scriptPatta distribution will not be easy from pucca city to unpaved settlem | पक्के शहर से कच्ची बस्तियों में आसान नहीं होगा पट्टा वितरण | Patrika News

पक्के शहर से कच्ची बस्तियों में आसान नहीं होगा पट्टा वितरण

-2 अक्टूबर से प्रशासन शहरों के संग अभियान होगा शुरू
-सोनार दुर्ग व 100 मीटर के क्षेत्र मे मालिकाना हक को लेकर नियमों की जटिलता

जैसलमेर

Published: July 29, 2021 09:03:31 am


जैसलमेर. राज्य सरकार गांधी जयंती यानी आगामी 2 अक्टूबर से प्रशासन शहरों के संग अभियान चलाने जा रही है। अभियान का इंतजार जैसलमेर मुख्यालय पर हजारों कच्ची बस्ती निवासियों के साथ रियासतकालीन शहरी क्षेत्र में बसे लोग कर रहे हैं। उन्हें उम्मीद है कि अभियान के तहत उन्हें अपनी जमीन का मालिकाना हक मिल सकेगा। स्वयं सरकार ने प्रदेश भर में अभियान के तहत 10 लाख पट्टे जारी करने का लक्ष्य रखा है, लेकिन जैसलमेर शहरी क्षेत्र में अभियान के तहत कई चुनौतियां व पेचीदगियां नगरपरिषद प्रशासन के सामने उपस्थित हैं। जब उनका निवारण करते हुए संबंधित लोगों को पट्टे जारी किए जाएंगे तब ही सही मायनों में अभियान का लाभ आमजन तक पहुंच सकेगा।
अवैध होने का दंश
जिस ऐतिहासिक सोनार दुर्ग ने जैसलमेर को अलहदा पहचान दिलाई है। उसमें पीढिय़ों से निवास कर रहे लोगों तथा उसके आसपास 100 मीटर की परिधि में बसे हजारों मकान मालिकों के पास पट्टे नहीं हैं। जिसके अभाव में दुर्ग के बाशिंदों को तो अवैध होने तक का दंश झेलना पड़ता है। इस रियासतकालीन बसावट में रहने वाले पट्टे के अभाव में किसी बैंक आदि से कर्ज तक नहीं ले पाते। इसमें भी ज्यादा दिक्कत उन इमारतों को लेकर हैए जहां होटलेंए दुकानें व अन्य वाणिज्यिक गतिविधियां संचालित हो रही हैं। ऐसे 410 भूखंडों का सर्वे नगरपरिषद करवा चुकी है। उन्हें मिश्रित उपयोग संबंधी पट्टे दिलाए जाने पर ही संबंधित लोगों को वास्तविक लाभ मिल सकेगा। ऐसे ही पूर्व राजघराने की ओर से बेची गई सम्पत्तियों के करीब दो सौ प्रकरण 69ए के तहत दर्ज करते हुए उनमें पट्टे दिए जाने की जरूरत है।
कच्ची बस्तियों का दर्द
जैसलमेर मुख्यालय पर वर्तमान में नगरपरिषद में आठ सर्वेक्षित कच्ची बस्तियां हैं। उनके अलावा राणीसर व सोनाराम की ढाणी बस्तियों में सैकड़ों परिवार आबाद हैं। उन्हें अधिसूचित करवाए बिना वहां पट्टा वितरण नहीं हो सकता। दूसरी तरफ 1998 तथा 2004 में क्रमश: 6113 व 7226 परिवारों का कच्ची बस्तियों में सर्वे किया गया, जिनमें से महज 3045 को ही अब तक पट्टा मिल पाया है। शेष परिवारों में 8127 आवेदन तो वर्तमान में नगरपरिषद कार्यालय में लम्बित हैं। कई बस्तियों में नियमन राशि जमा करवाने के बावजूद कब्जा दिलाया जाना बाकी है तो कहीं एक भूखंड पर एकाधिक सर्वेधारी हैं। ऐसे कई प्रकरण पेचीदा व विवादों से भरे हुए हैं। जिनका निपटारा करवाया जाना कतई आसान नहीं होगा। गत वर्षों के दौरान सस्ते भूखंड के लालच में सर्वेक्षित कच्ची बस्तियों के अलावा शहर भर के बाहरी भागों में हजारों की तादाद अतिक्रमण किए जा चुके हैं। ऐतिहासिक गड़ीसर समेत कई जलाशयों के कैचमेंट क्षेत्र तक में अवैध कब्जे हो चुके हैं। और तो और अतिक्रमणकारियों ने नगरपरिषद की प्रस्तावित आवासीय कॉलोनी वाले क्षेत्रों को भी नहीं बख्शा है।
पक्के शहर से कच्ची बस्तियों में आसान नहीं होगा पट्टा वितरण
पक्के शहर से कच्ची बस्तियों में आसान नहीं होगा पट्टा वितरण
तत्परता से किया जाएगा काम: कल्ला
प्रस्तावित प्रशासन शहरों के संग अभियान के तहत पट्टा वितरण का कार्य नगरपरिषद तत्परता से करेगी। गत दिनों जोधपुर में स्वायत्त शासन मंत्री की मौजूदगी में आयोजित अभियान संबंधी बैठक में मेरे द्वारा दुर्ग व आसपास के क्षेत्रों में पट्टे जारी करवाने का मुद्दा उठाया गया था। जिस पर उच्चाधिकारियों ने सहानुभूतिपूर्वक विचार करने का आश्वासन दिया गया।
-हरिवल्लभ कल्ला, सभापति, नगरपरिषद जैसलमेर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखGod Power- इन तारीखों में जन्मे लोग पहचानें अपनी छिपी हुई ताकत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशSharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावमौसम विभाग का बड़ा अलर्ट जारी, शीतलहर छुड़ाएगी कंपकंपी, पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचेइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

Uttarakhand Election 2022: रुद्रप्रयाग में अमित शाह ने पूछा, कैसी सरकार चाहिए, विकास या भ्रष्टाचार वाली?शिवराज सरकार के मंत्री ने राष्ट्रपिता को बताया फर्जी पिता, तीन पूर्व पीएम पर भी साधा निशानापूर्व CM अशोक चव्हाण ने किया खुलासा: BJP सांसद मुरली मनोहर जोशी ने रिपोर्ट में खुद कहा 'PM मोदी सेना के साथ खिलवाड़ कर रहे'NeoCov: नियोकोव वायरस के लक्षण, ठीक होने की दर, जानिए सबकुछPandit Jasraj Cultural Foundation: संगीत के क्षेत्र में भी होना चाहिए तकनीक और आईटी का रिवॉल्यूशन: PM ModiCorona: गुजरात में कोरोना को मात दे चुके हैं 10 लाख से अधिक लोगकाशी विश्वनाथ मॉडल पर बनेगा महांकाल कॉरीडोर, सिंहस्थ-28 पर अभी से कामCovid-19 Update: महाराष्ट्र में बीते 24 घंटे में आए कोरोना के 24,948 नए मामले, 103 मरीजों की मौत हुई।
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.