एक दशक से पैथोलॉजी विभाग के भरोसे चला रहे ब्लड बैंक

 

 

आइएचबीटी विभाग में अभी तक पीजी कोर्स तक नहीं खुला

हाल ए डॉ. एसएन मेडिकल कॉलेज

By: Abhishek Bissa

Published: 11 Oct 2021, 11:16 PM IST

ग्राउंड रिपोर्ट

जोधपुर. डॉ. एसएन मेडिकल कॉलेज में इम्यूनो हेमेटोलॉजी एंड बल्ड ट्रांसफ्यूजन विभाग खुले एक दशक बीत चुका है, लेकिन अभी तक यहां पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स तक शुरू नहीं हुआ है। इस विभाग के खुद के रेजिडेंट तक नहीं है। मौसमी बीमारियों के सीजन में ब्लड बैंकों में मैन पॉवर तक की कमी चल रही है। इतना ही नहीं, यहां पैथोलॉजी विभाग के डॉक्टर्स व उनके रेजिडेंट्स सेवाएं दे रहे हैं। डॉ. एसएन मेडिकल में आइएचबीटी विभाग साल 2012 में बनाया गया था। ठीक दो साल बाद 2014 में पीजी कोर्स शुरू करने की एनओसी आरयूएचएस से मिली। 2015 में आरयूएचएस से ही तीन सीट की परमिशन जारी हुई। 2016 में एमसीआइ ने निरीक्षण किया। उस समय निरीक्षण में कार्यरत फैकल्टी को योग्य फैकल्टी नहीं माना गया। मेडिकल कॉलेज प्रशासन ने दिल्ली में पक्ष भी रखा गया, लेकिन पीजी कोर्स अभी तक शुरू न हो सका।

अब राज्य सरकार के पाले में गेंद

वर्तमान में चाहे तो राज्य सरकार यहां पीजी कोर्स शुरू करवा सकती है। क्योंकि जयपुर व कोटा में एमसीआइ ने यहां आइएचबीटी को फैकल्टी माना हुआ है, वहां के स्टाफ को जोधपुर मेडिकल कॉलेज में ट्रांसफर कर पीजी कोर्स शुरू किया जा सकता है। जबकि एमडीएम, उम्मेद व एमजीएच में एक-एक ब्लड बैंक संचालित है। जो पूर्व में पैथोलॉजी विभाग के अंतर्गत आते थे, मौजूदा फैकल्टी न तो पैथोलॉजी विभाग में आती हैं और ना हीं आइएचबीटी विभाग में।

राज्य सरकार को लिखा हुआ है...

इस विषय में राज्य सरकार को लिखा हुआ है, हम खुद प्रयासरत है। एमसीआई से अधिकृत होगा, उसके बाद विभाग खुलेगा।
- डॉ. एसएस राठौड़, प्रिंसिपल, डॉ. एसएन मेडिकल कॉलेज

Abhishek Bissa Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned