script20 lakh bribe to get 70 to 75 percent marks in RAS interview | आरएएस इंटरव्यू में 70 से 75 फीसदी अंक दिलाने के लिए 20 लाख की रिश्वत, कम अंक आने पर वापस लौटाए, आरपीएससी में परिचित की जांच में जुटी एसीबी | Patrika News

आरएएस इंटरव्यू में 70 से 75 फीसदी अंक दिलाने के लिए 20 लाख की रिश्वत, कम अंक आने पर वापस लौटाए, आरपीएससी में परिचित की जांच में जुटी एसीबी

- एसीबी ने आकस्मिक तलाशी में 19.95 लाख रुपए किये जब्त
- सरकारी स्कूल का प्राचार्य, निजी स्कूल संचालक सहित तीन गिरफ्तार

जोधपुर

Published: July 29, 2021 06:30:01 pm

जोधपुर. भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो जोधपुर ने बाड़मेर जिले में कल्याणपुर थाने के सामने नाकाबंदी पॉइंट पर बोलेरो की आकस्मिक तलाशी लेकर 19.95 लाख रुपए जब्त कर गुरुवार को सरकारी स्कूल के प्राचार्य सहित तीन जनों को गिरफ्तार किया। यह रुपए आरएएस भर्ती परीक्षा में उत्तीर्ण एक अभ्यर्थी को साक्षात्कार में 70 प्रतिशत से अधिक अंक दिलाने के लिए मध्यस्थ को बतौर रिश्वत दी गई थी, लेकिन 54 प्रतिशत अंक ही मिलने पर राशि लौटा दी गई थी।
 आरएएस इंटरव्यू में 70 से 75 फीसदी अंक दिलाने के लिए 20 लाख की रिश्वत, कम अंक आने पर वापस लौटाए, आरपीएससी में परिचित की जांच में जुटी एसीबी
आरएएस इंटरव्यू में 70 से 75 फीसदी अंक दिलाने के लिए 20 लाख की रिश्वत, कम अंक आने पर वापस लौटाए, आरपीएससी में परिचित की जांच में जुटी एसीबी
एसीबी के उप महानिरीक्षक डॉ विष्णुकांत ने बताया कि आरएएस भर्ती 2018 में बाड़मेर निवासी हरीश पुत्र हनुमानराम जाट उत्तीर्ण हुआ था। साक्षात्कार में 70 से 75 प्रतिशत अंक दिलाने के बदले 20 लाख रुपए रिश्वत दी गई थी, लेकिन 54 प्रतिशत अंक मिलने पर मध्यस्थ ने रिश्वत लौटा दी थी। यह राशि लेकर बाड़मेर लौटने के दौरान कल्याणपुर थाने के सामने आकस्मिक जांच में बोलेरो से 19.95 लाख रुपए जब्त किए गए। 20 लाख रुपए रिश्वत देकर लौटाने का मामला दर्ज कर बाड़मेर में रामनगर निवासी ठाकराराम सारण (45) पुत्र मूलाराम जाट, बाड़मेर में भूरटिया पंचायत समिति निवासी प्राचार्य जोगाराम सारण (40) पुत्र हनुमानराम जाट व बासनी तम्बोलिया निवासी मध्यस्थ किशनाराम (46) पुत्र उगमाराम जाट को गिरफ्तार किया गया। आरोपी ठाकराराम आरएएस परीक्षा में उत्तीर्ण अभ्यर्थी हरीश पुत्र हनुमानराम का चाचा है और बाड़मेर रीको में मदर टेरेसा सीनियर सैकण्डरी स्कूल का संचालक है। जोगाराम सारण बायतु पंचायत समिति राउमावि का प्राचार्य है।

बड़ा सवाल : आरपीएससी में घूसखोर परिचित कौन?
एसीबी ने तीनों को गिरफ्तार कर पूछताछ शुरू की। मध्यस्थ किशनाराम से आरपीएससी में उस परिचित का पता लगाने के प्रयास किए जा रहे हैं जिसे २० लाख रुपए रिश्वत मिलनी थी। एएसपी भोपालसिंह लखावत का कहना है कि किशनाराम से पूछताछ कर रहे हैं। जांच में सामने आएगा कि आरपीएससी साक्षात्कार में अच्छे अंक दिलाने के बदले बीस लाख किसे दिए जाने थे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.