आगोलाई में एक ही परिवार के तीन सदस्य आए कोरोना पॉजीटिव, गांव में मचा हड़कंप

क्षेत्र की निकटवर्ती भाटेलाई पुरोहितान ग्राम के राजस्व ग्राम तोलेसर पुरोहितान में एक ही परिवार के तीन सदस्यों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। इससे गांव सहित प्रशासन महकमे में हड़कंप मच गया है।

By: Harshwardhan bhati

Updated: 16 May 2020, 01:06 PM IST

वीडियो : चंपालाल/आगोलाई/जोधपुर. क्षेत्र की निकटवर्ती भाटेलाई पुरोहितान ग्राम के राजस्व ग्राम तोलेसर पुरोहितान में एक ही परिवार के तीन सदस्यों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। इससे गांव सहित प्रशासन महकमे में हड़कंप मच गया है। देचू तहसील के फतेहगढ़ ग्राम पंचायत के पॉजिटिव के साथ चेन्नई से आए तोलेसर पुरोहतान निवासी चैनसिंह पुत्र मोहनसिंह 42, इनकी पत्नी पुष्पा और एक बच्चे की रिपोर्ट पॉजीटिव आई है।

देचू के कोरोना पॉजीटिव व्यक्ति के सम्पर्क में होने पर बालेसर चिकित्सा विभाग की टीम ने 14 मई को इस परिवार के चार सदस्यों के सैम्पल लिए थे। चार में से तीन सदस्यों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने से चिंता की लकीरें खिंच गई हैं। परिवार का चैनसिंह चेन्नई से आया था और उसके अन्य परिजन गांव में ही रह रहे थे। लेकिन चैन सिंह के संपर्क में आने के कारण अन्य दो सदस्य भी संक्रमण की चपेट में आ गए। मेडिकल टीम और प्रशासन ने गांव में पहुंच कर कार्रवाई शुरू की है। प्रशासन ने पूरे तोलेसर पुरोहितान गांव को सीज कर प्रतिबंधित क्षेत्र घोषित किया है। पूरे गांव की रेंडम सैम्पलिंग होने के निर्देश दिए गए हैं।

लूणाकलां पहुंचा कोरोना, दो भाई संक्रमित
जैसलमेर/पोकरण. कोरोना वायरस संक्रमण भारत-पाक सीमा के सरहदी जिले के पोकरण में आने के बाद अब क्षेत्र के लूणाकलां गांव तक पहुंच चुका है। शुक्रवार को इस गांव में दो भाई संक्रमित मिले हैं। गौरतलब है कि अप्रेल माह में पोकरण में कोरोना वायरस संक्रमण मके 35 पॉजिटिव मिले थे। यहां तब से कफ्र्यू जारी है। गत दिनों एक एएनएम व उसका रिश्तेदार फलसूण्ड में पॉजिटिव मिलने के बाद चिकित्सा विभाग की ओर से बाहरी जिलोंं व राज्यों से आए लोगों के नमूने लिए गए। इन नमूनों में शामिल लूणाकल्लां के दो सगे भाइयों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। दोनों को शुक्रवार को ही जोधपुर के एमडीएम अस्पाल में ले जाकर भर्ती करवाया ।

मुंबई में मजदूरी करते थे दोनों भाई
दोनों भाई बोरीवली मुंबई में मजदूरी करते थे। ये भी वहां मजदूरी कर रहे जिले के अन्य लोगों के साथ अपने गांव आए थे। यहां आने के बाद उन्होंने कोरोना संक्रमण की आशंका होने पर घर में प्रवेश नहीं किया। उन्होंने घर के पास स्थित झोंपे में ही रहना शुरू किया। प्रशासन को समय पर सूचना दी गई तथा चिकित्सा विभाग की ओर से उनके नमूने भी लिए गए। शुक्रवार को जांच रिपोर्ट आने तक उन्होंने ग्रामीणों व परिवारजनों से संपर्क भी नहीं किया। ऐसे में उनकी कॉन्टेक्ट हिस्ट्री गांव में नहीं मिल रही है।

coronavirus Coronavirus in india
Harshwardhan bhati
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned