दीवारों पर एसी का दिखावा और पंखों से गर्म हवा के थपेड़े झेल रहे मरीज

दीवारों पर एसी का दिखावा और पंखों से गर्म हवा के थपेड़े झेल रहे मरीज

Jitesh kumar Rawal | Publish: May, 17 2019 04:48:51 PM (IST) Jalore, Jalore, Rajasthan, India

www.patrika.com/rajasthan.news

वार्डों में कूलर तक नहीं, मरीज हो रहे हलकान, अस्पताल आ रहे मरीजों की बढ़ रही मुश्किल


जालोर. इन दिनों समूचा प्रदेश भीषण गर्मी में तप रहा है, लेकिन जिला अस्पताल में भर्ती मरीजों को राहत देने के कोई प्रबंध नहीं किए जा रहे। तेज धूप से लू-तापघात का खतरा भी मंडरा रहा है, लेकिन अस्पताल में बचाव के ठोस इंतजाम तो दूर कूलर तक नहीं लगाए। हालांकि एक-दो वार्डों में एसी (एयर कंडीशनर) भी दीवारों पर सजे हुए हैं, लेकिन सुचारू नहीं है। ऐसे में वार्ड में भर्ती मरीज मजबूरन पंखों से आते गर्म हवा के थपेड़े झेल रहे हैं। दूसरी ओर आसमान से आग बरस रही है, लेकिन वार्डों में कूलर तक नहीं है। इससे मरीजों को बीमारी के साथ गर्मी से भी जूझना पड़ रहा है। अस्पताल में राहत के ठोस इंतजाम नहीं होने से मरीज हलकान हो रहे हैं, लेकिन जिम्मेदारों की नींद नहीं खुल रही। ऐसे में भीषण गर्मी में अस्पताल आने वाले मरीजों की मुश्किलें और बढ़ रही है।


दिखावे के लिए रखे कूलर
हालांकि कुछ वार्डों में जरूर एक-एक कूलर लगाए गए है, लेकिन लम्बे-चौड़े वार्ड में यह व्यवस्था नाकाफी साबित हो रही है। जिला अस्पताल के मेल वार्डों में दो-दो कूलर लगा रखे हैं, लेकिन दिखावे के लिए। अधिकतर समय बंद ही रहते हैं। इन कूलर को कभी-कभार ही स्टार्ट किया जा रहा, जिससे मरीजों को राहत नहीं मिल पा रही।


नहीं कर रहे राहत के प्रयास
नियमानुसार गर्मी की शुरुआत में ही मरीजों को राहत देने के प्रयास हो जाने चाहिए थे, लेकिन भीषण गर्मी का दौर शुरू होने के बावजूद कुछ नहीं हुआ। गर्मी में मरीजों को राहत देने के प्रयास तक नहीं किए जा रहे। इससे अस्पताल आने वाले मरीज व उनके परिजन भारी दिक्कत उठा रहे हैं।

वार्डों में एसी है पर सुचारू नहीं
अस्पताल के मेल मेडिकल वार्ड में एसी लगे हुए हैं, लेकिन इनमें से एक भी सुचारू नहीं है। यहीं स्थिति फिमेल वार्ड की है। बर्न यूनिट में संचालित इस वार्ड में भी एसी लगे हुए हैं, लेकिन बंद पड़े हैं। भीषण गर्मी के बावजूद ये उपकरण दीवारों पर मानों दिखावे के लिए सजे हुए हैं। बिना काम आए ही एसी खराब हो रहे हैं, लेकिन इनको शुरू करने पर ध्यान नहीं दिया जा रहा।


अभी यह व्यवस्था
- मेल सर्जिकल वार्ड में दो कूलर, कभी-कभार चालू
- मेल मेडिकल वार्ड में दो कूलर, चालू एक भी नहीं
- सर्जिकल व मेडिकल महिला वार्ड में एक भी कूलर नहीं


मामूली मिस्टेक होगी...
वार्डों में कूलर लगवा रखे हैं और एसी भी चालू है। बंद होंगे तो मामूली मिस्टेक होगी। इसे ठीक करवा देंगे।
- डॉ. एसपी शर्मा, पीएमओ, जालोर अस्पताल

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned