ऱावण चबूतरा मैदान में नहीं जलेगा बुराई का प्रतीक दशानन

 

दूसरे साल भी नहीं गूंजेगी रावण की अट्टहास

By: Nandkishor Sharma

Published: 13 Oct 2021, 01:27 PM IST

जोधपुर. असत्य पर सत्य की विजय के प्रतीक पर्व विजयदशमी पर इस बार भी जोधपुरवासियों को दशानन रावण का अट्टहास शहरवासियों को नहीं सुनाई देगा। पिछले साल की तरह इस बार भी कोविड गाइड लाइन के कारण दशानन दहन के मुख्य समारोह स्थल रावण का चबूतरा मैदान पर कोई कार्यक्रम नहीं होगा। मेहरानगढ़ में दशहरा दरबार नहीं सजेगा। मुरली मनोहरजी मन्दिर में अश्व, शस्त्र एवं शमी (खेजड़ी) पूजन की परम्परा का निर्वहन भी स्थगित किया है। बुराई पर अच्छाई की जीत के प्रतीक पर्व दशहरे को मेहरानगढ़ से भगवान राम का जुलूस और विभिन्न अखाड़ों के प्रदर्शन भी नहीं होंगे। तिथियों की घट बढ़ के कारण इस बार नवरात्र की नवमी पर ही प्रतिकात्मक दशानन पुतलों का दहन किया जाएगा । नवरात्र के धार्मिक अनुष्ठान की पूर्णाहुति 15 अक्टूबर को होगी। पंडितों व ज्योतिषों के अनुसार इस बार तिथि के घट बढ़ के कारण 15 अक्टूबर नवमी को ही दशहरा पर्व मनाया जाएगा ।

बाजार में रेडिमेड रावण
दशहरा मनाने का सिलसिला कॉलोनियों और मोहल्लों में भी शुरू हो गया है । उपनगरीय क्षेत्रों की विभिन्न कॉलोनियों में रावण के पुतले का दहन करते हैं । बच्चों की ओर से भी कॉलोनी और मोहल्लों में रावण दहन का उत्सव मनाने को लेकर उत्साह है । इस कारण बाजार में रेडिमेड दशानन के पुतले भी बिक रहे हैं ।

होमाष्टमी आज
आद्यशक्ति के उपासना-आराधना के पर्व नवरात्र में बुधवार को होमाष्टमी मनाई जाएगी। घट स्थापित मंदिरों व घरों में हवन किए जाएंगे। इस बार नवरात्र में चतुर्थी तिथि का क्षय होने से नवरात्र 9 की बजाय 8 दिन के होने के कारण महाष्टमी 13 अक्टूबर को और महानवमी 14 अक्टूबर को मनाई जाएगी। दशहरा 15 अक्टूबर का रहेगा।

श्रद्धा से मनाया मां करणी अवतरण दिवस

मां करणी का 634 वां अवतरण दिवस मंगलवार को मां भटियाणी पुत्र संगठन की ओर से भदवासिया रोड़ स्थित करणी कोट में हर्षोल्लास से मनाया गया । संगठन कार्यकर्ताओं ने ज्योत प्रज्जवलित कर कोरोना के समूल नाश की कामना की।

Nandkishor Sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned