ओल्ड कैंपस में कोरोना पॉजिटिव छात्रा पहुंची परीक्षा देने, 40हजार परीक्षार्थियों में खौफ

- छात्रों ने घर से फोन करके बताया कि वह पॉजिटिव है, बावजूद इसके शिक्षकों ने बुला लिया
- जेएनवीयू में सबसे पहले एमबीएम की ही परीक्षा

By: Jay Kumar

Published: 18 Sep 2020, 04:27 PM IST

जोधपुर. जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय में स्नातक और स्नातकोत्तर अंतिम वर्ष की परीक्षाएं शुक्रवार से शुरू हो रही है। सबसे पहले मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (एमबीए) की परीक्षा है। बुधवार को एमबीए की सेमिनार परीक्षा में एक कोरोना पॉजिटिव छात्रा उपस्थित थी। कोरोना रोगी के साथ बैठकर सेमिनार व वायवा देने वाले विद्यार्थियों में खौफ बैठ गया है।

सूत्रों के मुताबिक छात्रा ने अपने घर से ही फोन करके बता दिया था कि वह पॉजिटिव पाई गई है लेकिन मैनेजमेंट विभाग की ओर से छात्रा को कोई संतोषजक जवाब नहीं दिया गया। किसी ने यह नहीं कहा कि उसे परीक्षा देने नहीं आना है। आरोप है कि एक शिक्षक ने तो उसे आकर पांच मिनट में परीक्षा देकर निकल जाने के लिए कहा। १०० अंक का वायवा देखकर छात्रा पहुंची तो सबके पैरों तले जमीन सरक गई। विभाग के वरिष्ठ शिक्षकों तक बात पहुंचने के बाद छात्रा को अब शुक्रवार से शुरू होने वाली एमबीए परीक्षा में नहीं बैठने के निर्देश दिए हैं। विवि ने अपने लापरवाह कार्मिकों पर अब तक कोई कार्यवाही नहीं की है।

3 दिन पहले पॉजिटिव आई थी, सबको पता था
एमबीए की छात्रा ३-४ दिन पहले कोरोना पॉजिटिव आ गई थी। उसने अपने साथी विद्यार्थियों को इसकी सूचना भी दे दी थी, लेकिन बावजूद इसके उसे परीक्षा देने के लिए मना नहीं किया गया।

परीक्षा देने के बाद छात्रा ने बताया कि वह पॉजिटिव है
हमने छात्रों को परीक्षा देने नहीं बुलाया है। परीक्षा देने के बाद छात्रा ने बताया कि वह कोरोना पॉजिटिव है। अब हमने उस छात्रा को एमबीए की लिखित परीक्षाएं नहीं देने के निर्देश दिए हैं।
प्रो एसपीएस भादू, एचओडी, मैनजमेंट विभाग जेएनवीयू जोधपुर

Jay Kumar
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned