script RSS क्षेत्र प्रचारक निम्बाराम ने उठाया पलायन का मुद्दा, कहा-कई मंदिरों में आज भी बकरियां बांधी जा रही है | RSS Nimbaram raised the issue of migration Of Hindus In Jaipur Parkota | Patrika News

RSS क्षेत्र प्रचारक निम्बाराम ने उठाया पलायन का मुद्दा, कहा-कई मंदिरों में आज भी बकरियां बांधी जा रही है

locationजयपुरPublished: Jan 20, 2024 05:04:02 pm

Submitted by:

Umesh Sharma

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के क्षेत्र प्रचारक निम्बाराम ने कहा है कि हिन्दू कट्टरपंथी नहीं है। हिन्दू कभी आतंकवादी नहीं हो सकता, जो आतंकवादी है वो हिन्दू नहीं हो सकता। निम्बाराम शनिवार को गांधी नगर स्थित राजकीय महाराजा आचार्य संस्कृत महाविद्यालय में धर्म जागरण समन्वय संस्कृति आयाम जयपुर प्रान्त की ओर से मतांतरण-चुनोतियां और हमारी भूमिका विषय पर हो रही संगोष्ठी में बोल रहे थे।

nimbaram_on_muslim.jpg

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के क्षेत्र प्रचारक निम्बाराम ने कहा है कि हिन्दू कट्टरपंथी नहीं है। हिन्दू कभी आतंकवादी नहीं हो सकता, जो आतंकवादी है वो हिन्दू नहीं हो सकता। निम्बाराम शनिवार को गांधी नगर स्थित राजकीय महाराजा आचार्य संस्कृत महाविद्यालय में धर्म जागरण समन्वय संस्कृति आयाम जयपुर प्रान्त की ओर से मतांतरण-चुनोतियां और हमारी भूमिका विषय पर हो रही संगोष्ठी में बोल रहे थे।
निम्बाराम ने परकोटे में पलायन का मामला उठाया। उन्होंने कहा कि विधानसभा में भी यह मुद्दा उठा था। आज भी कई मंदिरों में विशेष समाज की बकरियां बांधी जा रही है। हमें अपने धर्म के प्रति जागरण की जरूरत है। जो चले गए उनको वापस लाने की आवश्यकता है। धर्म जागरण के द्वारा हज़ारों की घर वापसी हो गयी है, राजस्थान में भी हो रही है। निम्बाराम ने कहा कि महापुरुषों को बांटा जा रहा है, हमें सतर्क रहने की जरूरत है। कार्यक्रम में राजस्व विभाग के शासन सचिव के.के. पाठक सहित अनेक संत व संस्कृत विद्वतजन उपस्थित थे।

ईसाइयत ने अपने प्रसार के लिए अत्याचार किया

उन्होंने कहा कि हिन्दू ने कभी जबर्दस्ती करके अपने धर्म मे किसी को शामिल नहीं किया। हमने कभी नहीं कहा कि हम श्रेष्ठ हैं। हम अखण्ड भारत के पुजारी हैं। लेकिन धर्म संस्कृति को बचाने के लिए आपकी सहायता जरूरी है। आज भी गांवों में छुआछूत है, मंदिर में दर्शन नहीं करने देते। इसे खत्म करना होगा। उन्होंने कहा कि विश्व में सबसे पहले ईसाइयत ने अपने प्रसार के लिए अत्याचार किया, भारत भी इससे भी अछूता नहीं रहा। अंग्रेजों ने बड़े बड़े पदों पर इसाईयों को बैठाया, ये मिशनरी तब से काम कर रही है।

एससी की कई जातियों का हो रहा है ईसाइकरण

निम्बाराम ने कहा कि एससी की अनेक जातियों में द्रुत गति से ईसाईकरण हो रहा है। जयपुर जैसे नगर के अंदर और बाहर सिंधी समाज मे भी ईसाईकरण शुरू हो गया। हमने उनके सन्तो को बताया तो माने नहीं, लेकिन जब उन्हें मिलाया गया तो उन्हें विश्वास हुआ। हमने प्रयास किया तो यह काम रुका।

संत गए तो निकल पड़ी अश्रुधारा

निम्बाराम ने कहा कि एससी और एसटी की बस्तियों में संतों को लेकर गए तो लोगों को विश्वास नहीं हुआ कि सन्त हमारे बस्ती में आए हैं। उन्होंने आवभगत की और संतों ने उनके हाथ से प्रसाद ग्रहण किया तो अश्रुधारा बह निकली। उन्हें लगा की हमारे तो पुरखे तर गए। उन्होंने कहा कि समाज को साथ लिए बिना परिवर्तन संभव नहीं है। लव जिहाद की घटनाएं हो रही है। सुटकेस में डेड बॉडी मिलती है। हिन्दू जहां-जहां घटा है देश बंटा है।

ट्रेंडिंग वीडियो