scriptStoned eyes waiting to be laid | रेल मार्ग बिछने के इंतजार में पथरा गई आंखें | Patrika News

रेल मार्ग बिछने के इंतजार में पथरा गई आंखें

- लंबी दूरी की रेलों के लिए तैयार किया जाना था पांच किमी का रेल मार्ग
- केंद्रीय मंत्री ने दिलाया था भरोसा

जैसलमेर

Updated: April 16, 2022 07:55:24 pm

पोकरण. परमाणु परीक्षण के बाद विश्व मानचित्र पर उभरे पोकरण में आजादी से पहले रेलवे स्टेशन की स्थापना अवश्य की गई, लेकिन वर्षों से यह रेलवे स्टेशन लंबी दूरी की रेलों को तरस रहा है। क्षेत्र के लोगों की ओर से कई वर्षों से लंबी दूरी की रेलों को पोकरण से जोडऩे की मांग भी की जा रही है, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। गौरतलब हैै कि वर्ष 1939 में पोकरण में रेलवे स्टेशन की स्थापना की गई थी। तब से यहां समय-समय पर रेलवे स्टेशन का विकास व विस्तार होता गया, लेकिन आज भी कई रेल सेवाएं पोकरण से बाईपास होकर निकलती है। जिसके कारण पोकरण इन रेल सेवाओंं से वंचित है। वर्तमान में यहां मात्र तीन जोड़ी रेलों का ही संचालन होता है। बीकानेर, हावड़ा, बांद्रा जैसी लंबी दूरी की रेलों का संचालन रामदेवरा से सीधे जैसलमेर होता है। ये रेलें पोकरण नहीं आने के कारण क्षेत्र के लोगों को रामदेवरा जाकर यात्रा करनी पड़ रही है। जिससे उन्हें परेशानी हो रही है। इस संबंध में कई बार क्षेत्र के लोगों ने अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों से मांग भी की, लेकिन जिम्मेदार कोई कार्रवाई नहीं कर रहे है। जिससे आमजन को मजबूरन बसों से अथवा रामदेवरा जाकर इन रेलों से सफर करना पड़ रहा है।
35 करोड़ से होना था पांच किमी अतिरिक्त लाइन का निर्माण
लंबी दूरी की बीकानेर-लालगढ़ एक्सप्रेस, हावड़ा एक्सप्रेस व जैसलमेर-बांद्रा टर्मिनस एक्सप्रेस का पोकरण होकर संचालन करने को लेकर केन्द्रीय मंत्री व सांसद गजेन्द्रसिंह शेखावत से लोगों ने मांग की। जिस पर उन्होंने अतिरिक्त रेल लाइन बिछाने के लिए भरोसा दिलाया था। इस संबंध में उनकी ओर से रेलवे विभाग से संपर्क कर प्रस्ताव भी तैयार करवाया गया। इस प्रस्ताव में पांच किमी अतिरिक्त रेल लाइन के लिए करीब 35 करोड़ रुपए खर्च करने का अनुमान लगाया गया था। प्रस्ताव तैयार होने के बाद मंत्री का पोकरण में स्वागत व अभिनंदन कार्यक्रम भी आयोजित किया गया। इसके बाद 2019 लोकसभा चुनाव आ गए और चुनाव संपन्न होने के बाद फाइल ही कागजों में दफन हो गई।
कब पूरा होगा इंतजार
2019 के चुनाव के बाद जोधपुर-पोकरण सांसद गजेन्द्रसिंह शेखावत को केन्द्र में जल शक्ति मंत्रालय की बड़ी जिम्मेदारी मिल गई। कार्यभार बढ़ जाने की स्थिति में केन्द्रीय मंत्री मानो इस भरोसे को भूल चुके है। इस संबंध में कोई कार्रवाई नहीं होने के कारण लंबी दूरी की रेलों का पोकरण स्टेशन से जुड़ाव का इंतजार भी लंबा होता जा रहा है।
रेल मार्ग बिछने के इंतजार में पथरा गई आंखें
रेल मार्ग बिछने के इंतजार में पथरा गई आंखें

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीचंडीमंदिर वेस्टर्न कमांड लाए गए श्योक नदी हादसे में बचे 19 सैनिकआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितराहुल गांधी ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा - 'नेहरू ने लोकतंत्र की जड़ों को किया मजबूत, 8 वर्षों में भाजपा ने किया कमजोर'Renault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चIPL 2022, RR vs RCB Qualifier 2: RCB ने राजस्थान को जीत के लिए दिया 158 रनों का लक्ष्यपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.