INDUSTRY---निवेश प्रोत्साहन योजना में 1800 को मिला रोजगार

- राजस्थान निवेश प्रोत्साहन योजना- विनिर्माण व सेवा क्षेत्र सहित 38 सेक्टर्स में रोजगार सृजन

By: Amit Dave

Published: 26 Nov 2020, 09:04 PM IST

जोधपुर।
राजस्थान निवेश प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत जिला स्तरीय छानबीन समिति की बैठकों में अब तक 147 उद्यमों को पात्रता प्रमाण पत्र जारी किए गए। जिसमें 416.71 करोड़ का निवेश तथा 1844 व्यक्तियों को रोजगार मिला। जिला उद्योग केन्द्र के सहायक निदेशक पूजा मेहरा ने बताया कि योजना 2019 के तहत 143 इकाइयों को पात्रता प्रमाण पत्र जारी किए गए, जिनमें 281.88 करोड़ रुपए का निवेश व 1144 व्यक्तियों को नियोजन उपलब्ध हुआ।
राज्य सरकार की ओर से रोजगार के अवसर सृजित करने के लिए राजस्थान निवेश प्रोत्साहन योजना 2019 के तहत सभी पात्र विनिर्माण व सेवा उद्यमों के लिए निवेश अनुदान, रोजगार सृजन अनुदान-श्रमिकों के इपीएफ व इएसआइ के नियोक्ता के अंशदान का न्यूनतम 50 प्रतिशत, पुनर्भरण तथा विद्युतकर, मण्डी शुल्क, भूमिकर में 7 वर्षों के लिए शत प्रतिशत छूट, स्टाम्प ड्यूटी व भूमि रूपान्तरण शुल्क में शत प्रतिशत छूट के प्रावधान है। इस योजना की प्रभावी अवधि मार्च 2026 तक है।
--
थ्रस्ट सेक्टर्स को अतिरिक्त प्रोत्साहन
अर्थव्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए योजनान्तर्गत थ्रस्ट सेक्टर्स के लिए अतिरिक्त प्रोत्साहन का प्रावधान किया गया है। विनिर्माण क्षेत्र में 26 सेक्टर्स, जिसमें कृषि प्रसंस्करण, सेरेमिक एण्ड ग्लास, केमिकल, डेयरी, डिफेन्स, दिल्ली-मुम्बई इण्डस्ट्रियल कॉरिडोर एरिया के उद्यम, फूड प्रोसेसिंग, हैण्डीक्राफ्ट, एम-सेण्ड, मेडिकल डिवाइस निर्माण, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम, पेट्रोलियम सहायक उद्यम, पेट्रोकेमिकल, दवा निर्माण, सौर ऊजा उपकरण, स्टार्ट-अप्स, टेक्सटाइल, विंड टर्बाइन निर्माण क्षेत्र आदि शामिल है। सेवा क्षेत्र में 12, जिसमें दवा निर्माण क्षेत्र में कोल्डचेन, औद्योगिक पार्क, स्टार्ट-अप्स, पर्यटन आदि सेक्टर्स को थ्रस्ट सेक्टर्स के रूप में शामिल किया गया है।

Amit Dave Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned