कोरोना वायरस को लेकर भ्रामक-भड़काऊ संदेशों पर ATS-SOG की निगरानी

कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के दौरान सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफॉम पर भ्रामक व भड़काऊ संदेशों की संख्या में इजाफा हो गया है। ऐसी गतिविधियों में लिप्त लोगों पर राज्य की एटीएस व एसओजी राउंड द क्लॉक यानि 24 घंटे निगरानी रखे हुए है। इसके लिए एटीएस व एसओजी ने एक-एक विशेष सैल गठित किया।

By: Harshwardhan bhati

Published: 06 Apr 2020, 09:12 AM IST

जोधपुर. कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के दौरान सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफॉम पर भ्रामक व भड़काऊ संदेशों की संख्या में इजाफा हो गया है। ऐसी गतिविधियों में लिप्त लोगों पर राज्य की एटीएस व एसओजी राउंड द क्लॉक यानि 24 घंटे निगरानी रखे हुए है। इसके लिए एटीएस व एसओजी ने एक-एक विशेष सैल गठित किया।

एडीजी (एटीएस-एसओजी) अनिल पालीवाल के अनुसार सामान्यत: एटीएस व एसओजी की ओर से सोशल मीडिया में भड़काऊ व भ्रामक पोस्ट वायरल करने वालों पर नजर रखी जा रही है। कोरोना वायरस संक्रमण से उत्पन्न परिस्थिति में सोशल मीडिया पर साम्प्रदायिक सौहाद्र्र बिगाडऩे, भड़काऊ और इलाज के नाम पर बरगलाने संबंधी कई भ्रामक पोस्ट भी वायरल हो रही हैं। इनकी निगरानी व मॉनिटरिंग करने वाली सैल को और अधिक मजबूत किया गया है। अब दोनों जांच एजेंसियों की विशेष सैल को राउंड द क्लॉक प्रभावी किया गया है। इसके लिए दोनों सैल में अतिरिक्त अधिकारी और कार्मिक तैनात किए गए हैं।

चौबीस मामले पकड़ संबंधित एसपी को भेजे
राज्य में एटीएस व एसओजी की विशेष सैल ने व्हॉट्सऐप, टिक-टॉक, फेसबुक आदि पर भ्रामक और भड़काऊ पोस्ट करने वाले 24 मामले पकड़े हैं। जिन्हें जांच व कार्रवाई के लिए संबंधित एसपी को भेजा गया है। भिवाड़ी जिले के ततारपुर व किशनगढ़वास थाने में एक-एक मामले दर्ज कर एक-एक व्यक्तियों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

coronavirus Coronavirus in india
Show More
Harshwardhan bhati Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned