नाटक से समझाया फेक न्यूज पर आंख बंद कर नहीं करें विश्वास

नाटक से समझाया फेक न्यूज पर आंख बंद कर नहीं करें विश्वास

Avinash Bakolia | Publish: Nov, 10 2018 07:04:12 PM (IST) | Updated: Nov, 10 2018 07:33:50 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

राजस्थान पत्रिका, श्री बद्रीनाथ सांस्कृतिक एवं समाज सेवी संस्था और यस आर्ट के संयुक्त तत्वावधान में हुए नुक्कड़ नाटक
लोगों ने कलाकारों की प्रस्तुति को सराहा और सोच समझकर वोट देने फेक न्यूज से दूर रहने की ली शपथ

जयपुर. आओ, आओ नाटक देखो, आओ आओ नाटक देखो। देखो भाई देखो भाई। सड़क पर अचानक कलाकारों के समूह ने लोगों को आवाज लगाई तो आने-जाने वाले सहसा रूक गए। इसके बाद कलाकारों ने मतदान के प्रति जागरूक करने के लिए नुक्कड़ नाटक के माध्यम से सजीव प्रस्तुति दी। कुछ ऐसा ही नजारा देखने को मिला टोंक फाटक पर शनिवार को आयोजित नुक्कड़ नाटकों में। राजस्थान पत्रिका, श्री बद्रीनाथ सांस्कृतिक एवं समाज सेवी संस्था और यस आर्ट के संयुक्त तत्वावधान 'आओ वोट करेंÓ और 'बेवकूफ पर ***** बनाए जा रहे हैंÓ नुक्कड़ नाटक का मंचन किया गया। नाटक युवा रंगकर्मी मनोज कुमार योगी के निर्देशन में किया गया।


नाटक की शुरुआत 'इंटुक पिंटुक चिंटुक मिंटुक, सुन लो सारे मेरा इनपुट, बात पते की बतलाएं, काम देश के हम आएंÓ गीत से हुई। नुक्कड़ नाटक के माध्यम से लोगों को फेक न्यूज के बारे में बताया। कलाकारों ने अपनी प्रस्तुति में लोगों को जागरूक किया। उन्होंने बताया कि सुनी-सुनाई बातों पर आंख बंद करके विश्वास नहीं करना चाहिए। सोशल मीडिया पर फेक न्यूज फैलाई जा रही है। लोग इन न्यूज को सही मानकर विश्वास भी कर लेते हैं। कलाकारों ने सोशल मीडिया के फायदे और नुकसान को बताया। नुक्कड़ नाटक के माध्यम से बताया कि दो लोग आपस में अपने दोस्त राजू की बात कर रहे थे। अभी राजू को कहीं जाते हुए देखा। दूसरे व्यक्ति ने कहा कि राजू के साथ कोई व्यक्ति था, जो उसे यह कहकर साथ ले गया कि वह टॉफी दिलाएगा। तभी पहले व्यक्ति ने कहा कि अरे, मैंने टीवी में देखा था कि ऐसे अजनबी लोग टॉफी के बहाने बच्चों को ले जाते हैं, कहीं अपने राजू का भी तो किडनैप नहीं हो रहा? फिर एकाएक अफवाह फैल जाती है कि राजू को कोई किडनैप करके ले जा रहा है।

 

बस फिर क्या था भीड़ ने राजू के साथ आए व्यक्ति को घेर लिया और पीटने लगे। तभी वहां से गुजर रहे एक व्यक्ति ने भीड़ को रोका और पीटने का कारण पूछा, लोगों ने कहा यह आदमी राजू का किडनैप करके ले जा रहा है। उस राहगीर ने भीड़ से इसका सबूत मांगा तो भीड़ ने कहा कि हमने तो सिर्फ सुना था। आखिर में कलाकारों ने यही मैसेज दिया कि सजग रहना अच्छी बात है, लेकिन अफवाह फैलाना, फेक न्यूज फैलाना गलत है। बाद में पता चलता है कि वह आदमी राजू का चाचा है जो गांव से आया था। फेक न्यूज के चक्कर में किसी की जान भी जा सकती है। कलाकारों ने नाटक के माध्यम से बताया कि सरकार को सोशल मीडिया पर फेक न्यूज पर रोक लगानी चाहिए। जैसे-जैसे कलाकार अपनी प्रस्तुति दे रहे थे, वैसे-वैसे लोगों की भीड़ जुटना शुरू हुई। दर्शकों ने भी कलाकारों का साथ दिया और उनकी हौसलाअफजाई की।


सोशल मीडिया पर भ्रामक प्रचार को समझें
दूसरे नुक्कड़ नाटक में 'बेवकूफ पर ***** बनाए जा रहे हैंÓ में भी कलाकारों ने लोगों को फेक न्यूज से बचने का संदेश दिया। सोशल मीडिया पर भ्रामक प्रचार-प्रसार हो रहा है उसे समझें। कलाकारों ने इसे भी उदाहरण देते हुए बताया कि पहले भारत में नोटबंदी हुई। हर सोशल मीडिया पर आया कि दो हजार के नोट में चिप लगी होगी। लेकिन नोट में चिप नहीं थी। विज्ञापनों के माध्यम से भी झूठे प्रचार प्रसार किए जा रहे हैं। इन झूठे प्रचार-प्रसार करोगे तो इंटरनेट काम में लोगे जिससे कंपनियों को ही फायदा होगा। अंत में दर्शकों ने सोच-समझकर मतदान करने और फेक न्यूज से दूर रहने की शपथ ली।

हम करेंगे मतदान
कलाकारों ने नुक्कड़ नाटकों के माध्यम से लोगों से अधिक से अधिक मतदान करने की अपील की। साथ ही बताया कि मतदान नागरिकों का अधिकार है। अपने अधिकार को सोच-समझ कर उपयोग करें और सही उम्मीदवार को वोट दें।

इन कलाकारों ने निभाई भूमिका
मनोज कुमार योगी, राजलक्ष्मी, किशन, मुकुल सोनी, अमित स्वामी और दुर्गा सिंह

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned