scriptSukhdev Singh Gogamedi murder: Press conference of Police Commissioner Biju George Joseph | Gogamedi murder: पुलिस कमिश्नर का खुलासाः पहले दिन अंधेरे में किया काम...दूसरे दिन लगा सुराग तो फिर सोई नहीं पुलिस | Patrika News

Gogamedi murder: पुलिस कमिश्नर का खुलासाः पहले दिन अंधेरे में किया काम...दूसरे दिन लगा सुराग तो फिर सोई नहीं पुलिस

locationजयपुरPublished: Dec 11, 2023 08:44:41 am

Submitted by:

Rakesh Mishra

Sukhdev Singh Gogamedi murder: श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी हत्याकांड के दोनों शूटर्स व उनके सहयोगी को पकड़ने के बाद रविवार को जयपुर लाया गया। उसके बाद पुलिस कमिश्नर बीजू जॉर्ज जोसफ ने पत्रकार वार्ता की, जिसमें बताया कि घटना के पहले दिन पुलिस टीम अंधेरे में काम कर रही थी। दूसरे दिन शूटरों के संबंध में अहम सुराग हाथ लगे।

biju_george_joseph.jpg
श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी हत्याकांड के दोनों शूटर्स व उनके सहयोगी को पकड़ने के बाद रविवार को जयपुर लाया गया। उसके बाद पुलिस कमिश्नर बीजू जॉर्ज जोसफ ने पत्रकार वार्ता की, जिसमें बताया कि घटना के पहले दिन पुलिस टीम अंधेरे में काम कर रही थी। दूसरे दिन शूटरों के संबंध में अहम सुराग हाथ लगे। एडिशनल पुलिस कमिश्नर कैलाश बिश्नोई व एडिशनल डीसीपी रामसिंह शेखावत के दिशा निर्देश में तीन निरीक्षकों के नेतृत्व में शूटरों का पीछा करने वाली टीम व अधिकारी गत पांच दिन में मात्र कुछ घंटे भी नहीं सोए। इन सभी पुलिसकर्मियों पर गर्व है। प्रेस वार्ता में एडीजी (क्राइम) दिनेश एम.एन. भी मौजूद रहे।

चाचा के लड़के से फोन करके पूछा पुलिस तो नहीं आई
शूटर्स रोहित सिंह राठौड़ और नितिन फौजी के साथी उधम सिंह ने चाचा के लडक़े को फोन कर पूछा कि पुलिस तो नहीं आई। इतना पूछने के बाद उसने फोन रख दिया। पुलिस ने उधम ङ्क्षसह की लोकेशन ट्रेस की तो वह मनाली की आई। पुलिस टीम मनाली पहुंची तो आरोपी टैक्सी करके चंडीगढ़ पहुंच गए। पुलिस टीम फिर चंडीगढ़ के लिए रवाना हुई और वहां एक होटल में ठहरे तीनों आरोपियों को दबोच लिया। इसमें दिल्ली पुलिस ने भी सहयोग किया।
यह भी पढ़ें

सुखदेव सिंह गोगामेड़ी हत्याकांड: जयपुर पुलिस कमिश्नर ने किया बड़ा खुलासा, ऐसे पकड़े गए आरोपी

इनकी भी रही भूमिका
आरोपियों को पकड़ने में जेडीए के पुलिस निरीक्षक रविन्द्र प्रताप सिंह, सुनील जांगिड़ और सीएसटी आयुक्तालय जयपुर के मनीष शर्मा, पुलिस निरीक्षक स्पेशल सेल दिल्ली पुलिस राकेश कुमार और कांस्टेबल महेश की भूमिका रही।

ट्रेंडिंग वीडियो