मेंटिनेंस और वेतन का भुगतान नहीं कर रहा मालिक, विरोध में थमे अनुबंधित बसों के पहिए

मेंटिनेंस और वेतन का भुगतान नहीं कर रहा मालिक, विरोध में थमे अनुबंधित बसों के पहिए

Dharmendra Kumar Ramawat | Publish: Sep, 16 2018 11:40:59 AM (IST) Jalore, Rajasthan, India

एक माह पूर्व भी यही बने थे हालात, लंबे रूट पर चलने वाली अनुबंधित बसों का संचालन बंद हुआ

जालोर. रोडवेज सेवा के समकक्ष चलने वाले अनुबंधित बसें फिलहाल रोडवेज के लिए घाटे का सौदा साबित हो रही है। अचानक ही बसों का संचालन रद्द करने से रोडवेज प्रबंधन को इन हालातों में दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। चूंकि अनुबंधित बसें नई हैं, इसलिए इन्हें लंबे और अधिक कमाई वाले रूट पर संचालित किया जाता है, लेकिन जब कभी इन रूट पर बसों का संचालन नहीं होता है तो रोडवेज को लाखों का चूना भी लगता है, जैसा कि शनिवार को रोडवेज के सामने हालाब बने। शनिवार को अनुबंध की लंबे रूट की बसों का संचालन इसलिए नहीं हो पाया क्योंकि संबंधित अनुबंधधारी मालिक की ओर से इन बसों पर लगे अपने ही कार्मिकों को न तो समय पर भुगतान किया जा रहा है। न ही बसों की मरम्मत पर खर्च होने वाले बिलों का भुगतान किया जा रहा।
इस समस्या को लेकर पिछले माह भी कार्मिकों ने विरोध स्वरूप बसों का संचालन बंद कर दिया था, लेकिन बाद में मामला शांत हो गया था, लेकिन इस बार फिर से ऐसा हुआ और बसों का संचालन नहीं होने से एक तरफ जालोर रोडवेज प्रबंधन को तो दूसरी तरफ यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ा।
एक ही दिन में 3 लाख की आय प्रभावित
हालांकि रोडवेज ने वैकल्पिक व्यवस्था के रूप में कुछरूट पर निगम की बसों का संचालन किया। लेकिन उसके बाद भी लंबे रूट जिसमें मुख्य रूप से जालोर- बीकानेर, भीनमाल-झुंझुनू और बालोतरा-वापी बसों का संचालन नहीं हुआ। ऐसे में रोडवेज जालोर डिपो को एक ही दिन में लगभग 2.50 से 3 लाख रुपए का नुकसान हुआ है।
साहब हमारे पास मेंटिनेंस के नहीं है पैसे
बस संचालक के कार्मिक ने मुख्य प्रबंधक को लिखे पत्र में बताया है कि हालात यह है कि स्टाफ को वेतन नहीं मिल रहा है और मेंटिनेंस का भुगतान भी नहीं हो रहा। इस पत्र में बसों की रिपेयरिंग के अलग अलग श्रेणी में बकाया भुगतान और वेतन नहीं मिलने से हो रही समस्या का जिक्र किया गया है।
इलेक्ट्रिकल्स मेंटिनेंस- 1 लाख 30 हजार
बॉडी रिपेयरिंग- 18 हजार
ग्रीस वाला- 30 हजार
अन्य मेंटिनेंस- 1 लाख 59 हजार
ये रूट पूरी तरह से प्रभावित हुए
- जालोर से बीकानेर बस
- भीनमाल से झुंझुनू
- बालोतरा से वापी
इन पर वैकल्पिक व्यवस्था
- जालोर-जयपुर पर निगम की बस
- जालोर-उदयपुर पर निगम की बस
इनका कहना
& अनुबंधित बसों के मालिक और उनके स्टाफ के बीच ही वेतन और देनदारी को लेकर विवाद है। भुगतान नहीं होने के कारण अनुबंधित बसों का संचालन बंद हुआ है, हालांकि हमने वैकल्पिक व्यवस्था की है।
- अवधेश शर्मा, चीफ मैनेजर, रोडवेज, जालोर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned