कक्षा अध्यापन कौशल विकास एवं नवाचार परक शिक्षण को प्रोत्साहित करने की कवायद

शिक्षकों में ज्ञान संवद्र्धन करेगी ज्ञान गंगा
-संकाय सदस्यों को मिलेगा उनके संबंधित विषयों में शोध अभिवृत्ति प्रोत्साहन

By: Deepak Vyas

Published: 27 Dec 2020, 10:59 AM IST


जैसलमेर. स्थानीय एसबीके राजकीय महाविद्यालय में कार्यरत संकाय सदस्यों को उनके संबंधित विषयों में अद्यतन ज्ञान संवद्र्धन, शोध अभिवृत्ति प्रोत्साहन, कक्षा अध्यापन कौशल विकास एवं नवाचार परक शिक्षण को प्रोत्साहित करने के लिए कॉलेज शिक्षा विभाग की ओर से ज्ञान गंगा कार्यक्रम आरंभ किया है। प्राचार्य अशोक कुमार दलाल के अनुसार बीकानेर कॉलेज, कला सीकर एवं कन्या महाविद्यालय की ओर से शार्ट टर्म प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करवाए गए। इन कार्यक्रमों के लाभार्थी शिक्षकों द्वारा दिए गए फीडबैक एवं शिक्षा गुणवत्ता सुधारने में इस कार्यक्रम की उपादेयता को देखते हुए इसे वृहद स्तर पर क्रियान्वित करवाने के लिए 11 जनवरी से 20 फरवरी तक 5 चरणों में 23 राजकीय महाविद्यालयों को ज्ञान गंगा प्रशिक्षण कार्यक्रमों के आयोजन का दायित्व दिया है। महाविद्यालय की ओर से कुल 46 प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करवाए जाएंगे।
क्या है ज्ञान गंगा कार्यक्रम
आयुक्त कॉलेज शिक्षा संदेश नायक ने बताया कि नई शिक्षा नीति में दिए गए निर्देशों के अनुसार विभागीय स्तर पर शिक्षा में गुणवत्ता सुधार, शिक्षक गुणवत्ता संवद्र्धन एवं प्रभावी शिक्षण व्यवस्था के हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। इसके तहत ज्ञान गंगा एक उपागम है। ज्ञान गंगा कार्यक्रम अंतर्गत आयोजित कार्यक्रमो का अब तक का प्रदर्शन काफी प्रभावी एवं सकारात्मक फीडबैक रहा है।
ज्ञान गंगा कार्यक्रम में प्रत्येक विषय के अंतर्गत 6 दिन के शार्ट प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करवाए जाएंगे। जिसमें राज्य के महाविद्यालयों के श्रेष्ठ शिक्षकों, विश्वविद्यालय से आमंत्रित संकाय सदस्यों एवं राज्य के बाहर के श्रेष्ठ शोधपरक अभिवृत्ति वाले शिक्षाविदों को रिसोर्स पर्सन के रूप में आमंत्रित किया जाएगा। जानकारों की मानें तो यह कार्यक्रम शिक्षकों में शोध अभिवृत्ति को भी प्रोत्साहित करेगा। इन कार्यक्रमों को आयोजक महाविद्यालयों में स्थापित नवाचार कौशल विकास प्रकोष्ठ के द्वारा करवाने के निर्देश दिए गए हैं। इसयके साथ ही राज्य स्तर पर इस योजना की क्रियान्वित की मॉनिटरिंग एवं कोआर्डिनेशन के लिए आयुक्तालय के नवाचार प्रकोष्ठ को प्रभारी बनाया गया है।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned