कोरोना ने हर इम्तिहान टाला, कंपनी सचिव संस्थान अडिग, परीक्षा होगी

india covid-19

- रिमोट प्रॉक्टर मोड पर शनिवार को सीसैट परीक्षा
- ट्रायल भी रहा सफल, देश भर से 20 हजार बच्चे घरों से देंगे परीक्षा देंगे

By: Gajendrasingh Dahiya

Published: 06 May 2021, 08:47 PM IST

जोधपुर. स्कूल और विश्वविद्यालयों के साथ जेईई, नीट, क्लेट, नेट सहित देश भर की लगभग सभी परीक्षााएं कोरोना की वजह से टाल दी गई है लेकिन भारतीय कम्पनी सचिव संस्थान (आईसीएसआई) महामारी के इस भयंकर माहौल में भी परीक्षा लेने के लिए कटिबद्ध है। कम्पनी सचिव पाठ्यक्रम की प्रवेश परीक्षा कम्पनी सचिव एग्जीक्यूटिव एंट्रेंस टेस्ट (सीसैट) रिमोर्ट प्रोक्टर्ड मोड पर 8 मई को देश भर मेंआयोजित किया जाएगा। इसमें करीब 20 हजार विद्यार्थी अपने घरों से परीक्षाएं देंगे। परीक्षा का ट्रायल 4 मई को लिया गया था जो सफल रहा। नकल की रोकथाम के लिए आईसीएसआई ने विशेष प्रबंध किए हैं।

सेफ एग्जाम ब्राउजर डाउनलोड करना होगा, सामने होंगे प्रोक्टर
परीक्षा के लिए आईसीएसआई ने विशेष सॉफ्टवेयर बनाया है। विद्यार्थियों को अपने डेस्कटॉप/लेपऑप पर परीक्षा से पहले सेफ एग्जाम ब्राउजर डाउनलोड करना होगा, जिससे वह परीक्षा के दौरान अपने सिस्टम में अन्य कोई विंडो नहीं खोल पाएगा। परीक्षा रिमोट प्रोक्टर्ड मोड पर है। ऐसे में बच्चों की निगरानी के लिए परीक्षा नियंत्रण रूम में प्रोक्टर बैठे होंगे। परीक्षा सुबह 9 से 11 बजे तक है। प्रोक्टर के निर्देश पर परीक्षार्थियों को सबसे पहले आधार कार्ड, उसके बाद प्रवेश पत्र दिखाना होगा। फिर कम्प्यूटर पर लगे कैमरे को 360 डिग्री घूमाकर दिखाना होगा, जिससे पता चल सके की परीक्षा देने वाले कक्ष में कोई अन्य व्यक्ति तो नहीं है। परीक्षा के दौरान माइक और कैमरा ऑन रहेगा। नजरें स्क्रीन पर रहेगी। नजर चूकते ही वार्निंग आ जाएगी। दो घण्टे में 200 अंक के 140 सवाल करने हैं।

जोधपुर में 2 छात्र परीक्षा से बाहर
सीसेट परीक्षा साल में चार बार होती है। पिछली परीक्षा जनवरी में हुई थी। इसमें जोधपुर के दो छात्रों को परीक्षा के दौरान अवांछनीय गतिविधियों में लिप्ट मिलने पर बाहर कर दिया गया। कम्प्यूटर पर लगे कैमरे में देखा गया कि एक छात्र के पीछे से कोई गुजरा था। गलत जगह बैठने पर परीक्षार्थी को बाहर कर दिया गया।
........................

‘परीक्षार्थी परीक्षा के दौरान विशेष ध्यान रखें। थोड़ी बहुत चूक होने, नजरें इधर-उधर होने, कमरे में घर के किसी सदस्य के गुजरने मात्र से भी परीक्षा से बाहर कर दिए जाएंगे।’
दीपक केवलिया, सचिव, भारतीय कम्पनी सचिव संस्थान जोधपुर चेप्टर

Gajendrasingh Dahiya Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned