टिड्डी के आगमन की सूचना से अलर्ट दिखे किसान

www.patrika.com/rajasthan-news

By: Jitesh kumar Rawal

Published: 06 Jan 2020, 08:15 AM IST

क्षेत्र से सटे गांवों में टिड्डी दल के हमले व पड़ाव के बाद यहां भी किसान चिंतित


आहोर. आहोर क्षेत्र से सटे गांवों में टिड्डी दल के हमले व पड़ाव के बाद यहां भी किसान चिंतित है। क्षेत्र में टिड्डी दल के प्रवेश की संभावना के चलते रविवार को दिनभर प्रशासन अलर्ट रहा। हालांकि शाम तक आहोर क्षेत्र में कहीं पर भी टिड्डी दल के प्रवेश की सूचना नहीं है।
जानकारी के अनुसार टिड्डियों का एक दल क्षेत्र में रायथल से होते हुए बाड़मेर जिले की सीमा की ओर से बढ़ गया। जिस पर क्षेत्र के काश्तकारों ने अभी तक राहत की सांस ली हुई है। गौरतलब है कि क्षेत्र में टिड्डी दल के प्रवेश की संभावना के चलते प्रशासन ने अलर्ट जारी करते हुए क्षेत्र की सीमाओं पर स्थित गांवों में कार्यरत पटवारियों समेत कार्मिकों को बचाव के लिए पूरी तरह से मुस्तैद रहने के निर्देश जारी किए। वहीं क्षेत्र के काश्तकारों को टिड्डी से बचाव के लिए बचाव सामग्री के साथ तैयार रहने के निर्देश दिए गए। उपखंड अधिकारी प्रशांत शर्मा ने बताया कि क्षेत्र के रायथल में टिड्डियों के प्रवेश की सूचना मिली थी लेकिन टिड्डी दल रायथल से होते हुए बाड़मेर जिले की सीमा की ओर बढ़ गया। क्षेत्र के मेड़ा उपरला से टिड्डी दल के क्षेत्र में प्रवेश करने की आशंका थी, लेकिन अभी तक क्षेत्र में कही पर भी टिड्डी दल के प्रवेश की सूचना नहीं है।


टिड्डी दल पहुंचने की संभावना से पहले की तैयारी
भाद्राजून. जिले में इन दिनों टिड्डी दल का प्रकोप बना होने के कारण सम्पूर्ण जिले में किसान घबराए हुए हैं। जिले में किसानों की मेहनत पर पानी फेरने के बाद काफी हद तक फसलों का नुकसान होने की आशंका हैं। भाद्राजून समेत क्षेत्र के आसपास के किसानों को भी टिड्डी दल से फसलों के नुकसान का डर सता रहा हैं। ऐसे में भाद्राजून, रामा, घाणा, बरवां, किशनगढ़, मोहिवाड़ा समेत कई गांवों के किसानों को डर सता रहा है। वहीं घाणा गांव के किसानों ने टिड्डी के बचाव को लेकर अभी से ही कमर कस ली हैं। किसानों ने फसलों के बचाव की पूर्व तैयारी की जा रही है। इसमें रासायनिक दवाइयां, धुएं के लिए ईंधन, टायर आदि सामग्रियों का स्टोर किया जा रहा है। उधर, उपतहसील स्तर पर प्रशासन की ओर से अभी तक कोई हलचल दिखाई नहीं दे रही है। पटवारी बुद्धाराम बिश्नोई ने बताया कि टिड्डी दल के बचाव को लेकर पटवार मंडल भाद्राजून, बांकली समेत गांवों में टै्रक्टरों पर टंकी लगा कर रासायनिक दवाएं रखी गई है। पटवार मंडल भाद्राजून में टिड्डी दल के प्राकृतिक आपदा से निपटने के लिए ट्रैक्टर मालिकों ने सहमति पत्र भी दिया है।

Jitesh kumar Rawal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned