RCB Vs CSK : धोनी शो के बावजूद चेन्नई एक रन से हारा, बेंगलोर ने प्ले ऑफ में पहुंचने की कायम रखी उम्मीदें

  • धोनी ने बनाए 48 गेंद पर अविस्मरणीय 84 रन
  • बेंगलोर की ओर से पटेल ने लगाया अर्धशतक
  • पार्थिव ने शार्दुल को रन आउट कर बेंगलोर को दिलाई जीत

By: Mazkoor

Updated: 22 Apr 2019, 12:22 AM IST

बेंगलूरु : रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर ने टॉस हार कर पहले बल्लेबाजी करते हुए पार्थिव पटेल (53) के अर्धशतक की मदद से 7 विकेट के नुकसान पर 161 रन बनाकर चेन्नई के सामने जीत के लिए 162 रनों का लक्ष्य दिया। इसके बाद जब चेन्नई ने बल्लेबाजी शुरू की तो 5.5 ओवरों में ही मात्र 28 रन पर चार विकेट खोकर चेन्नई पूरी तरह बैकफुट पर आ गया था। इसके बाद चेन्नई का के जीत की कोई चांस नजर नहीं आ रहा था। तब मैदान पर कदम रखा महेंद्र सिंह धोनी ने। इतना ही नहीं आखिरी ओवर में चेन्नई को जीत के लिए बनाने थे छह गेंद पर 26 रन तो चेन्नई का कट्टर से कट्टर समर्थक भी चेन्नई की जीत की उम्मीद छोड़ चुका था। इसके बाद शुरू हुआ धोनी मैजिक। आखिरी ओवर लेकर मैदान पर थे उमेश यादव और उनके सामने थे महेंद्र सिंह धोनी। पहली गेंद को चार रन के लिए बाहर भेजा। इसके बाद लगातार दो गेंद को छह रन के लिए मैदान के बाहर भेज दिया। फिर चौथी गेंद पर दो रन लिए। अब बचे थे दो गेंद पर 8 रन। इसके बावजूद कोई भी यह नहीं मान रहा था कि इसके बाद भी धोनी मैच को जीता देंगे, क्योंकि लगातार बाउंड्री मारना संभव नहीं है। लेकिन पांचवीं गेंद को जब फिर सिक्स के लिए बाहर भेज दिया तो आखिरी गेंद पर जीत के लिए चाहिए थे सिर्फ दो रन तो सबने मान लिया की यह मैच अगर चेन्नई नहीं जीता तब भी मैच सुपर ओवर में तो चला ही जाएगा, लेकिन यहीं पर पता चला कि धोनी महामानव नहीं है। वह आखिरी गेंद खेलने से चूके। गेंद विकेट कीपर पटेल की ग्लब्स में गई। इसके बाद धोनी और शार्दुल ठाकुर एक रन के लिए भागे। लेकिन पटेल ने सटीक निशाना लगाकर ठाकुर को आउट कर दिया। इस तरह से हाई वोल्टेज ड्रामे का अंत हो गया और चेन्नई एक रन से हार गई।

हाहाकारी रही चेन्नई की शुरुआत
बेंगलोर से मिले 162 रनों के लक्ष्य के सामने चेन्नई की शुरुआत बेहद हाहाकारी रही। टीम का योग 6 था तो वाटसन आउट हो गए। इसके बाद इसी स्कोर पर सुरेश रैना शून्य पर आउट होकर पैवेलियन लौट गए। पारी में अभी 11 रन और जुड़े थे कि प्लेसिस भी चलते बने। इसके 11 रन बाद यानी टीम का स्कोर जब 28 रन था तो केदार जाधव के रूप में चेन्नई का चौथा विकेट भी गिर गया। इसके बाद अंबाती रायडू ने धोनी के साथ मिलकर चेन्नई की पारी संभालने की कोशिश की। जब लग रहा था कि अब चेन्नई की पारी ढर्रे पर आ रही है तो 30 रन के निजी स्कोर पर अंबाती रायडू आउट होकर पैवेलियन लौट गए। तब तक टीम का स्कोर 13.1 ओवर में मात्र 83 रन था और चेन्नई के पांच विकेट गिर चुके थे। एक तरफ से मैदान पर महेंद्र सिंह धोनी पारी को जमाने में लगे थे। दूसरी तरफ से उनके बाद आए रविंद्र जडेजा भी 16.4 ओवर में जब टीम का योग 108 रन था तो आउट हो गए। इसके बाद 19वें ओवर की आखिरी गेंद पर डवेन ब्रावो भी आउट होकर पैवेलियन लौट गए। यानी आखिरी ओवर में टीम को जीत के लिए चाहिए थे 26 रन। यहीं से एम चिदंबरम स्टेडियम में बैठे सभी लोगों ने धोनी की वह शानदार पारी देखी, जिसके लिए उन्हें दुनिया के सर्वश्रेष्ठ फिनिशर के तौर पर जाना जाता है। लेकिन अफसोस वह टीम को जीता नहीं सके। उन्होंने 48 गेंदों पर नाबाद 84 रन बनाए। इस पारी के दौरान उन्होंने पांच चौके और सात छक्के लगाए।
बेंगलोर के लिए अगर उमेश यादव के आखिरी ओवर को छोड़ दिया जाए तो सभी ने अच्छी गेंदबाजी की। इस ओवर में उमेश 24 रन दे बैठे। बेंगलोर के लिए डेल स्टेन और उमेश यादव ने दो-दो विकेट लिए तो नवदीप सैनी और युजवेंद्र चहल को एक विकेट मिला।

पटेल को नहीं मिला अन्य बल्लेबाजों से साथ
टॉस हार कर पहले बल्लेबाजी करते हुए बेंगलोर की ओर से ओपन करने आए पार्थिव ने शानदार बल्लेबाजी की। लेकिन दूसरे छोर से उन्हें किसी भी बल्लेबाज का साथ नहीं मिला। टीम का स्कोर जब 11 रन था तो 9 रन के निजी स्कोर पर कप्तान विराट कोहली आउट हो गए। इसके बाद अब्राहम डिविलियर्स (25) जब लग रहा था कि लय में आ गए हैं तो वह 6.5 ओवर में टीम का स्कोर जब 58 रन था तो आउट होकर पैवेलियन लौट गए। इसके बाद बल्लेबाजी करने आए आकाशदीप (24) भी आंख जमाने के बाद आउट होकर पैवेलियन लौट गए। मार्क स्टोयनिस (14) का भी यही हाल रहा। इसके बाद बल्लेबाजी के लिए आए मोइन अली (26) ने जरूर आखिरी ओवर में आउट होने से पहले कुछ अच्छे हाथ दिखाकर टीम को 150 के पार पहुंचाया। इस तरह बेंगलोर ने 7 विकेट गंवाकर 161 रन बनाए।
पटेल ने अपनी 37 गेंद की पारी में दो चौके और चार छक्के लगाए तो डिविलियर्स ने 19 गेंद की पारी में 3 चौके और एक सिक्स लगाया। आकाशदीप ने 20 गेंदों की पारी में सिर्फ एक चौका और एक सिक्स लगाया तो मोइन अली ने 16 गेंद की ताबड़तोड़ पारी में 5 चौके जड़े।
चेन्नई के गेंदबाजों ने अच्छी गेंदबाजी की। बेंगलोर के बल्लेबाजों को खुलकर खेलने नहीं दिया और समय-समय पर विकेट भी चटकाए। इस वजह से बेंगलोर ज्यादा रन नहीं बना पाया। चेन्नई के लिए दीपक चाहर, रविंद्र जडेजा और ड्वेन ब्रावो ने 2-2 विकेट लिए तो एक विकेट इमरान ताहिर को मिला।

दोनों टीमों ने किए दो बदलाव
चेन्नई की टीम में कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की वापसी हुई है। उनके अलावा चोटिल ड्वेन ब्रावो फिट होकर टीम में वापस लौटे हैं। इन दोनों के लिए सैम बिलिंग्स और कर्ण शर्मा ने जगह खाली की है।
वहीं बेंगलोर ने भी अपनी टीम में दो बदलाव किए हैं। उसने हेनरिक क्लासेन और मोहम्मद सिराज की जगह अब्राहम डिविलियर्स और उमेश यादव को टीम में जगह दी गई है।

दोनों के बीच जीत-हार का रिकॉर्ड
इन दोनों टीमों ने अभी तक कुल कुल 24 मैच खेले हैं। इसमें बेंगलोर जीता के हाथ सात बार जीत लगी है तो चेननई 16 बार जीती है। एक मैच बेनतीजा रहा था।

दोनों टीमें :

बेंगलोर : विराट कोहली (कप्तान), पार्थिव पटेल, अब्राहम डिविलियर्स, मोइन अली, मार्कस स्टोइनिस, अक्षदीप नाथ, नवदीप सैनी, पवन नेगी, युजवेंद्र चहल, उमेश यादव और डेल स्टेन।

चेन्नई : महेंद्र सिंह धोनी (कप्तान), अंबाती रायडू, शेन वॉटसन, सुरेश रैना, केदार जाधव, रविंद्र जडेजा, फॉफ डु प्लेसिस, ड्वेन ब्रावो, शार्दुल ठाकुर, दीपक चाहर और इमरान ताहिर।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned