सरकार लेकर आ रही है भारत की सबसे बड़ी र्इ-काॅमर्स कंपनी, फ्लिपकार्ट आैर अमेजन को बड़ा खतरा

इफको ई मंडी से 5.5 करोड़ किसानों को लाभ मिलेगा, इफको की सभी ई-कॉमर्स और डिजिटल गतिविधियां इफको आई मंडी प्लेटफार्म पर उपलब्ध रहेंगी।

By: Saurabh Sharma

Updated: 16 Jul 2018, 08:54 AM IST

नई दिल्ली। सहकारी क्षेत्र की विश्व की सबसे बड़ी उर्वरक उत्पादक कंपनी इफको ने किसानों के लिए सोशल ई-कॉमर्स ऐप इफको आई मंडी तथा एक वेब पोर्टल शुरू किया है। इफको आई मंडी से 5.5 करोड़ किसानों को लाभ मिलेगा। इफको की सभी ई-कॉमर्स और डिजिटल गतिविधियां इफको आई मंडी प्लेटफार्म पर उपलब्ध रहेंगी। आई मंडी, इफको की शत-प्रतिशत साझेदारी वाली सहयोगी कंपनी इफको ई बाजार लिमिटेड द्वारा सिंगापुर की प्रौद्योगिकी कंपनी आई मंडी प्राइवेट लिमिटेड के साथ मिलकर किया गया एक नीतिगत निवेश है। कृषि उद्योग तथा मोबाइल/इंटरनेट प्रौद्योगिकी के क्षेत्र के अनुभवी और पेशेवर लोग इससे जुड़े हुए हैं। इस पहल का उद्देश्य देश के हर किसान तक डिजिटल प्रौद्योगिकी का लाभ पहुंचाना तथा ग्रामीण भारत में डिजिटल क्रांति लाना है।

करोड़ों लोगों को फायदा
इफको के प्रबंध निदेशक डॉ. यूएस अवस्थी ने इस मौके पर कहा कि आई मंडी कृषि आदानों, उत्पादों, उपभोक्ता वस्तुओं (एफएमसीजी), इलेक्ट्रॉनिक्स, ऋण तथा बीमा आदि की खरीद के लिए वस्तुएं एक ही स्थान पर उपलब्ध कराती है। यह खेतिहर समुदायों की सभी जरूरतों को पूरा करेगी तथा 5.5 करोड़ किसान इससे लाभान्वित होंगे। आई मंडी प्राइवेट लिमिटेड के संस्थापक वीके अग्रवाल ने कहा कि इफको और आई मंडी इस बात से आश्वस्त हैं कि इस भारतीय सहकारी डिजिटल प्लेटफाॅर्म के माध्यम से हर घर, हर गांव में बड़े पैमाने पर सामाजिक बदलाव लाने में मदद मिलेगी तथा इसकी डिजिटल समावेशी प्रौद्योगिकी से एक करोड़ लोग सशक्त होंगे।

2 जी आैर 3जी दोनों में होगा काम
इस ऐप के जरिये किसान निकट भविष्य में अपने उत्पाद अच्छी कीमतों पर ऑनलाइन बेच सकेंगे। ई मंडी के जरिए ऋण, बीमा जैसी अनेक वित्तीय सेवाओं की सुविधा भी मिलेंगी। ई मंडी ऐप की यह खासियत है कि यह 2जी प्लस और 3जी प्लस दोनों ही प्रकार की तकनीक वाले स्मार्ट फोन पर काम करता है। हिन्दी और अंग्रेजी के अतिरिक्त यह भारत की 10 क्षेत्रीय भाषाओं में उपलब्ध होगा। इसे ग्रामीण भारतीय उपभोक्ताओं को ध्यान में रखते हुए वैश्विक मानकों के अनुरूप विकसित किया गया है।

ये भी होंगी सुविधाएं
इसमें विभिन्न बिक्री केन्द्रों के माध्यम से लोगों की जरूरतें पूरा करने के अतिरिक्त किसानों को जोड़ने के लिए संवाद (चैट एवं कॉलिंग), मनोरंजन तथा सूचना/परामर्श आदि की सुविधा भी उपलब्ध है। इसकी सोशल और संवाद संबंधी सुविधा से विभिन्न क्षेत्रों के लोग एक ही प्लेटफार्म पर जुड़ सकेंगे। अपनी अपनी रुचि के मुताबिक लोग अलग-अलग फोरम चुन सकते हैं। वे विषय के विशेषज्ञों से बात कर सकते हैं तथा विभिन्न समस्याओं पर उनसे सलाह ले सकते हैं। यही नहीं वे एक दूसरे से अपनी कामयाबी भी साझा कर सकते हैं।

बन जाएगी भारत की सबसे बड़ी कंपनी
इस परियोजना को व्यापक स्तर पर कार्यान्वित किया जाएगा। इफको के 55000 बिक्री केन्द्रों, 36000 सदस्य सहकारी समितियों, 30000 भंडार गृहों तथा 25 करोड़ ग्रामीण उपभोक्ताओं से जुड़कर आई मंडी ग्रामीण सोशल ई कॉमर्स क्षेत्र में भारत की सबसे बड़ी कंपनी बन जाएगी। लगभग 16000 पिन कोड के जरिए भारत का लगभग एक तिहाई हिस्सा इससे जुड़ेगा।

Show More
Saurabh Sharma Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned