script Rajasthan : कॉटन के किसान परेशान, 1500 रुपए प्रति क्विंटल कम में बिक रही है कपास, जानें पूरा माजरा | Rajasthan Cotton Farmers Worried Cotton is being sold for less than Rs 1500 per quintal know whole matter | Patrika News

Rajasthan : कॉटन के किसान परेशान, 1500 रुपए प्रति क्विंटल कम में बिक रही है कपास, जानें पूरा माजरा

locationजयपुरPublished: Dec 29, 2023 03:11:27 pm

Cotton Farmers Worried : राजस्थान के श्रीगंगानगर बाजार में कॉटन का भाव न्यूनतम समर्थन मूल्य से करीब 1500 रुपए प्रति क्विंटल कम मिल रहा है। कॉटन के किसान परेशान है। जगह-जगह गुहार लगा रहे हैं। जानें पूरा माजरा

cotton_purchase.jpg
Sri Ganga Nagar Cotton Purchase
राजस्थान के श्रीगंगानगर बाजार में कॉटन का भाव न्यूनतम समर्थन मूल्य से करीब 1500 रुपए प्रति क्विंटल कम मिल रहा है। मजबूरी में किसान निजी बाजार में कम मूल्य पर कॉटन की फसल का बेचा रहा है। इस संबंध में कृषि उपज मंडी समिति अनाज के सचिव ने सीसीआई के महाप्रबंधक को पत्र लिखकर जिले की मंडियों में कॉटन की न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीद करने का आग्रह किया था। अब यह मामला कृषि विपणन विभाग जयपुर निदेशक पुष्पा सत्याणी तक पहुंच गया है। कृषि जिन्सों की खरीद को लेकर जयपुर में हुई बैठक में सीसीआई के महाप्रबंधक मोहित शर्मा से मिलकर इस प्रकरण में चर्चा की गई। निदेशालय से मंडी समिति प्रशासन के पास फोन आया है कि सीसीआई के अधिकारी न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीद का लेकर बातचीत करेंगे।


गारंटी का दावा फेल, पक्ष व विपक्ष चुप

किसान संघर्ष समिति के प्रवक्ता सुभाष सगहल ने बताया कि इस बार कॉटन की फसल पर पहले गुलाबी सुंडी का प्रकोप पड़ा। इसके बाद चक्रवाती तूफान की वजह से कॉटन की चमक व गुणवत्ता प्रभावित हुई। साथ ही इससे कॉटन का उत्पादन भी प्रभावित हुआ और अब सीसीआई कॉटन की न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीद नहीं कर रही है। इस कारण किसानों को प्रति क्विंटल करीब 1500 रुपए का आर्थिक नुकसान हो रहा है। भाजपा की सरकार न्यूनतम समर्थन मूल्य पर कृषि जिन्सों की खरीद की गारंटी का दावा कर रही थी लेकिन अब कोई सांसद,विधायक व स्थानीय जनप्रतिनिधि पक्ष और विपक्ष सब चुप है। कुछ किसान प्रतिनिधियों ने जरूरी मांग उठाई है। जबकि अभी तक जिला प्रशासन और सीसीआई नहीं जागी है।

यह भी पढ़ें

Rajasthan : भामाशाह मंडी में टूटा रेकॉर्ड, इस सीजन में हुई धान की बंपर आवक, खुशी से झूमे किसान



कॉटन की एमएसपी पर खरीद नहीं कर रही है सीसीआई - गंगनहर प्रणाली चेयरमैन

गंगनहर प्रणाली चेयरमैन हरविंदर सिंह गिल ने कहा, कॉटन की न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीद करने के लिए जिला प्रशासन और मंडी समिति प्रशासन से मिलकर ज्ञापन दिया था लेकिन अभी तक सीसीआई ने कॉटन की एमएसपी पर खरीद नहीं की है। इस कारण किसानों को बहुत ज्यादा आर्थिक नुकसान हो रहा है। अब फिर से जिला कलक्टर से मिलकर कॉटन की एमएसपी पर खरीद करने के लिए बातचीत करेंगे।

आवक अच्छी पर खरीद नहीं शुरू हुई - सूबे सिंह रावत

कृषि उपज मंडी समित अनाज श्रीगंगानगर सचिव सूबे सिंह रावत ने बताया, नई धानमंडी श्रीगंगानगर में कॉटन की अच्छी आवक बनी हुई है लेकिन अभी तक सीसीआई कॉटन की खरीद शुरू नहीं कर पा रही है, हालांकि सीसीआई के क्यू को बुलाकर बातचीत की है।

सांसद तक पहुंचा कॉटन खरीद का मामला

इधर, सादुलशहर विधायक गुरवीर सिंह बराड़ ने भी सांसद निहालचंद मेघवाल से बात कर जिले की मंडियों में कॉटन की न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीद शुरू करवाने की मांग की है। बताया जा रहा है कि सांसद ने दिल्ली में संबंधित मंत्री से बात कर कॉटन खरीद में निर्धारित मापदंड में छूट दिलवाकर सरकारी खरीद शुरू करवाने का आग्रह किया है।

यह भी पढ़ें

Rajasthan : किसान सतर्क रहें, इस बीमारी से गेहूं की फसल को हो सकता है भारी नुकसान, बचना है तों करें ये 2 काम

ट्रेंडिंग वीडियो