राष्ट्रकवि मैथिलीशरण गुप्त सम्मान-2018 की घोषणा, इन्हें किया जाएगा सम्मानित

राष्ट्रकवि मैथिलीशरण गुप्त सम्मान-2018 की घोषणा, इन्हें किया जाएगा सम्मानित

By: BK Gupta

Published: 03 Aug 2018, 08:01 AM IST

झांसी। राष्ट्रकवि मैथिलीशरण गुप्त सम्मान-2018 की घोषणा कर दी गई है। यह सम्मान प्रो. नंद किशोर पांडेय को दिया जाएगा। राष्ट्रकवि की जयन्ती के अवसर पर हिन्दी विभाग द्वारा एक राष्ट्रीय संगोष्ठी तथा सांस्कृतिक संध्या का आयोजन होगा। इसमें राष्ट्रकवि मैथिलीशरण गुप्त के जीवन और साहित्य को लोकाभिमुख करने के उद्देश्य से शुरू किए गए सम्मान से प्रो.नंदकिशोर पांडेय को सम्मानित किया जाएगा।
ये लोग शामिल होंगे संगोष्ठी में
राष्ट्रकवि मैथिलीशरण गुप्त की जयंती पर राष्ट्रीय संगोठी का आयोजन भारतीय हिन्दी परिषद इलाहाबाद और हिन्दी विभाग बुंदेलखंड विश्वविद्यालय झांसी के संयुक्त तत्वावधान में होगा। यह संगोष्ठी महाकाव्यात्मक प्रतिभा मैथिलीशरण गुप्त के विषय पर आयोजित है। इसमें प्रो नन्दकिशोर पाण्डेय (आगरा), प्रो0 रामकिशोर (इलाहाबाद), पवन अग्रवाल (लखनऊ), प्रो0 भरत सिंह (पटना) निर्मला अग्रवाल (इलाहाबाद), मीरा दीक्षित (इलाहाबाद), नरेन्द्र मिश्र (जोधपुर), योगेन्द्र प्रताप सिंह (इलाहाबाद) विनोद शर्मा (जयपुर), हरिशंकर मिश्र (लखनऊ), श्रवण कुमार मीणा (जेाधपुर), अमरनाथ (कोलकाता), अश्वनी कुमार शुक्ल (बांदा) अखिलेश कुमार शेखधर (मणिपुर) अवधेष कुमार (रायसेन), बी.बै.ललिताम्बा (बेंगलूरु) बलजीत कुमार श्रीवास्तव (लखनऊ), म.मा.कडू (नागपुर), संतराम वैश्य (हरिद्वार), मानवेन्द्र पाठक (नैनीताल), मिथलेश कुमारी मिश्र (पटना), नवीन नन्दवाना (उदयपुर), कामता कमलेश (अमरोहा), त्रिभुवन नाथ शुक्ल (जबलपुर), सभापति मिश्र (इलाहाबाद), विमला सिंहल (जयपुर), लक्ष्मी नारायण भारद्वाज (नई दिल्ली) व विनय कुमार शर्मा (लखनऊ) शामिल होंगे।
कुलपति करेंगे उद्घाटन
संगोष्ठी के उद्घाटन सत्र की अध्यक्षता बुंदेलखंड विश्वविद्यालय के कुलपति सुरेन्द्र दुबे करेंगे। मुख्य वक्ता केन्द्रीय हिन्दी संस्थान के निदेशक प्रो नन्द किशोर पाण्डेय होंगे। वहीं, बोध गया बिहार से आये भारतीय हिन्दी परिषद के मंत्री प्रो भरत सिंह का विशिष्ट व्याख्यान होगा। प्रथम सत्र की अध्यक्षता भारतीय साहित्य परिषद के पूर्व अध्यक्ष प्रो त्रिभुवन नाथ शुक्ल करेगें। इसके अलावा प्रो अवधेश कुमार शुक्ल, प्रो विमला सिंह तथा प्रो सभापति मिश्र का विशिष्ट व्याख्यान होगा। तीसरा सत्र शोधार्थियों का होगा। समापन चिरगांव झांसी में राष्ट्रकवि मैथिलीशरण गुप्त के घर पर होना प्रस्तावित है। राष्ट्रकवि मैथिलीषरण गुप्त सम्मान पिछले वर्ष पाठालोचल के आचार्य डा कन्हैया सिंह को दिया गया था। इस वर्ष यह सम्मान प्रो नन्दकिशोर पाण्डेय को दिया जाना है। जो पुर्वोत्तर से अपनी साहित्य साधना यात्रा शुरू कर संप्रति जयपुर विश्वविद्यालय के प्रो आचार्य रहते हुये वर्तमान में केन्द्रीय हिन्दी संस्थान के निदेशक हैं। साथ ही भारतीय हिन्दी परिषद के अध्यक्ष भी हैं ।
मालिनी अवस्थी का कार्यक्रम
सांस्कृतिक संध्या हिन्दी विभाग तथा राष्ट्र कवि मैथिलीरण गुप्त महाविद्यालय के संयुक्त तत्वाधान में सुप्रसिद्ध लोक गायिका पद्मश्री मालिनी अवस्थी को आमंत्रित किया गया है। उनका कार्यक्रम सायं छह बजे से नौ बजे तक होना है। आरम्भ बुन्देली के लोक कलाकारों से होगा तथा मालिनी अवस्थी का कार्यक्रम तीन घण्टे चलेगा। इसमें उनकी पूरी टीम दिल्ली से आ रही है। कार्यक्रम में सुर साधना का अद्भुत संयोग देखने को मिलेगा।

Show More
BK Gupta Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned