एस्सार स्टील ने आर्सेलरमित्तल के खिलाफ NCLAT का दरवाजा खटखटाया

एस्सार स्टील ने आर्सेलरमित्तल के खिलाफ NCLAT का दरवाजा खटखटाया

Ashutosh Kumar Verma | Publish: May, 08 2019 08:15:59 AM (IST) इंडस्‍ट्री

  • कंपनी को खरीदने की आर्सेलरमित्तल की कोशिश को खारिज किए जाने की मांग को लेकर मंगलवार को एनसीएलएटी का दरवाजा खटखटाया।
  • इन कंपनियों में जीपीआई टेक्टाइल्स, बालासोर अलॉयस और गोंटरमैन पीपर्स भी शामिल हैं।
  • ईएसएएचएल की एस्सार स्टील में 72 प्रतिशत हिस्सेदारी।

नई दिल्ली। एस्सार स्टील में मेजॉरिटी हिस्सेदारी रखने वाली एस्सार स्टील एशिया होल्डिंग्स ( ESAHL) ने कंपनी को खरीदने की आर्सेलरमित्तल की कोशिश को खारिज किए जाने की मांग को लेकर मंगलवार को राष्ट्रीय कंपनी कानून अपीलीय न्यायाधिकरण ( nclat ) का दरवाजा खटखटाया।

यह भी पढ़ें - लगातार दूसरे दिन भी पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कोई बदलाव नहीं, जानिए क्या हैं आज की दरें

तथ्यों को दबाने का लगाया आरोप

एस्सार स्टील ने एक बयान में कहा, "लक्ष्मी मित्तल और आर्सेलर मित्तल इंडिया लिमिटेड (एएम) ने प्रमुख तथ्यों को दबाने के लिए साजिश रची और ऋणदाताओं की समिति, सर्वोच्च न्यायालय और अपीलीय न्यायाधिकरण को यह मानने के लिए भ्रमित किया कि लक्ष्मी मित्तल और आर्सेलर मित्तल ने अपने भाइयों प्रमोद मित्तल और विनोद मित्तल तथा उनकी कंपनियों के साथ कोई भी कारोबार नहीं किया था।"

यह भी पढ़ें - शेयर बाजार: मात्र 12 घंटे में निवेशकों को हुआ 2.50 लाख करोड़ रुपए का नुकसान

कंपनी में हिस्सेदारी को लेकर उठे सवाल

प्रशांत रुइया के नेतृत्व वाली ईएसएएचएल ने अपने आवेदन में आर्सेलर मित्तल द्वारा 17 अक्टूबर, 2018 को दाखिल एक हलफनामे में का जिक्र किया है, जिसमें कहा गया है कि लक्ष्मी मित्तल और उनके भाइयों तथा उनकी कंपनियों के बीच 20 वर्षो से अधिक समय तक कोई कारोबारी जुड़ाव नहीं रहा है। और इसलिए लक्ष्मी मित्तल या आर्सेलर मित्तल की उस किसी भी कंपनी में कोई हिस्सेदारी नहीं है, जिनमें उनके भाई प्रमोटर हैं। इन कंपनियों में जीपीआई टेक्टाइल्स, बालासोर अलॉयस और गोंटरमैन पीपर्स भी शामिल हैं।

यह भी पढ़ें - Recession Returns? अमरीका-चीन की टसल के चलते वैश्विक मंदी का खतरा

एस्सार स्टील में 72 प्रतिशत हिस्सेदारी रखने वाली ईएसएएचएल ने जो दस्तावेज प्रस्तुत किए हैं, उससे पता चलता है कि 30 सितंबर, 2018 तक लक्ष्मी मित्तल अपने भाइयों प्रमोद मित्तल और विनोद मित्तल के साथ नवोदय कंसल्टैंट्स के सह-प्रमोटर थे, और नवोदय जीपीआई टेक्सटाइल्स, बालासोर अलायस और गोंटरमैन पीपर्स का एक प्रमोटर थी।

Business जगत से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर और पाएं बाजार, फाइनेंस, इंडस्‍ट्री, अर्थव्‍यवस्‍था, कॉर्पोरेट, म्‍युचुअल फंड के हर अपडेट के लिए Download करें Patrika Hindi News App.

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned