बिना डिग्री मरीजों का इलाज करने वाला झोलाछाप गिरफ्तार, जब्त किए उपकरण

बिना डिग्री मरीजों का इलाज करने वाला झोलाछाप गिरफ्तार, जब्त किए उपकरण
One Jhola Chap arrested in Sanchore

Dharmendra Ramawat | Updated: 04 Nov 2018, 04:25:16 PM (IST) Jalore, Jalore, Rajasthan, India

शुक्रवार शाम को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने बड़सम बाइपास पर की कार्रवाई, शहर में 20 झोलाछाप

सांचौर. शहर के बड़सम बाइपास रोड पर अवैध रूप से क्लीनिक चलाकर लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ करने के मामले में सांचौर थाने में मामला दर्ज हुआ है। वहीं पुलिस ने इस मामले में आरोपी को भी गिरफ्तार किया है। जानकारी के अनुसार सीएमएचओ डॉ. बीएल बिश्नोई के निर्देश पर गठित चिकित्सा विभाग की टीम ने बीसीएमओ भैराराम जाणी के नेतृत्व में शुक्रवार शाम को बड़सम बाइपास स्थित एक क्लीनिक पर दबिश दी। इस दौरान क्लीनिक में शाह पारसकुमार बिना डिग्री के एलोपैथिक इलाज कर मरीजों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रहा था। जिस पर विभाग ने उसके खिलाफ स्थानीय पुलिस थाने में नामजद प्रकरण दर्ज करवाया। वहीं क्लीनिक में अवैध रूप से उपयोग में लिए जा रहे उपकरण भी जब्त किए। आरोपी को स्थानीय पुलिस गिरफ्तार कर पुलिस थाने ले गई। जहां पूछताछ में सामने आया कि आरोपी लम्बे समय से इस क्लीनिक पर बिना डिग्री मरीजों का एलोपैथिक उपचार कर रहा था। क्लीनिक में उपयोग होने वाले बायो मेडिकल वेस्ट के डिस्पोजल की भी कोई व्यवस्था नहीं थी। उपचार के बाद यह वेस्ट खुले में फेंका जा रहा था। जिससे संक्रमण फैलने की भी आंशका बनी हुई थी।
एक के खिलाफ कार्रवाई कर इतिश्री
गौरतलब है कि शहर में विभिन्न जगहों पर २० से ज्यादा झोलाछाप अवैध रूप से क्लीनिक चलाकर नितरोज मरीजों के स्वास्थ्य के साथ खुलेआम खिलवाड़ कर रहे हैं, लेकिन स्वास्थ्य विभाग हर बार महज कागजी खानापूर्ति करता नजर आता है। शुक्रवार को भी विभागीय टीम ने सिर्फ एक जगह कार्रवाई कर खानापूर्ति पूरी कर ली।
पास में ही एक और क्लीनिक
स्वास्थ्य विभाग की टीम ने बड़सम बाइपास रोड पर जिस झोलाछाप के यहां कार्रवाई की है, उसके ठीक बगल में ही एक और क्लीनिक चल रहा था, लेकिन विभागीय टीम ने यहां किसी तरह की पूछताछ तक नहीं की। जबकि कार्रवाई के दौरान इस क्लीनिक में भी मरीजों का एलोपैथिक इलाज करने के साथ-साथ ड्रिप तक चढ़ाई जा रही थी।
भागने के बजाय बोला-दूसरे पर भी करो कार्रवाई
शहर के बड़सम बाइपास रोड पर स्वास्थ्य विभाग की टीम की कार्रवाई के झोलाछाप शाह पारसकुमार वहां से भागने के बजाय बीसीएमओ डॉ. भैराराम जाणी से उलझ गया। उसका कहना था कि जब टीम ने उसके क्लीनिक पर कार्रवाई की है तो शहर में अन्य जगहों पर भी चल रहे अवैध क्लीनिक के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं की गई। जिस पर हुए विवाद को लेकर बीएसीएमओ जाणी व झोलाछाप का वीडियो भी कुछ देर में सोशल मीडिया पर वायरल हो गया।
अवैध क्लीनिक की भरमार
शहर की सब्जी मंडी, बड़सम बाइपास रोड, पीडब्ल्यूडी रोड, हाड़ेचा रोड, चार रास्ता व थराद रोड पर अवैध क्लीनिक चल रहे हैं, लेकिन ना तो प्रशासन ने इस मामले में कोई कार्रवाई की और ना ही मरीजों की जान जोखिम में डालने वाले इन झोलाछाप के खिलाफ स्वास्थ्य विभाग ने कोई प्रकरण दर्ज करवाए। खास बात तो यह है कि शहर में २० से ज्यादा अवैध क्लीनिक हैं, जहां बुखार, डायरिया, डेंगू, टीबी व खांसी सहित अन्य बीमारियों का इलाज किया जाता है।
लगा रखे हैं साइन बोर्ड
शहर के अधिकांश मोहल्लों व मुख्य मार्गों पर अवैध क्लीनिक संचालकों ने साइन बोर्ड भी लगा रखे हैं। सामान्य से लेकर गम्भीर बीमारियों के उपचार के अलावा यहां अफीम और शराब सहित अन्य नशे छुड़वाने के नाम पर भी मरीजों को यहां भर्ती कर उनका इलाज किया जा रहा है।
इनका कहना...
स्वास्थ्य विभाग की कार्रवाई के दौरान शहर में बिना डिग्री के ऐलोपैथिक इलाज करते एक क्लीनिक संचालक को पकड़ा गया है। विभागीय रिपोर्ट पर उसके खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया है। रिपोर्ट के आधार पर मामला दर्ज कर जांच शुरू की है।
- विकास कुमार, थाना प्रभारी, सांचौर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned