script राजस्थान के इस शहर से गया अयोध्या के लिए घी, इसी से होगा रामलला का अभिषेक, पंचामृत स्नान और पहली आरती | Abhishek of Ramlala, Panchamrit and first aarti will be done with desi ghee of Jodhpur | Patrika News

राजस्थान के इस शहर से गया अयोध्या के लिए घी, इसी से होगा रामलला का अभिषेक, पंचामृत स्नान और पहली आरती

locationजोधपुरPublished: Jan 22, 2024 09:52:33 am

Submitted by:

Rakesh Mishra

अयोध्या में प्रभु श्रीराम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा का दिन आ गया है। अयोध्या में राम मंदिर निर्माण से लेकर रामलला की पूजा-अर्चना कार्यक्रम में देशभर के रामभक्तों की भागीदारी है। इसमें जोधपुर की भी महत्वपूर्ण भूमिका है।

desi_ghee_of_jodhpur.jpg
अयोध्या में प्रभु श्रीराम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा का दिन आ गया है। अयोध्या में राम मंदिर निर्माण से लेकर रामलला की पूजा-अर्चना कार्यक्रम में देशभर के रामभक्तों की भागीदारी है। इसमें जोधपुर की भी महत्वपूर्ण भूमिका है। अयोध्या में नवनिर्मित राम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा समारोह में भगवान श्रीराम का घृत अभिषेक, पंचामृत स्नान व पहली आरती जोधपुर की गोशाला की गायों के घी से होगी तथा यज्ञ-हवन में भी इसी घी का उपयोग किया जाएगा।
जोधपुर के बनाड़ स्थित संदीपन राम गोशाला से करीब 600 किलो घी अयोध्या भेजा गया है। राम लला की प्रतिष्ठा समारोह के लिए गोशाला संचालक महर्षि संदीपनी राम महाराज अयोध्या पहुंच गए हैं। अखण्ड ज्योत के लिए हर तीन माह में घी भेजा जाएगा। इसी घी से मंदिर की अखंड ज्योत भी प्रज्ज्वलित की जाएगी। इसलिए हर तीन माह में गोशाला से अयोध्या घी भेजा जाएगा। गोशाला की स्थापना के समय 2014 से ही घी एकत्रित किया जा रहा था, जो अभी तक खराब नहीं हुआ है।
यह भी पढ़ें

22 January 2024 : राजस्थान से अयोध्या तक रोडवेज और विमान सेवा होंगी शुरू, एक क्लिक में देखें प्रदेश से लेकर देश-दुनिया की बड़ी खबरें

इसके लिए गोशाला संचालक महर्षि संदीपनी राम महाराज ने ब्राह्मी व पान की पत्तियां समेत 5 अन्य जड़ी बूटियों का रस तैयार कर घी में मिलाया। बाद में घी को स्टील की टंकी में डालकर एसी में 16 डिग्री तक के तापमान में रखा। कार्तिक मास की पूर्णिमा 27 नवम्बर को लकड़ी के 108 रथ रवाना किए गए थे। करीब 21 दिनों में यह यात्रा 18 दिसंबर को अयोध्या पहुंचे थे।

ट्रेंडिंग वीडियो