डिस्कॉम न े अपने ही कार्मिक ेा बता दिया दोषी, विरोध में उतरे कार्मिक

डिस्कॉम न े अपने ही कार्मिक ेा बता दिया दोषी, विरोध में उतरे कार्मिक

Khushal Singh Bhati | Publish: Sep, 09 2018 11:04:14 AM (IST) Jalore, Rajasthan, India

अभियंताओं के खिलाफ कार्रवाई की मांग उठी

जालोर. कर्मचारी संगठन बेजोड़ ने विद्युत दुर्घटना में घायल हुए डिस्कॉम टेक्नीकल हेल्पर विनोदकुमार को अधिकारियों की ओर से ज्ञापन में दोषी ठहराकर उसके विरुद्ध कार्रवाई करने पर रोष जताया है। इसको लेकर डिस्कॉम कर्मचारियों की संयुक्त बैठक शनिवार को हुई।
जिसमें पीडि़त कर्मचारी को न्याय दिलाने की बजाय दोषी अभियताओं का बचाव करने पर कर्मचारी वर्ग ने नाराजगी व्यक्त की। वहीं घटना की जांच इलेक्ट्रीकल्स इंस्पेक्टर से कराने पर सहमति बनी। बैठक में जिला स्तर की विद्युत कर्मचारियों की जायज मांगों, उनके साथ हो रहे शोषण व प्रताडऩा को उचित माध्यम से मय सबूतों के साथ उच्चाधिकारियों और मुख्यमंत्री को प्रतिनिधि मंडल गठित कर ज्ञापन सौंपने का निर्णय किया गया। कर्मचारी वर्ग ने निगम का अहित पहुंचाने वाले अभियंताओं के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की। बैठक में विभिन्न निर्दोष कर्मचारियों जिनके विरुद्ध निगम की ओर से कार्रवाई की गई है, उनके सम्बंध में ज्ञापन देने का भी निर्णय किया गया। यह सभी कार्य विद्युत कर्मचारी संघर्ष समिति के माध्यम से किया जाएगा। जिसका शनिवार को विधिवत रूप से गठन किया गया। इस दौरान जिला व सह संयोजक सहित पांच सदस्यों को सर्वसम्मति से मनोनीत किया गया। बैठक में जालोर से विनोदकुमार आर्य, धुम्बडिय़ा से सबलसिंह, भीनमाल लेखाकार रामचन्द्र, सायला से गोपाललाल, उम्मेदपुर से लिपिक देवाराम, उम्मेदाबाद से हरिमोहन मीणा, आहोर से जीतेन्द्र देवासी, जसवंतपुरा से भागीरथ चुयल, बागरा से अशोक अवस्थी, सांचौर से दिनेशकुमार, जालोर से देवनारायण मीणा, धीरजकुमार दवे, जालमसिह सिंदल, दिनेशकुमार यादव, ओमप्रकाश माली, अचलाराम चौधरी, अमितशर्मा, शेरसिंह मीणा, रामवीर मीणा, इमरान अली, उत्तम चौधरी, जितेन्द्र व विजय सैनी सहित कई कार्मिक मौजूद थे।

आपसी रंजिश को लेकर दो गुट भिड़े, दो जने गंभीर घायल
सांचौर ञ्च पत्रिका. शहर में शुक्रवार शाम करीब पांच बजे आपसी रंजिश को लेकर दो गुट भिड़ गए। जिससे दो जने गंभीर रूप से घायल हो गए। जिन्हें शहर के निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया। जहां पर उनका इलाज चल रहा है। पुलिस ने बताया कि कीलवा निवासी विक्रमसिंह (२४) पुत्र भरतसिंह ने रिपोर्ट पेश कर बताया कि शुक्रवार शाम करीब ५ बजे विजेन्द्रसिंह (३४) पुत्र वागसिंह राजपूत निवासी कीलवा बाइक पर मेहता मार्केट से केश लेकर जा रहा था। विवेकानंद सर्किल के पास स्थित एसबीआई शाखा से थोड़ा आगे पहुंचने पर भलिया उर्फ सचिन पुत्र रामाराम, ओमप्रकाश पुत्र बाबूलाल, सुरेश पुत्र बाबूलाल, नंदीया पुत्र भागचंद, सुनील पुत्र गेनाराम, नरेश पुत्र बाबूलाल सभी विश्नोई निवासी इन्द्रा कॉलोनी सांचौर व तीन अन्य एक सफेद रंग की बिना नंबर कीगाड़ी में सवार होकर आए और धारदार धारिया, चाकू व फरसे से हत्या व लूट के आशय से रास्ता रोककर घेर लिया। फिर आरोपी ओमप्रकाश ने विजेन्द्रसिंह पर फरसे से सिर पर वार किया। विजेन्द्रङ्क्षसह ने बचाव के लिए हाथ सामने किया। जिससे उसका हाथ कट गया। इस दौरान आरोपियों ने चाकू व धरियों से हमला कर मारपीट की। जिससे उसे गहरी चोटें लगी। इस दौरान बचाव में पास में किराणे की दुकान में घुसा, लेकिन आरोपियों ने दुकान में अनधिकृत रूप से घुसकर मारपीट की। साथ ही उसके पास २ लाख ५० हजार रुपयों से भरा बैग लूटकर ले गए। आरोपियों ने फाईनेंस की प्रतिस्पद्र्धा के चलते उस पर हमला किया था। पुलिस ने पीडि़त की रिपोर्ट पर प्रकरण दर्ज कर आरोपियों की तलाश में छापेमारी शुरू की। वहीं नाकाबंदी करवाई। समाचार लिखे जाने तक एक भी आरेापी पकड़ में नहीं आया था।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned