मेंटीनेंस :3 महीने में 250 घंटे कटौती, फिर भी हालात वही

मेंटीनेंस :3 महीने में 250 घंटे कटौती, फिर भी हालात वही

Dharmendra Ramawat | Updated: 17 Jun 2018, 04:45:12 PM (IST) Jalore, Rajasthan, India

. शहर समेत आस पास के इलाकों में बिजली लाइनों के रखरखाव के नाम पर डिस्कॉम की ओर से पिछले करीब तीन महीने से घोषित कटौती की जा रही है


धर्मेन्द्र रामावत
जालोर. शहर समेत आस पास के इलाकों में बिजली लाइनों के रखरखाव के नाम पर डिस्कॉम की ओर से पिछले करीब तीन महीने से घोषित कटौती की जा रही है, लेकिन डिस्कॉम की इस घोषित कटौती पर अघोषित बिजली कटौती भारी पड़ रही है। बीते तीन महीने में डिस्कॉम लाइनों की मेंटीनेंस के लिए करीब 250 घंटे की घोषित कटौती कर चुका है, लेकिन हकीकत में देखें तो हर रोज शहर के विभिन्न इलाकों में चार से पांच घंटे बिजली गुल रहती है। वहीं नर्मदा कॉलोनी के पास व सूरजपोल स्थित जेईएन कार्यालय, अधीक्षण अभियंता कार्यालय और टोल फ्री मोबाइल वाहन पर बीते दस दिन में करीब डेढ़ सौ से अधिक बिजली लाइनों में फॉल्ट की शिकायतें दर्ज हुई हैं। हालांकि इनमें से अधिकतर शिकायतों का कार्मिकों ने निस्तारण कर दिया है, लेकिन हर रोज ऐसी ढेरों शिकायतें अभी भी मिल रही हैं। इस बारे में उच्चाधिकारियों का कहना है कि इसकी मुख्य वजह बीते कुछ दिन से चल रही तेज हवाएं हैं।
कब तक चलेगा मेंटीनेंस
करीब तीन महीने से बिजली लाइनों के रखरखाव को लेकर डिस्कॉम की ओर से हर दूसरे-तीसरे दिन ढाईसे तीन घंटे तक बिजली कटौती की जा रही है। इसके बावजूद शहर के करीब-करीब सभी इलाकों में बार-बार बिजली लाइनों में फॉल्ट की समस्या हो रही है। कालका कॉलोनी व इसके आस पास के इलाकों में शुक्रवार को करीब दस से बारह घंटे बिजली गुल रही। ऐसे में यह साफ है कि डिस्कॉम की ओर से मेंटीनेंस के नाम पर महज खानापूर्ति की जा रही है। जिसका खामियाजा शहरवासियों को भुगतना पड़ रहा है।
यहां दस दिन से लोग परेशान
गौरतलब है कि शहर सहित आस पास के क्षेत्र में सप्ताह भर से तेज हवाएं चल रही हैं, लेकिन शहर के नया बस स्टैंड के पास स्थित हनुमान नगर, बापू नगर, गोडीजी, कांकरिया वास, किले की घाटी, खानपुरा वास, तोपखाना के पास, भंडारियों का वास व कालका कॉलोनी समेत शहर के भीतरी भागों में भी हर रोज दिन व रात में कई घंटों तक बिजली गुल हो रही है। इधर, तेज हवा के कारण लोग हादसे की आशंका के कारण छत पर भी नहीं सो पा रहे हैं। इसके बावजूद बिजली आपूर्ति व्यवस्था में सुधार नहीं हो पा रहा है।
जीएसएस भी चपेट में
डिस्कॉम अधिकारियों ने बताया कि नर्मदा कॉलोनी स्थित जीएसएस में शुक्रवार को तेज हवा के कारण पेड़ गिरने से आपूर्ति बंद हो गई। काफी देर बाद यहां कार्मिकों ने मशक्कत कर बिजली आपूर्ति बहाल की। इसी तरह भागली जीएसएस से जुड़े इलाकों में भी शुक्रवार को फॉल्ट के चलते काफी देर तक बिजली गुल रही। जिसके कारण आमजन को परेशानी झेलनी पड़ी।
तेज हवा कारण
बारिश से पहले बिजली लाइनों के रखरखाव के लिए कटौती की जा रही है। ताकि कोई बड़ी समस्या ना आए। वैसे क्षेत्र में सप्ताह भर से तेज हवा का दौर शुरूहोने के कारण लाइनों में फॉल्ट आ रहे हैं। इसके लिए डिस्कॉम के कंट्रोल रूम व हेल्पलाइन नंबर पर शिकायत दर्ज होते ही कार्मिक समस्याओं का निस्तारण कर रहे हैं। हमारा पूरा प्रयास है कि आमजन को निर्बाध बिजली आपूर्ति दी जाए।
- पीसी टांक, एसई, डिस्कॉम, जालोर

तुलसाराम माली की रिपोर्ट:- भीनमाल. क्षेत्र में 30-35 किलोमीटर की रफ्तार से चल रही हवा शहरवासियों को बेहाल कर रही है। हवा के झोंको ने डिस्कॉम की विद्युत व्यवस्था बिगाड़ दी है। डिस्कॉम की विद्युत लाइनों में रोजाना 12-15 ट्रिपींग आ रही है। बार-बार ट्रिपिंग में शहर में घंटों तक विद्युत आपूर्ति गुल हो रही है। पिछले सप्ताहभर से तो शहर में दिनरात बिजली के आंख मिचौनी का खेल चल रहा है। रोजाना करीब 5 घंटे तक बिजली गुल रहती है। ऐसे में शहरवासियों का दिन का आराम व रात की नींद ***** हो रही है। इससे सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि ग्रामीण क्षेत्र में विद्युत व्यवस्था का क्या हाल होगा। हैरानी की बात तो यह है कि डिस्कॉम की ओर से बारिश के पूर्व विद्युत लाइनों के मेंटेनेस के लिए कार्यक्रम भी बनता है, लेकिन सप्ताहभर से चल रही धूलभरी हवाओं ने डिस्कॉम की व्यवस्था को तार-तार कर दिया है। पिछले सात साल में सरकार की ओर से करोड़ों रुपए खर्च कर शहर में विद्युत व्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए चार जीएसएस बनाकर विद्युत लाइनों को छोटे-छोटे पार्ट में बांटा गया, लेकिन गर्मी व बारिश के मौसम में विद्युत व्यवस्था का वहीं हाल बना हुआ है। हवाओं के चलते डिस्कॉम में विद्युत शिकायतें भी बढ़ी, लेकिन डिस्कॉम की ओर से समाधान नहीं होने से लोगों को बेहाल होना पड़ रहा है। लोगों का कहना है कि मामूली से हवाओं में भी यह हाल हो रहा है, तो बारिश के मौसम में क्या स्थिति होगी। लोग विद्युत संबन्धी समस्याओं का समाधान भी अपने स्तर पर कर रहे है। पिछले आठ माह से शहर में आईपीडीएस योजना के तहत 4 करोड़ रुपए की लागत से विद्युत लाइनों को भूमिगत करने का कार्य भी चल रहा है।
1000 रुपए वसूल रहे है निजी इलेक्ट्रीशियन
डिस्कॉम की उदासीनता के चलते शहर में दर्जनों स्थानों पर विद्युत तार ढीले होने से जगह-जगह झूल रहे है। इसके अलावा पुरानी विद्युत लाइनें भी जबाब दे रही है। ऐसे में मामूली हवा में भी विद्युत तारों में स्पार्किंग व विद्युत तार टूट जाते है। पिछले सप्ताहभर में डिस्कॉम में करीब 50 शिकायत मिली है। इसके बावजूद कई उपभोक्ता को डिस्कॉम की लचर व्यवस्था के चलते निजी इलेक्ट्रीशियन से ही विद्युत लाइनों को दुरस्त करवा रहे है। इतना कुछ होने के बाद भी डिस्कॉम के अधिकारी मूकदर्शक बने हुए है। उपभोक्ताओं को बिजली के छोटे-मोटे काम के लिए करीब 700-1000 रुपए चुकाने को मजबूर है।
चार जीएसएस बने, फिर भी बदहाल
शहर में डिस्कॉम की ओर से रिंग योजना के तहत करोड़ों रुपए खर्च कर 33/11 केवी के तीन जीएसएस बनाए गए। इसके अलावा स्टेशन रोड मुख्य जीएसएस का नवीनीकरण किया गया। डिस्कॉम के अधिकारियों के मुताबिक रिंग योजना के तहत शहर में 11 केवी विद्युत लाइनों को छोटे-छोटे पार्ट में डिवाइड किया गया, लेकिन उसके बाद भी डिस्कॉम की व्यवस्था बदलहा बनी हुई है। पिछले छह सालों में शहर में नीलकंठ महादेव मंदिर, रीको व बालसमंद बांध रोड पर 33/11 केवी के तीन नए जीएसएस बनाए गए। शहर के नीलकण्ठ जीएसएस से 11 केवी के पांच, सीटी जीएसएस से सात, रीको जीएसएस से चार व क्षेमंकरी माता मंदिर जीएसएस से 11 केवी के पांच फीडर चल रहे है।
जनरेटर पर बढ़ी निर्भरता
शहर में बिजली के आंख मिचौली के खेल में आवश्यक कार्य के लिए लोग रोजाना हजारों रुपए का जनरेटर में ईंधन जला रहे है। रीको में आईस फैक्ट्री व चिकित्सालयों में लोगों को हजारों रुपए का ईंधन जलाना पड़ रहा है। इतना कुछ होने के बाद भी डिस्कॉम के अधिकारियों के पास इसका कोई जवाब नहीं है। लोग जान जोखिम में डालकर विद्युत लाइनों को लकड़ी के सहारे दुरस्त करने में जुटे रहते है।
आहोर. तेज हवाओं से परेशान लोगों को बिजली कटौती की समस्या से भी जूझना पड़ रहा है। कुछ दिनों पूर्व तेज हवाओं का दौर शुरू होने के साथ ही बिजली कटौती भी शुरू हो गया। इतना ही नहीं डिस्कॉम की ओर से कई घंटों तक अघौषित की जाती है। दिन व रात में दर्जनों बार विद्युत कटौती की जा रही है। जिससे आमजन को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जिससे लोग डिस्कॉम की कार्यप्रणाली के प्रति आक्रोशित है। दरअसल, डिस्कॉम की ओर से कस्बे समेत क्षेत्र के गांवों में लगातार कई घंटों तक अघोषित बिजली कटौती की जा रही है। कई घंटों तक बिजली गुल रहने से आमजन को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। क्षेत्र के गांवों के साथ कस्बे में भी विद्युत कटौती का बुरा हाल बना हुआ है। इन दिनों इस भीषण गर्मी में उपखंड मुख्यालय पर कई घंटों तक अघोषित विद्युत कटौती की जा रही है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned