हमारी अस्मिता से जुड़ी है ये भाषा, सीखना है एकदम आसान

हमारी अस्मिता से जुड़ी है ये भाषा, सीखना है एकदम आसान

Brij Kishore Gupta | Publish: Feb, 15 2018 09:41:57 PM (IST) Jhansi, Uttar Pradesh, India

हमारी अस्मिता से जुड़ी है ये भाषा, सीखना है एकदम आसान

झांसी। संस्कृत भारती एवं विक्रम संस्कृत महाविद्यालय के संयुक्त तत्वावधान में झांसी के सदर बाजार में छह दिवसीय भाषा अभ्यास शिविर का आयोजन किया जा रहा है। इस शिविर में अत्यन्त सरल एवं रोचक विधि से संस्कृत बोलना सिखाया जा रहा है। शिविर में प्रमुख शिक्षक के रूप में प्रकाश झा संस्कृत सिखा रहे हैं। शिविर में उन्होंने कहा कि संस्कृत हमारी अस्मिता से जुड़ी भाषा है। इसे बोलना अति सरल है तथा थोड़े से प्रयास से ही इसको सीखा जा सकता है।

कठिनाइयों को दूर करने के उपाय बताए गए

शिविर के संचालक तथा संस्कृत भारती झांसी के अध्यक्ष रवीन्द्र जैन ने बताया कि विक्रम संस्कृत महाविद्यालय में आयोजित इस शिविर में प्रतिदिन सुबह 10 बजे से शाम चार बजे तक शिक्षण के सत्र चल रहे हैं। शिविर में आज शिक्षकों द्वारा विद्यार्थियों के साथ भाषा कौशल के विकास के संबंध में विस्तार से चर्चा की गई। इस दौरान शिविरार्थियों को संस्कृत को शुद्ध लिखते-पढ़ते एवं बोलते समय उन्हें आने वाली कठिनाइयों को दूर करने के उपाय भी बताए गए।

तर्क शक्ति बढ़ाने को कराए गए खेल

शिविर के संचालक ने कहा कि इसके साथ ही विद्यार्थियों के मानसिक विकास हेतु तर्क शक्ति बढ़ाने वाले खेल भी कराए गए। शिविर के इसी क्रम में 17 फरवरी को विक्रम संस्कृत महाविद्यालय, सदर बाजार में संस्कृत के नुक्कड़ नाटक का आयोजन भी किया जाएगा।

18 फरवरी को होगा संस्कृत शिविर का समापन

शिविर संचालक ने बताया कि शिविर का समापन 18 फरवरी को पूर्वाह्न 11 बजे महाविद्यालय प्रांगण में किया जाएगा। इस वर्ग का शिक्षण कार्य कानपुर प्रान्त के संस्कृत भारती के संगठन मन्त्री प्रकाश झा, राष्ट्रीय संस्कृत संस्थान नई दिल्ली से आई शिक्षिका श्रुति, डा बी बी त्रिपाठी, डा भागीरथ सिंह भदौरिया तथा मधु श्रीवास्तव के निर्देशन में चल रहा है। शिविर के प्रमुख शिक्षक प्रकाश झा ने कहा कि संस्कृत हमारी अस्मिता से जुड़ी भाषा है। इसे बोलना अति सरल है तथा थोड़े से प्रयास से ही सीखा जा सकता है।

Ad Block is Banned