scriptउठे हाथ, किया श्रमदान: नाडी की खुदाई कर संरक्षण का लिया संकल्प | - Took a pledge to protect the Nadi by digging it | Patrika News
जैसलमेर

उठे हाथ, किया श्रमदान: नाडी की खुदाई कर संरक्षण का लिया संकल्प

राजस्थान पत्रिका की ओर से पर्यावरण संरक्षण को लेकर चलाए जा रहे अमतम् जलम् अभियान के अंतर्गत रविवार को क्षेत्र के माड़वा गांव स्थित मॉडल तालाब गोरलाई नाडी पर श्रमदान कार्यक्रम आयोजित किया गया।

जैसलमेरJun 09, 2024 / 08:25 pm

Deepak Vyas

pokaran
राजस्थान पत्रिका की ओर से पर्यावरण संरक्षण को लेकर चलाए जा रहे अमतम् जलम् अभियान के अंतर्गत रविवार को क्षेत्र के माड़वा गांव स्थित मॉडल तालाब गोरलाई नाडी पर श्रमदान कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस दौरान बड़ी संख्या में ग्रामीणों ने दो घंटे तक श्रमदान कर तालाब व पर्यावरण संरक्षण में अपनी भागीदारी सुनिश्चित की। गौरतलब है कि राजस्थान पत्रिका की ओर से सामाजिक सरोकारों के अंतर्गत परंपरागत पेयजल स्त्रोतों के संरक्षण के लिए आमजन को जागरुक करने के लिए अमृतम् जलम् अभियान चलाया जा रहा है। अभियान के तहत क्षेत्र के माड़वा गांव स्थित मॉडल तालाब गोरलाई नाडी में श्रमदान कार्यक्रम आयोजित किया गया। वर्षों पूर्व गोरलाई नाडी में बारिश के दौरान संग्रहित होने वाले पानी से माड़वा सहित आसपास स्थित ढाणियों के लोग अपनी प्यास बुझाते थे। तालाब में पानी कई महीनों तक जमा रहता था और ग्रामीणों के साथ मवेशी केे काम आता था, लेकिन वर्षों से संरक्षण नहीं होने के कारण पायतन में अथाह रेत जमा हो रही है। इसी को लेकर ग्राम पंचायत माड़वा की ओर से इसे मॉडल तालाब के रूप में विकसित कर संरक्षण के प्रयास किए जा रहे हैं। राजस्थान पत्रिका के अभियान के तहत रविवार को सुबह ८ बजे बड़ी संख्या में ग्रामीण तालाब पर जुटे। सरपंच फजलदीन मेहर ने तगारी में रेत भरकर श्रमदान की शुरुआत की। इसके बाद करीब दो घंटे तक ग्रामीणों की ओर से यहां श्रमदान किया गया और रेत को तालाब की पाल पर डाला गया। जिससे तालाब का सौंदर्य खिल उठा।

पत्रिका के अभियान बन रहे प्रेरणा स्त्रोत

सरपंच मेहर ने कहा कि पत्रिका की ओर से सामाजिक सरोकारों के तहत अमृतम् जलम्, हरयाळो राजस्थान जैसे कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। इन अभियानों से आमजन को प्रेरणा मिल रही है और तालाबों के साथ ही पर्यावरण संरक्षण को बढ़ावा मिल रहा है। उन्होंने इन अभियानों से आमजन को प्रेरित होकर कार्य करने और पर्यावरण संरक्षण को लेकर कार्य करने की बात कही। गांव के शिक्षाविद् हुकमाराम दैया ने पत्रिका के अभियानों व कार्यक्रमों की सराहना करते हुए कहा कि पत्रिका समाचारों के साथ ही सामाजिक सरोकारों के भी कार्यों में अग्रणी भूमिका निभाती है। इस मौके पर करणसिंह, इन्द्रसिंह, अमरसिंह, शिवलाल, नरबू, नेनूकंवर, खेतूकंवर, पेंपोकंवर, नजू, हसीना सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित रहे। राजस्थान पत्रिका के अमृतम जलम अभियान की सार्थकता बताते हुए सभी आगतुंको को दीपक सोनी ने धन्यवाद ज्ञापित किया।

Hindi News/ Jaisalmer / उठे हाथ, किया श्रमदान: नाडी की खुदाई कर संरक्षण का लिया संकल्प

ट्रेंडिंग वीडियो