20 हजार की रिश्वत लेते आबकारी निरीक्षक गिरफ्तार

-एसीबी जैसलमेर ने की कार्रवाई
-अपने कार्यालय में ही रिश्वत ले रहा था निरीक्षक

By: Deepak Vyas

Published: 15 Jul 2021, 11:08 PM IST

जैसलमेर. भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो, एसीबी जैसलमेर की चौकी ने एक और रिश्वतखोर सरकारी कर्मचारी को धर दबोचा है। गुरुवार को की गई कार्रवाई में एसीबी ने आबकारी विभाग के निरीक्षक धर्मेन्द्र कुमार चौधरी को शराब के ठेकेदार से 20 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए उसके कार्यालय से रंगे हाथों पकड़ा और निरीक्षक की जेब से 20 हजार रुपए बरामद किए। एसीबी चौधरी को शुक्रवार को एसीबी कोर्ट जोधपुर में अग्रिम कार्रवाई के लिए पेश करेगी। ब्यूरो की ओर से की गई कार्रवाई के बारे में एसीबी के उपअधीक्षक अन्नराज सिंह राजपुरोहित ने पत्रकारों को जानकारी दी।
मंथली रिश्वत के मांग रहा था 30 हजार
उपअधीक्षक ने बताया कि बुधवार को मोकला में अपनी पत्नी के नाम से शराब का ठेका चलाने वाले घेवराराम ने आबकारी निरीक्षक के खिलाफ परिवाद दर्ज करवाया कि वह बिना किसी बाधा के ठेका चलाने के लिए प्रतिमाह 10 हजार रुपए के हिसाब से पिछले तीन महीनों के 30 हजार रुपए की मांग कर रहा है। इस पर एसीबी ने शिकायत का सत्यापन करवाया और शिकायत को सत्य पाए जाने पर गुरुवार को ट्रैप को अंजाम दिया। परिवादी दो महीनों के हिसाब से 20 हजार रुपए की व्यवस्था कर पाया। धर्मेन्द्र कुमार चौधरी पुत्र गंगाराम चौधरी निवासी कवास, जिला बाड़मेर ने यह राशि उससे लेकर अपनी पेंट की जेब में रख ली। जहां से ब्यूरो की टीम ने राशि को बरामद करते हुए उसे पकड़ा।
यह थे टीम में शामिल
एसीबी की टीम में उपअधीक्षक अन्नराज सिंह के साथ उपनिरीक्षक चेतनराम, हैड कांस्टेबल जेठाराम, एसए मुकेश शर्मा तथा कांस्टेबल किशनाराम, संग्रामसिंह, दुर्गसिंह व शेराराम शामिल थे। उपअधीक्षक ने बताया कि ब्यूरो के उपमहानिरीक्षक डॉ. विष्णुकांत के निर्देशन में एक टीम धर्मेन्द्र कुमार के बाड़मेर स्थित निवास की तलाशी की कार्रवाई कर रही है।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned