scriptWhy did the British government start destroying this plant | ब्रिटिश सरकार ने इस पौधे को नष्ट करने क्यों लगा दी थी पूरी रेजीमेंट | Patrika News

ब्रिटिश सरकार ने इस पौधे को नष्ट करने क्यों लगा दी थी पूरी रेजीमेंट

खून का बहाव रोकने व चोट भरने के विशेष गुण की वजह से सतपूड़ा की पहाडिय़ों में दहमन पेड़ों का समूल नष्ट करने अपने रेजीमेंट को कह दिया था

जगदलपुर

Published: February 21, 2022 12:56:30 am

जगदलपुर। ब्रिटिश सरकार ने सतपूड़ा के जंगल में पाई जाने वाली औषधीय महत्व के दहमन पेड़ को जड़ से उखाड़ देने का हुक्म दिया था, इसका कारण इतना ही था कि इस पौधे के पत्ते का लेप गोंड व कोरकू आदिवासी लड़ाके युद्ध में लगे अपने घाव पर लगाते थे। खून का बहाव रोकने व चोट भरने के विशेष गुण की वजह से घबराए ब्रिटिश सरकार ने सतपूड़ा की पहाडिय़ों में इसके पेड़ों का समूल नष्ट करने अपने रेजीमेंट को कह दिया था।
औषधीय गुणों से भरपूर दहमन के पेड़ को बस्तर के ग्रामीण दहीमन, दहीपलाश व ढेंगन कहकर पहचानते हैं। माचकोट इलाके के ग्रामीण इसकी पत्तों पर रेंगने वाली चीटियों को सूखाकर, भूनकर और चूर्णबनाकर मिर्गी, माइग्रेन व सुरक्षित प्रसव के लिए उपयोग में लाते हैं।
इन चार वैज्ञानिकों ने खोज निकाला
बायोसाइंस के प्रोफेसर डा. एमएल नायक, पीजी कालेज के जूलाजी विभागाध्यक्ष डा. सुशील दत्ता, डा. राजेंद्र सिंह व डा. पीआरएस नेगी ने ग्रामीणों से सुनी इस बात की तस्दीक करते अपने जारी अनुसंधान में माचकोट के घने जंगल में दहमन के इस पौधे को खोज निकाला है। वैज्ञानिकों ने यह भी बताया कि लगभग नष्ट होने के कगार पर इस पौधे के संरक्षण व संवर्धन के लिए वे प्रयास कर रहे हैं पर अब तक सफलता हासिल नहीं हुई है।
सर्पदंश व नशा को उतारने कामयाब
दहमन के पौधे में चोट को सुखाने के साथ ही सर्पदंश व नशा को उतारने भी वैज्ञानिकों ने कामयाब बताया है। ग्रामीणों ने बताया कि जिस घर पर शराब बन रही है यदि इस पेड़ की डंगाल उसकी छप्पर पर डाल दी जाए तो शराब नहंी पकती है। इसके अलावा इस पेड़ की छांव में बैठकर शराब पीने पर नशा काफूर हो जाता है।
चोट को सुखाने के साथ ही सर्पदंश व नशा को उतारने कामयाब है
चोट को सुखाने के साथ ही सर्पदंश व नशा को उतारने कामयाब है
एंटी वेनम, एंटी आक्सीडेंट, एंटी बैक्टिरियल भी है
दहीपलाश नाम के इस पेड़ का वैज्ञानिक नाम कार्डिया मेकलियोडी है। एंटी एलरगेसिक, एंटी वेनम, एंटी आक्सीडेंट व एंटी माइक्रो बैक्टिरियल गुणों से भरपूर इसके पेड़ की पत्तियां, छाल, जड़ का उपयोग कई तरह की बीमारियों में बेहद कारगर है।
इस संजीवनी पर भी मंडरा रहा संकट
रक्त का बहाव रोकने, चोट को भरने, सर्पदंश, माइग्रेन, मिग्री, सुरक्षित प्रसव करवाने व नशा को उतारने उपयोग किया जाता है। औषधीय गुणों से भरपूर दहमन के पेड़ का अस्तित्व संकट में है। जानकारी के अभाव में इसके पेड़ पर लगातार कुल्हाड़ी चल रही है। अनुसंधानकर्ता वैज्ञानिकों ने इसकी प्रजाति के संकट में होने पर अलर्ट जारी किया है। उनका कहना है कि इसके प्रगुणन करने के प्रयास जारी है पर सफलता नहीं मिल पाई है। दहमन के अनुसंधान में शामिल डा. सुशील दत्ता ने बताया कि माचकोट में इसका पाया जाना बेहद आश्चर्य जनक है। ऐसे पौधों को बचाना जरुरी है।
संकट में प्रजाति
बायोसाइंस के प्रोफेसर डा. एमएल नायक ने बताया कि हाल ही में माचकोट रेंज के फारेस्ट में दौरा के दौरान यकायक अनुसंधान करने वाले दल को दहमन के पेड़ मिला। आरंभिक तौर पर पता चला है कि इसमें एंटी एलरगेसिक, एंटी वेनम, एंटी आक्सीडेंट व एंटी माइक्रो बैक्टिरियल गुण हैँ। इसके प्रगुणन का प्रयास भी जारी है। इस प्रजाति पर संकट इसे बचाना होगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

बुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंमान्यता- इस एक मंत्र के हर अक्षर में छुपा है ऐश्वर्य, समृद्धि और निरोगी काया प्राप्ति का राजराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाVeer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

Drone Festival: दिल्ली के प्रगति मैदान में भारत के सबसे बड़े ड्रोन फेस्टीवल का उद्घाटन करेंगे पीएम मोदीपाकिस्तान में 30 रुपए महंगा हुआ पेट्रोल-डीजल, Pak सरकार को घेरते हुए इमरान खान ने की मोदी की तारीफअजमेर शरीफ दरगाह में मंदिर होने के दावे के बाद बढ़ाई गई सुरक्षा, पुलिस बल तैनातपहली बार हिंदी लेखिका को मिला अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार, एक मॉं की पाकिस्तान यात्रा पर आधारित है उपन्यासजम्मू कश्मीर: टीवी कलाकार अमरीन भट की हत्या का 24 घंटे में लिया बदला, तीन दिन में सुरक्षा बलों ने मारे 10 आतंकीमहरौली में गैस पाइपलाइन में लीकेज के बाद जोरदार धमाका लगी आग, एक घायलमानसून ने अब तक नहीं दी दस्तक, हो सकती है देरखिलाड़ियों को भगाकर स्टेडियम में कुत्ता घुमाने वाले IAS अधिकारी का ट्रांसफर, पति लद्दाख तो पत्नी को भेजा अरुणाचल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.