अगले महीने शुरू हो रहे 5जी ट्रायल के लिए सभी कंपनियों को स्पेक्ट्रम देगी सरकार

  • ऑपरेटर एरिक्सन, नोकिया, सैमसंग और हुआवेई को पार्टनर वेंडर चुन सकते हैं
  • ट्रायल रन के लिए चीन की बड़ी प्रौद्योगिकी कंपनी हुआवे को भी मंजूरी मिली

नई दिल्ली। दूरसंचार मंत्री रविशंकर प्रसाद ( telecom minister ravi shankar prasad ) ने कहा है कि सरकार सभी टेलीकॉम कंपनीज ( telecom companies ) को ट्रायल के लिए 5जी स्पेक्ट्रम ( 5g spectrum india ) मुहैया करवाएगी। दूरसंचार विभाग ( dot ) सभी टेलीकॉम सेवा प्रदाता को ट्रायल के लिए स्पेक्ट्रम प्रदान करेगी और ऑपरेटर एरिक्सन, नोकिया, सैमसंग और हुआवेई को अपने पार्टनर वेंडर के रूप में चुन सकते हैं। हालांकि ट्रायल का मतलब यह नहीं होगा कि व्यावसायिक रूप में इसकी मंजूरी का आश्वासन दिया जाएगा।

यह भी पढ़ेंः- आरबीआई का बड़ा आदेश, फास्टैग अकाउंट सभी पेमेंट्स मॉडल्स और वॉलेट्स हो सकेंगे लिंक

इससे पहले इसी महीने डीओटी ने स्पेक्ट्रम की अगली नीलामी की कीमत को मंजूरी प्रदान की जिसके तहत खासतौर से करीब 6,050 मेगाहट्र्ज की एयर वेव्स यानी वायु तरंग की पेशकश की जाएगी। दूरसंचार मंत्रालय की सर्वोच्च नीति निर्माता निकाय डिजिटल कम्युनिकेशन कमीशन ने 20 दिसंबर को मार्च-अप्रैल में स्पेक्ट्रम की नीलामी को मंजूरी प्रदान की हालांकि भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण (ट्राई) द्वारा निर्धारित रेडियोवेव्स की आरक्षित कीमत में कोई बदलाव नहीं किया। इस नीलामी के जरिए पहली बार 5जी स्पेक्ट्रम की बिक्री होगी।

यह भी पढ़ेंः- 50 करोड़ी कंपनियों के लिए जरूरी हुआ यूपीआई और रुपे कार्ड से ट्रांजेक्शन

सूत्रों ने बताया कि ट्रायल रन के लिए चीन की बड़ी प्रौद्योगिकी कंपनी हुआवे को भी मंजूरी मिली है। दरअसल कंपनी वैश्विक स्तर पर जांच के घेरे में है इसलिए इसे मंजूरी मिलने को लेकर अटकलें चल रही थी जिस पर विराम लग गया है। सूत्रों ने बताया कि ट्रायल अगले महीने शुरू होने की संभावना है।

Show More
Saurabh Sharma Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned