scriptसिवनी के लाड़ले सरकार की एक झलक पाने उमड़े भक्त, भजनों पर जमकर झूमे भक्त | Devotees gathered to get a glimpse of Seoni's beloved government, devotees danced to the hymns. | Patrika News
इटारसी

सिवनी के लाड़ले सरकार की एक झलक पाने उमड़े भक्त, भजनों पर जमकर झूमे भक्त

सिवनी के लाड़ले सरकार की एक झलक पाने उमड़े भक्त, भजनों पर जमकर झूमे भक्त

इटारसीJun 30, 2024 / 08:42 pm

Manoj Kundoo

Devotees gathered to get a glimpse of Seoni's beloved government, devotees danced to the hymns.

सिवनी के लाड़ले सरकार की एक झलक पाने उमड़े भक्त, भजनों पर जमकर झूमे भक्त

तीन दिन के बाद सोमवार को इटारसी से विहार पर निकलेंगे लड्डू गोपाल

इटारसी.

लड्डू गोपाल की चमत्कारी मूर्ति जिन्हें सिवनी के लाड़ले सरकार के नाम से भी जाना जाता है, उनका तीन दिन का प्रवास इटारसी में किया गया है। सोनासांवरी नाका स्थित मधुसूदन नामदेव के निवास पर लड्डू गोपाल की एक झलक पाने भक्तों की भीड़ लगी रही।
शुक्रवार को जैसे ही उनके आगमन की सूचना लोगों को मिली दर्शन पूजन और गोद में खिलाने के लिए बड़ी संख्या में भक्त पहुंचना शुरू हो गए। रविवार को लाड़ले सरकार का दरबार सजा और भजनों की प्रस्तुतियां दी गईं। छप्पन भोग, अभिषेक किया गया। भजनों पर भक्तों ने डांस किया। जय श्री राधे के जयकारों से क्षेत्र गुंजाएमान हो गया।
ओमप्रकाश नामदेव ने बताया कि तीन दिन सेवा के बाद सोमवार को लड्डू गोपाल जी विहार कर अन्य भक्तों के घर के लिए प्रस्थान करेंगे। इसके पहले सुबह लड्डू गोपाल को गोद में खिलाने, बैठाकर भोग कराया जाएगा। शाम को आरती के बाद लड्डू गोपाल विहार पर निकलेंगे। कार्यक्रम में डा. दीपक नामदेव, रूपा नामदेव, ओमप्रकाश नामदेव, सुनीता नामदेव, संदीप नामदेव, नूतन नामदेव सहित अन्य श्रद्धालु मौजूद रहे।

सिवनी के एक परिवार की है मूर्ति-

सिवनी के लाड़ले सरकार की चमत्कारी मूर्ति सिवनी के रहने वाले एक परिवार की है। ऐसा कहा जाता है कि उन्हें ये किसी संत के द्वारा प्रदान की गई थी। जो स्थापित होने के बजाय भक्तों के घरों में जाना पसंद करती है। हर भक्त दो चार दिनों के लिए लड्डू गोपाल को अपने घर बुलाता है, बच्चों की तरह उनकी सेवा पूजन करता है। उत्सव सा माहौल होता है। साथ ही लोग इनके दर्शनों को भी उमड़ पड़ते हैं।
इटारसी.

लड्डू गोपाल की चमत्कारी मूर्ति जिन्हें सिवनी के लाड़ले सरकार के नाम से भी जाना जाता है, उनका तीन दिन का प्रवास इटारसी में किया गया है। सोनासांवरी नाका स्थित मधुसूदन नामदेव के निवास पर लड्डू गोपाल की एक झलक पाने भक्तों की भीड़ लगी रही।
शुक्रवार को जैसे ही उनके आगमन की सूचना लोगों को मिली दर्शन पूजन और गोद में खिलाने के लिए बड़ी संख्या में भक्त पहुंचना शुरू हो गए। रविवार को लाड़ले सरकार का दरबार सजा और भजनों की प्रस्तुतियां दी गईं। छप्पन भोग, अभिषेक किया गया। भजनों पर भक्तों ने डांस किया। जय श्री राधे के जयकारों से क्षेत्र गुंजाएमान हो गया।
ओमप्रकाश नामदेव ने बताया कि तीन दिन सेवा के बाद सोमवार को लड्डू गोपाल जी विहार कर अन्य भक्तों के घर के लिए प्रस्थान करेंगे। इसके पहले सुबह लड्डू गोपाल को गोद में खिलाने, बैठाकर भोग कराया जाएगा। शाम को आरती के बाद लड्डू गोपाल विहार पर निकलेंगे। कार्यक्रम में डा. दीपक नामदेव, रूपा नामदेव, ओमप्रकाश नामदेव, सुनीता नामदेव, संदीप नामदेव, नूतन नामदेव सहित अन्य श्रद्धालु मौजूद रहे।
सिवनी के एक परिवार की है मूर्ति-

सिवनी के लाड़ले सरकार की चमत्कारी मूर्ति सिवनी के रहने वाले एक परिवार की है। ऐसा कहा जाता है कि उन्हें ये किसी संत के द्वारा प्रदान की गई थी। जो स्थापित होने के बजाय भक्तों के घरों में जाना पसंद करती है। हर भक्त दो चार दिनों के लिए लड्डू गोपाल को अपने घर बुलाता है, बच्चों की तरह उनकी सेवा पूजन करता है। उत्सव सा माहौल होता है। साथ ही लोग इनके दर्शनों को भी उमड़ पड़ते हैं।

Hindi News/ Itarsi / सिवनी के लाड़ले सरकार की एक झलक पाने उमड़े भक्त, भजनों पर जमकर झूमे भक्त

ट्रेंडिंग वीडियो