ग्राम्यांचलों में महिला सशक्तिकरण का आदर्श स्वरूप दर्शाएं : गोयल

-नवचयनित साथिनों की प्रशिक्षण व आमुखीकरण कार्यशाला सम्पन्न

By: Deepak Vyas

Published: 30 Dec 2020, 07:52 PM IST

जैसलमेर. महिला अधिकारिता विभाग की ओर से नव चयनित साथिनों के लिए मंगलवार को जैसलमेर के बाल विकास परियोजना कार्यालय में एक दिवसीय आधारभूत प्रशिक्षण एवं आमुखीकरण कार्यशाला हुई। इसमें संभागी साथिनों को उनके कार्यकलापों, गतिविधियों, विभागीय योजनाओं, कार्यक्रमों एवं अभियानों आदि के बारे में विस्तार से प्रशिक्षण दिया गया। महिला अधिकारिता विभाग के उप निदेशक अशोक कुमार गोयल ने साथिनों को संबोधित करते हुए कहा कि वे ग्राम्यांचलों में महिलाओं और बच्चों के विकास तथा संरक्षण की योजनाओं और कार्यक्रमों के बारे में जरूरतमन्दों को जागरुक करते हुए लाभान्वित करें और विभागीय उद्देश्यों के अनुरूप लक्ष्य समूहों को लाभान्वित करें। संरक्षण अधिकारी चन्द्रवीरसिंह भाटी ने प्रशिक्षण के उद्देश्यों पर प्रकाश डाला। महिला पर्यवेक्षक रेखा गर्ग ने महिलाओं और बच्चों के सुनहरे भविष्य निर्माण में साथिनों की महत्वपूर्ण भूमिका को रेखांकित किया। महिला शक्ति केन्द्र की जिला महिला कल्याण अधिकारी चन्द्रा राठौड़ ने महिला सशक्तिकरण के लिए जरूरी बुनियादी कारकों पर प्रकाश डाला ।
इंदिरा महिला शक्ति योजना का लाभ दिलाएं
केन्द्र की जिला समन्वयक रीना छंगानी ने महिलाओं के उत्थान व सम्बलन से संबंधित तमाम योजनाओं की जानकारी दी। कार्यशाला में महिला सुरक्षा सलाह केन्द्र से मनीषा बिस्सा ने महिलाओं की सुरक्षा के लिए जरूरी तत्वों तथा सुरक्षा सलाहकार केन्द्र की गतिविधियों का परिचय दिया। सखी केन्द्र से प्रबन्धक मधु पुरोहित एवं केस वर्कर रानी चौहान ने केन्द्र से संबंधित कार्यकलापों के बारे में बताया। जिला समन्वयक बलवन्त सिंह ने भी मार्गदर्शन दिया।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned