scriptChaitra Navratri 2021 अनेक शुभ योगों के साथ आई नवरात्रि, जानें घटस्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त | Chaitra Navratri 2021 Ghatasthapana Muhurat Chaitra Navratri Muhurat | Patrika News

Chaitra Navratri 2021 अनेक शुभ योगों के साथ आई नवरात्रि, जानें घटस्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त

locationजयपुरPublished: Apr 13, 2021 06:30:08 am

Submitted by:

deepak deewan

Chaitra Navratri 2021 Ghatasthapana time Chaitra Navratri 2021 Kalash Sthapana time Chaitra Navratri 2021 Kalash Sthapana Muhurat Chaitra Navratri 2021 Ghatasthapana Subh Muhurat Chaitra Navratri 2021 Ghatasthapana Shubh Muhurat Chaitra Navratri 2021 Ghatasthapana Auspicious Time Chaitra Navratri 2021 Start Date Chaitra Navratri 2021 Kab Hai Chaitra Navratri 2021 Kab Se Hai Chaitra Navratri 2021 End Date Time Chaitra Navratri Mahatva Chaitra Navratri 2021 Significance Chaitra Navratri 2021

Chaitra Navratri 2021 Ghatasthapana Muhurat Chaitra Navratri Muhurat
Chaitra Navratri 2021 Ghatasthapana Muhurat Chaitra Navratri Muhurat
जयपुर. 13 अप्रैल से चैत्र नवरात्र प्रारंभ हो रहे हैं। इसी के साथ नौ दिनों तक चलनेवाले शक्ति पर्व की शुरुआत हो जाएगी। चैत्र शुक्ल प्रतिपदा से प्रारंभ होनेवाले नवरात्र रामनवमी यानि 21 अप्रैल तक चलेंगे। इस दौरान मां दुर्गा के विभिन्न नौ अलग—अलग रूपों की पूजा—अर्चना की जाती है। नवरात्र के दौरान देवी की पूजा बहुत फलदायी मानी जाती है।
नवरात्रि में देवी भक्त कठिन व्रत रखते हुए दुर्गाजी की उपासना करते हैं। माना जाता है कि इन नौ दिनों तक मां दुर्गा धरती पर ही रहती हैं। यही कारण है कि आम दिनों की तुलना में नवरात्रि में देवी पूजन का कई गुना ज्यादा व त्वरित फल मिलता है। इस बार नवरात्रि मंगलवार के दिन प्रारंभ होगी। प्रतिपदा पर कलश स्थापना के साथ ही साधना और पूजा—अर्चना की शुरुआत होगी।
ज्योतिषाचार्य पंडित सोमेश परसाई बताते हैं कि इस बार नवरात्रि पर अनेक शुभ योग बन रहे हैं। 13 अप्रैल यानि मंगलवार को स्वयं सिद्ध मुहूर्त रहेगा। इसी दिन से ही नवसंवत्सर 2078 भी प्रारंभ होगा। इस बार नवरात्र की शुरुआत भारती, हर्ष, सर्वार्थसिद्धि और अमृतसिद्धि योग जैसे शुभ योगों में हो रही है। इससे देवी आराधना से मिलनेवाले शुभ फल और बढ़ जाएंगे।
चैत्र नवरात्रि पर मंगलवार सुबह घट स्थापना या कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त सुबह 5:28 बजे से 10:14 बजे तक है। ज्योतिषाचार्य पंडित नरेंद्र नागर के अनुसार इस समय अनुष्ठान करना बेहद शुभ रहेगा। इस मुहूर्त में कलश स्थापना नहीं कर पाए तो अभिजीत मुहूर्त में सुबह 11:56 बजे से 12:47 बजे तक कलश की स्थापना की जा सकती है।

ट्रेंडिंग वीडियो