मानसून मेहरबान, खुशियों से नहाया राजस्थान, छलक पड़े 220 बांध

मानसून मेहरबान, खुशियों से नहाया राजस्थान, छलक पड़े 220 बांध

Deepshikha | Updated: 19 Aug 2019, 07:45:00 AM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

Heavy Rain In Rajasthan : 11 जिलों में 60 फीसदी से ज्यादा बारिश, मानसून की समाान्य बारिश का आंकडा छुआ

विजय शर्मा / जयपुर. राजस्थान में इस बार मानसून ( Heavy Rain in Rajasthan ) मेहरबान हुआ है। भले ही प्रदेश में 17 दिन देरी से मानसून आया है, लेकिन सवा महीने में ही पूरे मानसून की बारिश का कोटा पूरा कर लिया है। प्रदेश में सौ फीसदी से अधिक बारिश हो चुकी है।

बांधों की स्थिति पर नजर डालें तो 220 बांधों पर चादर चल चुकी है। वहीं 11 जिलों में 60 फीसदी से अधिक बारिश हो चुकी है। सामान्य से अधिक बारिश से प्रदेश के कई शहरों में पेयजल संकट दूर होने की संभावनाएं जताई जा रही है।

टोंंक के बीसलपुर बांध ( Tonk's Bisalpur Dam ) झलकने के कगार पर आ गया है। इससे जयपुर के लिए ढाई साल पानी का इंतजाम हो गया है। इधर सामान्य से अधिक बारिश किसानों के लिए चिंता का विषय बन सकती है।


सामान्य से अधिक बारिश से क्या असर पडा

इस बारिश के बाद से खत्म हो जाएगी इन शहरों की पेयजल समस्या
राज्य के 222 शहरों में से 100 से ज्यादा शहर ऐसे हैं, जहां लोगों को दो से पांच दिन तक इंतजार करना पड़ रहा है। जबकि, 28 शहरों के बांशिदों को 72 घंटे में और 67 शहरों में पेयजल सप्लाई दो दिन में दी जा रही है।

वहीं, 110 शहरों में चौबीस घंटे में 45 मिनट से दो घंटे के बीच पानी दिया जा रहा है। जल संसाधन विभाग से सेवानिवृत्त मुख्य अभियंता विनोद शाह का कहना है कि प्रदेश में हो रही बारिश और जलाशयों के भरने से इन शहरों की पेयजल समस्या का समाधान हो पाएगा। इधर बीसलपुर में पानी आने के बाद जयपुर में दो साल की पेयजल आपूर्ति की व्यवस्था हो गई है।

 

बारिश :

- 534.17 एमएम बारिश हुई अभी तक प्रदेश में

100 फीसदी बारिश हुई राजस्थान में

60 फीसदी से ज्यादा बारिश हो चुकी है 11 जिलों में

 

राजस्थान के प्रमुख बांधों के हालात -

टोंक : बीसलपुर बांध ( Bisalpur Dam Overflow ) में 315.50 आरएल मीटर के मुकाबले अब तक 315.15 आरएल मीटर पानी आ चुका है। ये बांध छलकने के करीब है।


बांसवाड़ा : क्षेत्र के सभी जलाशय लगभग लबालब है। सबसे बड़े माही डैम के 16 गेट खोले जा चुके हैं और पानी की आवक जारी है। बांध का जल स्तर 281.35 मीटर है।

कोटा : चम्बल नदी ( Chambal River ) के सबसे बड़ा बांध गांधी सागर ( Gandhi Sagar Dam ) 1312 के मुकाबले 1304 फीट भर चुका है, कभी भी गेट खोले जा सकते है, यह जल स्तर 2006 के बाद आया है।

राणा प्रताप बांध की जलभराव क्षमता : 1157 फीट - अभी पानी : 1153. 4 फीट

जवाहर सागर बांध : 980 फीट - अभी पानी : 974 फिट

भरतपुर : बंध बारैटा में 20 फीट पानी, भराव क्षमता 29 फीट है

Bisalpur Dam

पिकनिट स्पॉट

बीसलपुर बांध ( bisalpur dam ) में पानी ( water ) की बम्पर आवक के बाद वहां लोगों की भीड़ ( crowd ) जुटनी शुरु हो गई है। लोग लबालब बांध के साथ खुद को सेल्फी ( selfie ) मोड में देखकर खुश हो रहे हैं। यह जगह एक पिकनिट स्पॉट ( picnic spot ) की तरह बन चुकी है।

Bisalpur Dam

राजस्थान में बारिश

जोधपुर, अजमेर, भरतपुर, जयपुर, कोटा, उदयपुर संभाग में सामान्य से अधिक बारिश दर्ज की गई है। वहीं बीकानेर संभाग में अभी सामान्य से कम बारिश हुई है।

 

 

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned