानी 10 जून से एक अभियान शुरू करने जा रही हैख्, जो पीएम नरेंद्र मोदी ( Pm Narendra Modi ) के वोकल फॉर लोकल ( Vocal For Local ) नारे को प्रोत्साहित भी करेगा। कैट ने दिसंबर 2021 तक चीनी सामानों के भारत द्वारा आयात में लगभग 1.5 लाख करोड़ रुपए कम करने का टारगेट रखा है।

Mubadala के बाद Jio Platforms में ADIA करेगी 5683 करोड़ रुपए का Investment

कैट ने बताई चीनी सामान की हिट लिस्ट
कैट की ओर से चीन से आने वाले करीब 3 हजार सामानों की हिट लिस्ट बनाई है, जिनके भारत ना आने से कोई फर्क नहीं पड़ेगा, क्योंकि ऐसे सामान भारत में पहले से उत्पादित हो रहे हैं। कैट के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीण खंडेलवाल के अनुसार अभियान के तहत कैट व्यापारियों को चीनी वस्तुएं न बेचने का अनुरोध किया जाएगा, वहीं दूसरी ओर देश के लोगों को चीनी वस्तुओं के स्थान पर स्वदेशी उत्पादों को इस्तेमाल करने के लिए प्रेरित किया जाएगा।

Unlock 1.0 के पहले फेज में Share Market ने मारी दहाड़, Sensex पहुंचा 35 हजार अंकों के करीब

लोकल फोर वोकल को मिलेगी मजबूती
कैट के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र गोयल के अनुसार कैट के इस अभियान से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लोकल फोर वोकल को मजबूती मिलेगी। कैट के अनुसार चीनी वस्तुओं के बहिष्कार को लेकर भारत के व्यापारी और नागरिक संकल्प ले चुके हैं। भारतीय बाजारों से चीनी सामान एक रात में नहीं हटेगा, इसके लिए कैट की ओर से कदम बढ़ा दिए गए हैं। जल्द ही इस लक्ष्य को हासिल किया जाएगा।

Canara Bank के बाद अब IOB ने दी ग्राहकों को राहत, सस्ता किया लोन पर ब्याज

6 अरब डॉलर चीन से आयात घटा
जानकारी के अनुसार चीनी सामान के बहिष्कार के अभियान से पहले ही 2017-18 में चीन से आयात 76 अरब डॉलर से घटकर वर्तमान में 70 अरब डॉलर रह गया है। प्रवीण खंडेलवाल की मानें तो यह 6 अरब डॉलर का आयात गिरावट स्वदेशी वस्तुओं के उपयोग और उपभोक्ता भावनाओं को बदलने की कहानी कह रहा है। उन्होंने कहा कि कैट के प्रयासों से दिसंबर 2021 तक लगभग 13 अरब डॉलर के चीनी सामान के आयात में कमी लाने की योजना पर काम हो रहा है।

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned