RBI के फैसलों से रियल एस्टेट सेक्टर में खुशी की लहर, नकदी संकट कम होने की उम्मीद

  • RBI ने एक बार फिर कम किये रेपो रेट
  • प्रॉपर्टी मार्केट में हलचल बढ़ने की उम्मीद

By: Pragati Bajpai

Published: 22 May 2020, 05:14 PM IST

नई दिल्ली: भारतीय रिजर्व बैंक ( reserve bank of india ) ने एक बार फिर से कोरोनावायरस से जूझती जनता के लिए आर्थिक मोर्चे पर कुछ फैसले लिए। मोरेटोरियम की अवधि को 3 महीने के लिए बढ़ा दिया गया है। जबकि रेपो रेट ( REPO RATE ) में एक बार फिर से कमी कर दी गई है। बैंक ( rbi ) ने इस बार ब्याज दरों ( Interest Rate ) में 40 बेसिस प्वाइंट की कमी की है। एक महीने में दूसरी बार रिवर्स रेपो दर में भी 40 बीपीएस की कमी आई है और अब यह 3.35% है। RBI के इस कदम से रियल एस्टेट सेक्टर की काफी उम्मीदें बढ़ गई है।

Yes Bank का खास ऑफर, FD कराने पर फ्री में मिलेगा कोरोना इंश्योरेंस, जानें कब तक उठा सकते हैं फायदा

दरअसल अब लोन लेना आसान हो जाएगा जिसकी वजह से रियल एस्टेट ( Real Estate ) में बूम आने की उम्मीद है।  ANAROCK Property Consultants के चेयरमैन अनुज पुरी का कहना है कि रियल एस्टेट सहित सभी क्षेत्रों पर कोरोना का गंभीर प्रभाव पड़ा है। ऐसे में आरबीआई का एक बार फिर से रेपो दर ( REPO RATE )  में 40 बीपीएस की कटौती एक स्वागत योग्य कदम है। यह एक और बड़ा कदम है, जो डेवलपर्स के लिए नकदी संकट को कम करेगा, उन्होंने कहा रेट में कटौती न केवल सकारात्मक संकेत देगी, बल्कि बैंकों को और भी अधिक उधार देने में सक्षम बनाएगी।

Super Cyclone Amphan ने बड़ाई बंधन बैंक की मुश्किलें, 260 करोड़ के नुकसान की जताई आशंका

आपको बता दें कि मार्केट में लगातार खबरें आ रही है कि कोविड-19 के लॉकडाउन के बावजूद लोग घर खरीदने में इंटरेस्ट ले रहे हैं। कहा तो ये भी जा रहा है कि प्रॉपर्टी की कीमतों में गिरावट की वजह से कोविड-19 घर खरीदने वालों के लिए बेहतरीन मौका हो सकता है। जानकारी के मुताबिक दिल्ली, मुंबई जैसे 7 बड़े शहरों में प्रॉपर्टी के प्राइस 20 फीसदी तक कम हो सकते हैं। 

rbi reserve bank of india
Pragati Bajpai Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned