विकास का दूसरा नाम है भाजपा : पीपी चौधरी

विकास का दूसरा नाम है भाजपा : पीपी चौधरी

Manish Panwar | Publish: Sep, 08 2018 10:32:14 PM (IST) Jodhpur, Rajasthan, India

भोपालगढ़. केंद्रीय विधि-न्याय एवं कॉरपोरेट कार्य राज्यमंत्री पीपी चौधरी ने कहा कि चार साल में जितना विकास किया है, उतना पिछले किसी सरकार ने नहीं किया है।

भोपालगढ़. केंद्रीय विधि-न्याय एवं कॉरपोरेट कार्य राज्यमंत्री पीपी चौधरी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार और मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के नेतृत्व में राज्य सरकार ने पिछले चार साल में जितना विकास किया है, उतना पिछले 70 साल में भी किसी सरकार ने नहीं किया है। इसलिए आज आमजन की जुबान पर विकास का दूसरा नाम भाजपा सरकार ही है। यह बात उन्होंने सांसद आपके द्वार अभियान के तहत शनिवार को भोपालगढ़ विधानसभा क्षेत्र की कई ग्राम पंचायतों में ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कही। साथ ही क्षेत्र की गंगाणी, लवेरा, कजनाऊ कलां एवं सोयला ग्राम पंचायतों में सांसद निधि से करवाए गए विभिन्न विकास कार्यो और सोलर स्ट्रीट लाइटों का लोकार्पण भी किया।

चौधरी ने इन गांवों में आयोजित लोकार्पण कार्यक्रमों को संबोधित करते हुए कहा कि भोपालगढ़, बिलाड़ा औऱ ओसिया क्षेत्र में भी आने वाले समय में पूरा क्षेत्र विकसित क्षेत्र कहलाएगा। चौधरी ने ग्राम पंचायत गंगाणी में ग्रामीणों द्वारा पेयजल की समस्या बताए जाने पर अधिकारियों को सख्त निर्देश देते हुए अवैध कनेक्शन काटने और समस्या का तुरन्त समाधान करने के साथ ही जीएलआर से पेयजल आपूर्ति करने का भी निर्देश दिए।

वाचनालय व सोलर लाइट का लोकार्पण-

केंद्रीय राज्य मंत्री पीपी चौधरी ने भोपालगढ़ विधानसभा की बावड़ी पंचायत समिति की ग्राम पंचायत गंगाणी में 6.10 लाख की सांसद निधि से निर्मित सार्वजनिक वाचनालय व 30 लाख की निधि से लगाई जा रही सोलर स्ट्रीट लाइट का लोकार्पण किया। लवेरा खुर्द ग्राम पंचायत में 6.10 लाख की सांसद निधि से निर्मित सार्वजनिक वाचनालय व 15 लाख की निधि से लगाई जा रही सोलर स्ट्रीट लाइट के साथ ही ग्राम पंचायत कजनाऊ कलां में 6.10 लाख की सांसद निधि से निर्मित सीसी ब्लॉक व 20 लाख की निधि से लगाई जा रही सोलर स्ट्रीट लाइट तथा ग्राम पंचायत सोयला में 6.10 लाख की सांसद निधि से निर्मित सार्वजिनक वाचनालय और 15 लाख की निधि से लगाई जा रही सोलर स्ट्रीट लाइटों का लोकार्पण किया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned