अकाउंट नंबर से लेकर पैन कार्ड तक, लीक हुआ सैनिकों का अहम डेटा

भारत में डेटा लीक का मामला थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। एक बार फिर डेटा लीक का एक गंभीर मामला सामने आया है।

By: manish ranjan

Updated: 11 Sep 2018, 03:44 PM IST

नई दिल्ली। भारत में डेटा लीक का मामला थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। एक बार फिर डेटा लीक का एक गंभीर मामला सामने आया है। दरअसल देश के सैनिकों के पर्सनल नंबर और पैन कार्ड सहित कई संवेदनशील डेटा सरकारी पे वेबसाइट्स पर लीक हो गए। इस मामले के सामने आते ही सरकार ने सिक्योरिटी प्रोटाकॉल की समीक्षा करने का निर्देश दिया है। लेकिन सरकार अभी तक इस बात का पता नहीं कर पाई है कितने सैनिकों का डेटा लीक हुआ है।

लीक हुआ सैनिकों का डेटा
पिछले कुछ महीनों में किए गए आंतरिक सर्वे के अनुसार सैनिकों के नाम, उनके मिलिट्री आईडी नंबर और परमानेंट अकाउंट नंबर सहित कई और जानकारियां रक्षा मंत्रालय के पे एंड अकाउंट ऑफिस की वेबसाइट्स पर सार्वजनिक हो गई थी। सरकार ने विभागों को निर्देश दिए है की वेबसाइट के होम पेज से इस जानकारी को तुरंत हटाया जाए और डेटा लीक को रोकने के लिए वेबसाइट की सुरक्षा पर काम किया जाए।कार्यालयों को यह निर्देश भी दिए गए कि संवेदनशील सूचना एक सिक्योर्ड लॉग-इन के बाद यूजर रोल बेस्ड एक्सेस के जरिए ही दी जाए।

पहले भी हैक हो चुकी है वेबसाइट्स
ऐसा पहली बार नहीं हुआ है की पे-लिंक्ड वेबसाइट्स के साथ छेड़छाड़ हुई हो। पहले भी रक्षा मंत्रालय की पे-लिंक्ड वेबसाइट्स के साथ इससे पहले भी छेड़छाड़ हो चुकी है। हैकर्स ने 2015 में प्रिंसिपल कंट्रोलर डिफेंस एकाउंट्स (ऑफिसर्स) के ऑफिस की वेबसाइट को हैक कर लिया था। इसके बाद भी सरकार ने इससे कोई सबक नहीं लिया। ऐसे में इसे सरकार की एक बड़ी चूक माना जा रहा है।

यह भी पढ़ें -

पीएम मोदी के जन्मदिन पर खुलने वाला है योजनाओं का पिटारा , देशवासियों को मिलेगी ये सौगात

ये कंपनियां उठा रही है दिल टूटने का फायदा, कर रही है जमकर कमाई

मोदी ने माना मनमोहन का लोहा, अब रुपए की गिरावट रोकने के लिए चलेंगे यह चाल

 

Show More
manish ranjan Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned